मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने चमोली पहुंचकर हादसे में हताहत लोगों के परिजनों से मुलाकात

54
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने चमोली पहुंचकर हादसे में हताहत लोगों के परिजनों से मुलाकात

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने चमोली पहुंचकर हादसे में हताहत लोगों के परिजनों से मुलाकात

हताहत होमगार्ड जवानों के पार्थिव शरीर पर किये पुष्पचक्र अर्पित

एम्स ऋषिकेश पहुँचकर घायल हुए छह लोगों का हाल-चाल जाना

देहरादून/चमोली: मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने आज चमोली पहुंचकर हादसे में हताहत लोगों के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री काफी भावुक नजर आए। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना देते हुए हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

उन्होंने पुलिस मैदान गोपेश्वर में हादसे में हताहत होमगार्ड के तीनों जवानों के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि भी दी। इस दौरान पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र भट्ट, विधायकगण एवं अधिकारीगण मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने एम्स ऋषिकेश पहुँचकर जनपद चमोली की घटना में घायल हुए छह लोगों का हाल-चाल जाना

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने एम्स ऋषिकेश पहुँचकर जनपद चमोली की घटना में घायल हुए छह लोगों का हाल-चाल जाना। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। मुख्यमंत्री ने घायलों के समुचित इलाज के संबंध में एम्स के चिकित्सकों से भी जानकारी प्राप्त की।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने एम्स ऋषिकेश पहुँचकर जनपद चमोली की घटना में घायल हुए छह लोगों का हाल-चाल जानामुख्यमंत्री ने घायलों के इलाज में कोई कमी न रहे, इसकी भी चिकित्सकों से अपेक्षा की। मुख्यमंत्री घटना की जानकारी प्राप्त होते ही चमोली के लिए रवाना हो गये थे, किन्तु मौसम की खराबी के कारण उन्हें वापस आना पड़ा। उसके बाद मुख्यमंत्री ने एम्स, ऋषिकेश जाकर घायलों का हालचाल जाना। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि इस घटना की विस्तृत जांच के साथ ही इसमें पाई जाने वाली लापरवाही के जिम्मेदार लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।
मुख्यमंत्री जिला प्रशासन से हर अपडेट की जानकारी ले रहे हैं। एम्स, ऋषिकेश में भर्ती घायलों में महेश कुमार पुत्र रूपदास, नरेन्द्र लाल पुत्र असीम दास, आनन्द पुत्र गम्मालाल, सुशील कुमार पुत्र सुदामा लाल, सन्दीप मेहरा पुत्र सुलोचन, पी.आर.डी. रामचन्द्र पुत्र पुष्कर लाल शामिल हैं।

Comment