नकल विहीन, निष्पक्ष, त्रुटि रहित उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

नकल विहीन, निष्पक्ष, त्रुटि रहित उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित
play icon Listen to this article

उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा हेतु टिहरी में 151 परीक्षा केंद्रों पर 19 हजार 619 परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

आगामी 28 मार्च 2022 से 19 अप्रैल 2022 तक आयोजित होने वाली उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा को लेकर आज जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई।

[su_highlight background=”#870e23″ color=”#f6f6f5″]सरहद का साक्षी, नई टिहरी[/su_highlight]

कार्यशाला में केंद्र व्यवस्थापक एवं कस्टोडियन को परीक्षा प्रकिया के दौरान उनके द्वारा संपादित किए जाने वाले कार्यों/दायित्वों से अवगत कराया गया।

नकल विहीन, निष्पक्ष, त्रुटि रहित उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल इवा आशीष श्रीवास्तव ने केंद्र व्यवस्थापक एवं कस्टोडियन को संबोधित करते हुए कहा कि परीक्षा प्रक्रिया के दौरान बुद्धिमता, लगन और जागरूक होकर अपने दायित्वों का निर्वहन करें। कहा कि किसी भी तरह की समस्या आती है तो संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से अवगत कराएं। उन्होंने गत निर्वाचन की भांति परिषदीय परीक्षाओं को नकलविहीन, निष्पक्ष, त्रुटिरहित एवं सफलतापूर्वक संपन्न कराने हेतु शुभकामनाएं दी।

मुख्य शिक्षा अधिकारी ललित मोहन चमोला ने बताया कि जनपद में दिनांक 28 मार्च 2022 से 19 अप्रैल 2022 तक आयोजित होने वाली उत्तराखंड परिषदीय परीक्षा हेतु 151 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 19 हजार 619 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इनमें 9 हजार 835 बालक तथा 9 हजार 784 बालिका हैं। हाई स्कूल परीक्षार्थियों की संख्या 10 हजार 46 है, जिनमें 5 हजार 90 बालक तथा 4 हजार 956 बालिका हैं। वहीं इंटरमीडिएट परीक्षार्थियों की संख्या 9 हजार 573 है, जिनमें 4 हजार 745 बालक तथा 4 हजार 828 बालिका हैं। उन्होंने बताया कि कोई भी परीक्षा केंद्र संवेदनशील या अति संवेदनशील नहीं है।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा के दृष्टिगत 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट नामित किए गए हैं। उन्होंने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों से कहा कि परीक्षा की सभी तैयारियां पहले ही पूर्ण कर लें। कहा कि प्रश्न पत्रों को खोलते एवं सील करते हुए वीडियोग्राफी करवाना सुनिश्चित करें। कहा कि किसी भी तरह की समस्या के समाधान हेतु कंट्रोल रूम बनाया गया है और उनमें प्रभारी नियुक्त किए गए हैं। बताया की सघन निरीक्षण हेतु 2 फ्लाइंग टीम बनाई गई हैं। इससे पूर्व विशेषज्ञ अधिकारियों द्वारा केंद्र व्यवस्थापक एवं कस्टोडियन को परीक्षा प्रक्रिया के दौरान उनके द्वारा संपादित किए जाने वाले कार्यों/दायित्वों के संबंध में बारीकी से जानकारी दी गई तथा परीक्षा को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने विद्यालीय शिक्षा अधिनियम में दिये गये निर्देशों का अध्ययन कर अनुपालन करने को कहा गया।

इस मौके पर प्राचार्य डाइट चित्रानंद काला, जिला शिक्षा अधिकारी (प्रा.) अनिनाथ, नायब तहसीलदार शिप्रा वर्मा टिहरी, साक्षी उपाध्याय नैनबाग, मानवेन्द्र बर्थवाल देवप्रयाग, किशन सिंह महंत कंडिसौड, जनपदीय परीक्षा प्रभारी संजय लिंगवाल सहित केंद्र व्यवस्थापक, कस्टोडियन एवं अन्य संबंधित अधिकारी/कर्मचारी मौजूद रहे।