West to Best “वेस्ट से बेस्ट” बनाने की सोच को मजबूती का जीता जागता उदाहरण पेश कर रहे हैं सुषमा एवं संजय बहुगुणा

245
West to Best
West to Best "वेस्ट से बेस्ट" बनाने की सोच को मजबूती का जीता जागता उदाहरण पेश कर रहे हैं सुषमा एवं संजय बहुगुणा
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

West to Best “वेस्ट से बेस्ट” बनाने की सोच 

West to Best “वेस्ट से बेस्ट” बनाने की सोच को मजबूती का जीता जागता उदाहरण टिहरी जनपद में चम्बा प्रखंड के रानीचौरी निवासी सुषमा बहुगुणा एवं संजय बहुगुणा पेश कर रहे हैं, श्रीमती सुषमा ने एमएबीएड होने के बाबजूद नौकरी की ओर रुख न करके घर में ही स्वरोजगार की ओर विगत एक दशक पहले कदम उठाए तो आज दर्जनों महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने का प्रशिक्षण देने के साथ-साथ अपने साथ रोजगार में जोड़कर आर्थिकी मजबूत करने का काम कर रही हैं। West to Best “वेस्ट से बेस्ट” बनाने की सोच को मजबूती प्रदान की, उनके पति संजय बहुगुणा जो स्नातकोत्तर सामाजिक विज्ञान व मानवाधिकार से हैं।

डी.पी. उनियाल @गजा 

शादी समारोह में लगाये जाने वाले फूलों को बाद में इकट्ठा कर व गाय का गोबर, कुरंजा घास सुखाकर चूर्ण बनाकर आराधना धूप अगरबत्ती निर्माण कार्य शुरू किया, साथ ही बेकार पड़ा कांस घास (कुस घास) कुरकुरे, चिप्स, टाफी के खाली रैपरों से सजावटी वस्तुएं (टोकरियां, गुलदस्ते) बनाये तो विषम परिस्थितियों में भी स्वरोजगार की ओर हौसला बढ़ता गया और अब हर बाजार व कस्बों में #आराधना धूप अगरबत्ती# की मांग बढ़ रही है। अब तक अनेकों बार सम्मानित हो चुकी हैं। तत्कालीन जिलाधिकारी टिहरी इवा आशीष श्रीवास्तव ने 2020 में जिला उद्यम पुरस्कार से सम्मानित किया।

अप्रैल 2021 में विक्टोरिया क्रॉस विजेता बीर गबरसिंह मेला चम्बा में विधायक डा.धनसिंह नेगी ने सम्मानित किया तो संस्कृति संरक्षण कार्यक्रम चम्बा में 2021 में तत्कालीन क़ृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने लघु उद्योग में बेहतर काम करने पर प्रशस्ति पत्र प्रदान किया।

वहीं उद्योग निदेशालय देहरादून द्वारा 01-08-2021 को राष्ट्रीय हथकरघा दिवश पर सैनिक कल्याण एवं औद्योगिक विकास मंत्री गणेश जोशी ने देहरादून में “दस हजार रूपए का चैक, शाल ओढ़ाकर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 2021 में वोधिसत्व विचार श्रृंखला आयोजित जन संवाद कार्यक्रम में सम्मानित किया, अब श्रीमती सुषमा बहुगुणा दो दर्जन महिलाओं को अपने रोजगार के साथ जोड़ चुकी हैं।

शादियों में शामिल होकर फूलों को बर्बाद होने के बजाय बाद में वापस इकट्ठा कर लेते हैं। राज्यपाल महोदय के टिहरी आगमन पर वेस्ट से बेस्ट मैटिरियल के तहत सजावटी टोकरियां गुलदस्ते भेंट किये तो राज्यपाल जी ने भी उनके कामों की प्रशंसा की है।

Comment