पार्टी में अनुशासनहीनता और भीतरघात बर्दाश्त नहीं होगा: राकेश राणा, 14 कार्यकर्ता  कांग्रेस पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित

39
यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह का बयान मातृशक्ति का अपमान है: राकेश राणा

चंबा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद डोभाल सहित 14 कार्यकर्ताओं को किया कांग्रेस पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त पाए जाने पर चंबा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद डोभाल ,शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेश्वर प्रसाद बडोनी, विक्रम सिंह तोपाल, दरमियान सिंह सजवान ,सोहनवीर सिंह सजवान, राजेंद्र सिंह महर, अनिल बडोनी, बालेंद्र उनियाल ,विक्रम धनोला, विकास बहुगुणा, बिजल दास,गिरिजा दास,को कांग्रेस पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है।

[su_highlight background=”#880e09″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, नई टिहरी [/su_highlight]

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि पार्टी संगठन एवं विधानसभा चुनाव 2022 में कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी धन सिंह नेगी के खिलाफ प्रचार प्रसार करने और अनर्गल बयानबाजी, तथा पार्टी की रीति और नीति के खिलाफ कार्य करने पर उपरोक्त लोगों को 6 साल के लिए बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

इसके साथ घनसाली विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी के धनीलाल शाह के खिलाफ कार्य करने पर भजन सिंह भंडारी और यशवंत सिंह गुसाईं को भी 6 साल के लिए कांग्रेस पार्टी से बाहर किया साथ ही कहा कोई भी व्यक्ति तब चाहे वह सामान्य कार्यकर्ता हो या ब्लॉक जनपद और प्रदेश कार्यकारिणी के किसी पद पर हो अगर वे पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ भीतरघात करते हुए पकड़े गए या अनर्गल बयानबाजी करते हुए पकड़े गए तो उन्हें किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उन्हें पद मुक्त कर 6 साल के लिए बाहर का रास्ता दिखाई जाएगा।

उन्होंने पार्टी के ब्लॉक अध्यक्षों आईटी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष, विधानसभा अध्यक्ष ,ब्लॉक अध्यक्ष, सहित कार्यकारिणी को निर्देश किया कि वह सोशल मीडिया पर बराबर पैनी नजर रखें और अगर कोई भी कांग्रेसी पार्टी के खिलाफ पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ किसी भी तरह की अनर्गल बयानबाजी या अन्य किसी तरह का कार्य करते हुए पकड़ा गया तो उसकी जानकारी तत्काल जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय में चुनाव कंट्रोल रूम को दी जाए। जिससे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सके।