सोमवार , जुलाई 4 2022
Breaking News
Information Deptt. Union 27 Sept. 2021 Press Note

उत्तराखण्ड सूचना कर्मचारी संघ के प्रतिनिधिमण्डल ने की वेतन विसंगति समिति के अध्यक्ष से भेंट, सूचना कर्मियों के वेतन विसंगति प्रकरणों पर रखा अपना पक्ष

play icon Listen to this article

कार्मिक हित में कर्मचारी संगठनों से वार्ता कर वेतन विसंगति के प्रकरणों के समाधान के लिए वेतन विसंगति समिति की सकारात्मक पहल

[su_highlight background=”#880930″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, देहरादून:[/su_highlight]उत्तराखण्ड सूचना कर्मचारी संघ ने वेतन विसंगति समिति के समक्ष सूचना कर्मियों कीवेतन विसंगति के प्रकरणों को प्रभावी तरीके से उठाते हुए समिति से इनविसंगतियों का ठोस समाधान करने का आग्रह किया है।

संगठन के प्रतिनिधिमंडल नेसोमवार को पूर्व मुख्य सचिव श्री शत्रुघ्न सिंह की अध्यक्षता में गठित वेतन विसंगति समिति के सम्मुख सूचनाकर्मियों की वेतन विसंगतियों के मामलों में अपना पक्ष प्रस्तुत किया। संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने सूचना विभाग के जिला सूचना अधिकारियों,अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी, सहायक लेखाकार, अनुवादक, लेखा संवर्ग एवं सरंक्षक कमडाटा एंट्री आपरेटर आदि संवर्गों की वेतन विसंगति के प्रकरणों से संबंधिततथ्यों से समिति को अवगत कराते हुए कहा कि अन्य विभागों के समान स्तर एवं शौक्षिक योग्यता और कार्य प्रवित्त वाले पदों एवं संवर्गों की तुलना में सूचना कर्मियों के विभिन्न संवर्गों के वेतनमान के उच्चीकरण, पदोन्नतियों की विसंगतियों एवं ए.सी.पी. का लाभ स्वीकृत किए जाने के मामले में भेदभाव किया जाता रहा है, जबकि ऐसे लाभ अन्य विभागों में स्वीकृत किए जाने के अनेक दृष्टांत मौजूद हैं। संगठन ने वेतन विसंगति समिति के समक्ष अन्य विभागों एवं संवर्गों के उदाहरण प्रस्तुत करते हुए समिति से इन विसंगतियों का प्रभावी समाधान किए जाने की पुरजोर मॉंग की।

🚀 यह भी पढ़ें :  जाखणीधार ब्लॉक में जल्द मिलेगा घर-घर जल: डॉo धन सिंह नेगी

इस मौके पर उत्तराखण्ड सूचना कर्मचारी संघ के महामंत्री सुरेश चन्द्र भट्ट द्वारा विभागीय पदधारक/संवर्ग से संबंधित मामलों को रखते हुए बताया कि वर्तमान में जिला सूचना अधिकारी/सूचनाअधिकारी, अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी, अनुवादक एवं सरंक्षक कम डाटा एंट्री आपरेटरके पदधारकों में अन्य विभागों की अपेक्षा वेतन विसंगति है, इन पदधारकां के वेतनमान का न्यायहित में उच्चीकरण किया जाना आवश्यक है।

संघ के सलाहकार एवं पूर्वमहामंत्री के.एस.पंवार ने सूचना विभाग के लेखा संवर्ग के कार्मिकों को अन्यविभागों की भांति ए.सी.पी. का लाभ स्वीकृत न किए जाने के साथ ही सहायकलेखाकारों को 30 साल से अधिक की सेवा के बावजूद पदोन्नत न किए जाने का मामला उठाया।

🚀 यह भी पढ़ें :  उत्तराखंड Kovid-19 Update: आज 06 संक्रमितों की मौत, 398 लोग हुए स्वस्थ, संक्रमण के 353 नए मामले

श्री पंवार ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लेखा संवर्ग के कार्मिकों को वर्ष 2008 से पदोन्नति का लाभ दिया जा चुका है, लेकिन उत्तराखंड राज्य में आवंटित सहायकलेखाकारों को पदोन्नति से वंचित रखा गया है।

उन्होंने विभाग के विभिन्न संवर्गों के वेतनमानों को उच्चीकरण किए जाने के औचित्य के संबंध में भीसमिति को अवगत कराया। समिति से वार्ता में संयुक्तमंत्री प्रशांत रावत ने संरक्षक कम डाटा एंट्री आपरेटरों के पदधारकों को वेतनलेवल में उच्चीकरण करने का मामला रखा। उन्होंने बताया कि संरक्षक कम डाटा एंट्रीआपरेटर को वर्तमान में लेवल-2 का वेतनमान दिया जा रहा है, जबकि इस पदधारक की शैक्षिक योग्यता स्नातक निर्धारित है। लिहाजा समान प्रवृत्ति के अन्य पदों/संवर्गों की भांति संरक्षकों को उच्च वेतनमान दिया जाना जरूरी है।

इस अवसर पर उत्तराखण्ड सूचना कर्मचारी संघ के अध्यक्ष श्री भुवन चन्द्र जोशी ने वेतन विसंगति समिति के अध्यक्ष एवं सदस्यगणों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समिति के द्वारा कर्मचारी संगठनों से वार्ता करते हुए वेतन विसंगति के प्रकरणों के समाधान के लिए सकारात्मक पहल की गई है। वेतन विसंगति समिति केअध्यक्ष श्री शत्रुघ्न सिंह, सदस्य सचिव श्री गंगा प्रसाद एवं समिति के सदस्यों द्वारा संघ की मांगों पर कार्यवाही हेतु सकारात्मक आश्वासन दिया गया।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

केवड़िया गुजरात में खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित "खेल एवं युवा मामलों के मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन" में प्रदेश की खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने किया प्रतिभाग

केवड़िया गुजरात में खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित “खेल एवं युवा मामलों के मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन” में प्रदेश की खेल मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने किया प्रतिभाग

Listen to this article गुजरात के केवड़िया में खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित “खेल एवं युवा …

error: Content is protected !!