तीन दिवसीय VC गबर सिंह मेला संपन्न, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं सांसद टिहरी माला राज्य लक्ष्मी शाह

तीन दिवसीय VC गबर सिंह मेला संपन्न, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं सांसद टिहरी माला राज्य लक्ष्मी शाह
play icon Listen to this article

विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ पीपी ध्यानी, मेला समिति के अध्यक्ष इंद्र सिंह नेगी ने जताया आभार

श्री देव सुमन अटल आदर्श राजकीय इंटर कॉलेज प्रांगण चंबा में तीन दिवसीय वी सी गबर सिंह नेगी मेला 2022 संपन्न हो गया। समान समापन अवसर पर टिहरी संसदीय क्षेत्र की सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉक्टर पीतांबर प्रसाद ध्यानी कुलपति श्रीदेव सुमन राज्य विश्वविद्यालय उत्तराखंड उपस्थित रहे।

सरहद का साक्षी, सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’ @चम्बा

स्थानीय लोक कलाकारों ने उपस्थित जन सैलाब का भरपूर मनोरंजन किया और देर रात तक सांस्कृतिक कार्यक्रम गतिमान रहा। लोक कलाकार रवि गुसाईं,सुमित गुसाईं, दीपक कुमार, अंजली रमोला, राजेंद्र जोशी के अलावा एनटीआइएस  बौराड़ी, नई टिहरी के स्कूली बच्चों की प्रस्तुतियों ने मन मोह लिया।

बतौर मुख्य अतिथि माननीय सांसद टिहरी ने कहा कि वह किसी भी कार्य में टिप्पणी करने से दूर रहती है और किसी भी अच्छे कार्य की आलोचना नहीं की जा सकती है।  उन्होंने मेले को गतिमान रखने के लिए अपने स्तर से यथासंभव प्रयास करने की जानकारी प्रदान की तथा मेला समिति का धन्यवाद किया कि उन्होंने इस पवित्र अवसर पर उन्हें आमंत्रित किया।

विशिष्ट अतिथि के तौर पर डॉ पीपी ध्यानी ने अपने तीन सुझाव रखें। कहा कि वी सी गबर सिंह के गांव मंजूड़ तक अच्छी सड़क निर्माण हो, वी सी गबर सिंह का पैतृक घर संग्रहालय के रूप में अधिकृत किया जाए। तथा उन्होंने वीसी गबर सिंह नेगी को विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम में भी सम्मिलित करवाया है। इसके साथ ही विश्वविद्यालय के सभागार गबर सिंह नेगी के नाम समर्पित है। वीसी गबर सिंह नेगी और श्री देव सुमन व्याख्यानमाला का शुभारंभ हो चुका है। भव्य कार्यक्रम में यह व्याख्यानमाला हर वर्ष आयोजित की जाएंगी। पूर्व राज्य मंत्री श्री अतर सिंह तोमर ने चंबा क्षेत्र में सैनिक स्कूल की स्थापना करने की मांग रखी। कृषि मंडी समिति के अध्यक्ष श्री वीर सिंह रावत ने मेला समिति के द्वारा किए जा रहे हैं कार्यों की सराहना की।

इस से पूर्व मेला समिति के अध्यक्ष इंद्र सिंह नेगी ने विस्तृत रूप से संपूर्ण तथ्यों को सम्मुख रखा और बताया कि किस प्रकार मेला समिति इस मेले को वर्षों से आयोजित कर रही है। कहा कि मेले को  राजकीय मेला घोषित किया जाए। पूर्व सैनिक मिलन केंद्र के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाए ताकि उसका विस्तारीकरण हो सके। उन्होंने द हंस फाउंडेशन की मंगला माता जी और भोले जी महाराज का आभार व्यक्त किया जिनके आर्थिक सहयोग से यह मेला संपन्न हो पाया। कहा कि इससे पूर्व भी स्वर्गीय रतन सिंह गुनसोला जी ने इस मेले में आर्थिक सहायता प्रदान की थी जिससे कि यह मेला गतिमान है। उन्होंने अपनी टीम का भी आभार व्यक्त किया जिनके सहयोग से यह मेला संपन्न हो पाया तथा उपस्थित जन सैलाब का धन्यवाद दिया किया जिन्होंने अपनी उपस्थिति के द्वारा इस मेले की गरिमा बढ़ाई।

विशिष्ट अतिथि के हाथों लोक कलाकारों, प्रतिभाग करने वाले सांस्कृतिक टीमों, स्कूली बच्चों को प्रमाण पत्र, मोमेंटो आदि देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने जड़धार गांव की एक प्रतिभा सुरजीत को उनके कौशल के लिए सलाम किया और आश्वासन दिया कि विश्वविद्यालय उन्हें भविष्य में सहयोग प्रदान करेगा। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार श्री रघुभाई जड़धारी ने किया।

इस अवसर पर कैप्टन आनंद सिंह नेगी, सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’, शक्ति प्रसाद जोशी, सुशील बहुगुणा, साब सिंह सजवाण, नरेंद्र रमोला, यल्मा सज्वाण एस.सेमल्टी, प्रेम दत्त थपलियाल, पंकज गैरोला आदि उपस्थित रहे।