उत्तराखंड के योगाचार्य श्री जसपाल सिंह नेगी ने दिल्ली में 108 योगियों एवं योगिनियों को एक साथ करवाया जय श्री राम थीम पर योगासन

उत्तराखंड के योगाचार्य श्री जसपाल सिंह नेगी ने दिल्ली में 108 योगियों एवं योगिनियों को एक साथ करवाया ष्ष्जय श्री रामष्ष् थीम पर योगासन
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

उत्तराखंड के योगाचार्य श्री जसपाल सिंह नेगी ने दिल्ली में 108 योगियों एवं योगिनियों को एक साथ करवाया जय श्री राम थीम पर योगासन

नई दिल्ली: उत्तराखंड के योगाचार्य श्री जसपाल सिंह नेगी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित साप्ताहिक योगा कार्यक्रमों की श्रंख्ला में दिल्ली स्थित शक्ति योग संस्थान के 108 योगियों एवं योगिनियों ने ष्ष्जय श्री रामष्ष् थीम पर एक साथ योगासन कर अपनी योग कलाओं का प्रदर्षन करवा वहां उपस्थित सभी आगंतुकों को मंत्र मुग्ध कर दिया।

दिल्ली के सबसे बड़े पार्को में शुमार स्वर्ण जयंती गार्डन ;जापानी पार्कद्ध में शक्ति योग संस्थान द्वारा संचालित इस कार्यक्रम का शुभारंभ संस्था के संस्थापक एवं योग गुरू श्री नेगी ने विधिवत रूप से गुरू पूजा से किया। कार्यक्रम का संचालन संस्था की उप संस्थापक श्रीमती मेघा मित्तल ने किया।

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल के जख गांव में जन्में श्री नेगी ने बताया कि इस थीम पर योगा के लिए साधकों को पिछले 15 दिनों से अभ्यास करवाया गया। इसमें गाने के शब्दों और संगीत की लय के अनुसार योगा की विभिन्न मुद्राओं का चयन कर समस्त साधकों को अलग.अलग गु्रप्स में दिल्ली एनसीआर सहित विभिन्न राज्यों के साधकों को ऑनलाईन और ऑफलाईन के माध्यम से अभ्यास करवाया गया।

उन्होंने बताया कि गत वर्षो में भी हर वर्ष एक नई थीम को आधार बनाकर इस विशेष कार्यक्रम का सफल आयोजन किया जाता रहा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में उनके योग केन्द्र पर प्रातः 6 बजे से सायं 7 बजे तक समयांतराल पर लगभग 150 साधकों को प्रतिदिन योग करवाया जाता है। इसके अतिरिक्त ऑनलाईन माध्यम से भी दिल्ली एनसीआर के अतिरिक्त देष.विदेष के साधकों को योग का अभ्यास करवाया जाता है।

श्री सिंह ने बताया कि उन्होंने अपने गुरू श्री श्री रविषंकर जी से आषीर्वाद प्राप्त कर 2011 से योगाभ्यास करवाना आरंभ किया तथा वर्ष 2018 में इस केन्द्र को प्रारंभ किया। इसके उपरांत वे अभी तक सैकड़ों साधकों को योगा का अभ्यास करवा चुके हैं। सोमवार से शुक्रवार तक चलने वाली योग कक्षाओं में 5 वर्ष से लेकर 70 वर्ष तक की आयु के साधक योग सीखते हैं।

उन्होने बताया कि उनके पास योगाभ्यास करने वालों में गृहणियांए व्यापारीए डॉक्टरए चार्टर्ड अकाउंटेंटए पुलिसकर्मियों सहित विभिन्न वर्गों के साधक योग का अभ्यास करते हैं। श्री सिंह ने बताया कि शनिवार और रविवार को वे केन्द्र पर ध्यान मुद्राओं और मेडिटेषन के लिए विशेष कक्षाओं का आयोजन भी करते हैं।

श्री सिंह ने बताया कि आज के व्यस्त जीवन शैली और खानपान के कारण छोटे बच्चों से लेकर वृद्धों तक अधिकांश डिप्रेशनए मधुमेहए ब्लड प्रेशर सहित मोटापे इत्यादि गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं। जिसके स्थाई समाधान के लिए योग के अतिरिक्त कोई उपाय नहीं है। उन्होंने बताया कि योग के माध्यम से उनके केंद्र में आने वाले कई साधकों की इस प्रकार की बीमारियां समाप्त अथवा नियंत्रित हुई हैं।

Comment