गुरूवार , जुलाई 7 2022
Breaking News
विश्व पर्यावरण दिवस: पर्यावरण को सुरक्षित व संरक्षित रखने के लिए यथा सम्भव प्रयास करना चाहिए

विश्व पर्यावरण दिवस: पर्यावरण को सुरक्षित व संरक्षित रखने के लिए यथा सम्भव प्रयास करना चाहिए

play icon Listen to this article

आज विश्व पर्यावरण दिवस है, हमें अपने पर्यावरण को सुरक्षित व संरक्षित रखने के लिए यथा सम्भव प्रयास करना चाहिए, मूलतः वृक्षों को बचाना है, जंगलों को आग से बचाना है। हम भगवान श्री कृष्ण के इस विचार से प्रेरणा लेकर कुछ न कुछ चिन्तन अवश्य करें।

सरहद का साक्षी @ आचार्य हर्षमणि बहुगुणा

जब गर्मियों का मौसम था, सूर्य प्रचण्ड रूप से तप रहा था तब विशाल वृक्षों की छाया बहुत शीतल व सुखद लग रही थी। यही कारण है कि जेठ के महीने विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का संकल्प लिया, जिससे हमें वृक्षों का महत्व समक्ष में आ सके। जब भगवान श्री कृष्ण सात वर्ष के भी नहीं थे, तब अपने बाल मित्रों को भीषण गर्मी में समझा रहे थे कि मित्रों! इन वृक्षों को देखो, — ये किस प्रकार दूसरों के लिए जीवन धारण करते हैं।

🚀 यह भी पढ़ें :  विश्व पर्यावरण दिवस पर तल्ला चंबा में स्वच्छता अभियान, वृक्षारोपण और पर्यावरण संगोष्ठी आयोजित

अपने आप भयंकर गर्मी, वर्षा, हवा , सर्दी आदि सहन करते हैं, और हमारी इन सब से रक्षा करते हैं। इन जंगलों में हमारा अभिनन्दन करने के लिए सदैव खड़े हैं। इनके पास जो कुछ भी है — चाहे – पत्र हैं, पुष्प, फल, मूल, छाल सब हमें अर्पित करने के लिए तत्पर हैं।

🚀 यह भी पढ़ें :  धूमधाम से मनाया गया मां कालिंका का मेला रानीचौरी

अतः इनकी सुरक्षा का उत्तरदायित्व हमारा ही है, अतः आज संकल्प लें कि हर प्रकार से इनकी सुरक्षा हम करेंगे। मैं भी अपने संकल्प को पूरा कर रहा हूं आप भी अपना संकल्प अवश्य पूरा करें। हम शिव बनें, विश्व के कल्याण के लिए हला हल का पान करें। इसी में सबका हित निहित है, अपने लिए तो पशु जीता है, फिर हममें और पशुओं में क्या भेद है।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

फैगुल में आँगन का पुस्ता गिरा, आम रास्ता बंद

भारी वर्षा के कारण मलवा आने से नकोट रानीचौरी व नकोट पांगरखाल मोटर मार्ग बन्द, फैगुल में आँगन का पुस्ता क्षतिग्रस्त, आम रास्ता बंद

Listen to this article सुबह की भारी बरसात के कारण मलवा आने से नकोट रानीचौरी …

error: Content is protected !!