मोदी विरोध यूकेडी नेताओं को पड़ा भारी, हुई गिरफ्तारी

मोदी विरोध यूकेडी नेताओं का पड़ा भारी, हुई गिरफ्तारी
play icon Listen to this article

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की देहरादून रैली में विरोध को जाने वाले उत्तराखण्ड क्रांति दल के नेताओं को पुलिस ने उनके घरों से ही गिरफ्तार किया और कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद ही उन्हें रिहा किया गया।

[su_highlight background=”#091688″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, देहरादून[/su_highlight]

यूकेडी महिला नेत्री उर्मिला महर सिलकोटी के अनुसार उन्हें पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत उत्तराखंड राज्य के जनहित के मुद्दों पर प्रधानमंत्री जी का सांकेतिक विरोध किया जाना था, लेकिन उन्हें सुबह 7ः00 बजे ही उनके घर को पुलिस ने घेर दिया और उनके साथ शकुंतला रावत और सोमेश बुड़ाकोटी को गिरफ्तार कर लगभग 2 घंटे पूरा देहरादून में घुमाया गया। उसके बाद एक होटल के कमरे में हमें बंद कर दिया गया।

[irp]उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक प्रणाली में जनता को अपने हक के लिए आंदोलन और सत्ता में बैठी सरकारों का विरोध करने का पूर्ण अधिकार है, लेकिन पूर्ण बहुमत की सरकार होने के बावजूद भी क्षेत्रीय दल से भयभीत है। कहा कि सुबह 7ः00 बजे ही मुझे और मेरे साथियों को घर से गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने आहत भरे मन से कहा कि पिछले 20 वर्षों के संघर्ष के बाद और आज भी जनहित के मुद्दों पर प्रदर्शन के कार्यक्रम पर हमें घर में ही घुसकर पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाता है।

[irp]उन्होंने आह्वान किया कि एक बार क्षेत्रीय दल उत्तराखंड क्रांति दल की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाकर हमारे राज्य में जो शिक्षा स्वास्थ्य रोजगार में अस्थिरता जैसा माहौल ह,ै युवा परेशान महिलाएं परेशान बुजुर्ग परेशान है, इन सभी समस्याओं का हल क्षेत्रीय दल के आने पर ही हो पाएगा।