राजकीय व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में उद्यमिता विकास कार्यक्रम (EDP)

21
राजकीय व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में उद्यमिता विकास कार्यक्रम (EDP)
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

राजकीय व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में उद्यमिता विकास कार्यक्रम (EDP)

पैठाणी। उच्च शिक्षा विभाग उत्तराखंड एवं भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान अहमदाबाद के सहयोग से 2 मार्च 2024 को राजकीय व्यावसायिक महाविद्यालय बनास, पैठाणी पौड़ी गढ़वाल के परिसर में स्थापित देवभूमि उद्यमिता विकास केंद्र में 12 -दिवसीय उद्यमिता विकास कार्यक्रम के द्वितीय दिवस पर महाविद्यालय के प्राचार्य एवं संरक्षक प्रोफेसर डी०एस०नेगी एवं मुख्य अतिथि सेवानिवृत BDO श्री आशा राम पंत ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया।

महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोफेसर डी. एस. नेगी ने बताया कि हमे ईमानदारी से और अपनी क्षमतानुसार उद्यमिता को अपनाना चाहिए जिससे हम दूसरो को भी रोजगार दे सके। मुख्य अतिथि श्री आशा राम पंत पूर्व खंड विकास अधिकारी एवं श्री केशवानंद नौटियाल ने अपने- अपने स्टार्टअप बागवानी एवं मत्स्य पालन के बारे में एवं अपने जीवन की शुरुआत से लेकर वर्तमान तक की उद्यमिता यात्रा एवं अनुभव को विस्तार से छात्र-छात्राओं के समक्ष साझा किया।

महाविद्यालय में देवभूमि उद्यमिता योजना के नोडल अधिकारी एवं मेंटर श्री गौरव जोशी ने छात्र-छात्राओं से वर्तमान समय की मांग क्या है और हम किस-किस क्षेत्र में स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं, इस विषय पर अपने विचार साझा किये। उन्होंने छात्र-छात्राओं को उद्यमिता योजना के क्षेत्र में योगदान देने वाली विभिन्न एजेंसियों की भूमिका एवं उनकी योजनाओं पर भी प्रकाश डाला।

ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय में प्रबंधन विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. मनदीप असवाल ने उद्यमिता के लिए आयडिया, समस्या का समाधान, बिजनेस वैल्यू, ब्रांडिंग, फंडिंग, शिक्षा, प्रोडक्ट, आईटी आदि महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में विस्तार से बताया।

महाविद्यालय में बनस्पति विज्ञान के प्राध्यापक डॉ० प्रकाश फोंदणी ने उद्यमिता की स्थापना के लिए मूलभूत आवश्यकताओं के बारे में छात्र-छात्राओं को महत्वपूर्ण जानकारी दी तथा कहा कि व्यवसायी की सकारात्मक सोच, कठिन परिश्रम, ईमानदारी, धैर्य, कल्पना करने की क्षमता आदि होनी चाहिए जबकि व्यवसाय के लिए उचित चयन, क्षमता, रचनात्मकता, समस्या का समाधान, कुशल नेतृत्व, संचार क्षमता, तथा लीगल लाइसेंस आदि होना चाहिए तथा साथ ही साथ कार्यक्रम का सफल संचालन भी किया।

इस उद्यमिता विकास कार्यक्रम में राजकीय व्यवसायिक महाविद्यालय पैठाणी के छात्र-छात्राओं के साथ-साथ स्थानीय उद्यमियों, गणमान्य व्यक्तियों, समाज सेवको, जनप्रतिनिधियों, प्राध्यापको, ऑफिस स्टाप आदि ने बढ़-चढ़कर कर प्रतिभाग किया और उद्यमिता से संबंधित अपने आइडिया भी शेयर किये।

Comment