उ.रा.प्रा. शिक्षक संघ की बैठक, जिला सहकारी बैंक द्वारा कैश क्रेडिट ऋण पर ब्याज दर कम न किये जाने पर जताया रोष

854
उ.रा.प्रा. शिक्षक संघ की बैठक, जिला सहकारी बैंक द्वारा कैश क्रेडिट ऋण पर ब्याज दर कम न किये जाने पर जताया रोष
play icon Listen to this article

उ.रा.प्रा. शिक्षक संघ की बैठक, जिला सहकारी बैंक द्वारा कैश क्रेडिट ऋण पर ब्याज दर कम न किये जाने पर जताया रोष

उत्तराखंड प्राथमिक शिक्षक संघ का अनुबंध ग्रामीण बैंक से करने की कही बात

Tehri News: उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ टिहरी गढ़वाल की बैठक डाइट में आहूत की गई, जिसमें यह निर्णय लिया गया कि जिला सहकारी बैंक के द्वारा संगठन की बार-बार मांग के बावजूद कर्मचारी कैश क्रेडिट ऋण पर ब्याज दर कम नहीं की जा रही है, ना ही उसको अन्य बैंकों की भांति फ्री इंश्योर्ड किया जा रहा है। साथ ही सीसीएल पर शिक्षक संगठनों को विश्वास में नहीं लिया जा रहा है। जिस पर संगठन ने रोष जाहिर किया।

उ.रा.प्रा. शिक्षक संघ की बैठक, जिला सहकारी बैंक द्वारा कैश क्रेडिट ऋण पर ब्याज दर कम न किये जाने पर जताया रोषबैठक में संगठन के सदस्यों ने निर्णय लिया कि यदि बैंक के द्वारा संगठन की ऋण में ब्याज दर कटौती की मांग एवं संगठन को विश्वास में न लिया जाना बड़ा खेद का विषय है, जिस पर कर्मचारी कैश क्रेडिट ऋण के संबंध में संगठन को अपने अनुबंध पर दोबारा से विचार करने पर निर्णय लिया गया।

संगठन के सदस्यों के द्वारा कहा गया कि इस प्रकार का रवैया बैंक का रहा है सभी शिक्षक खाताधारक अन्य बैंकों के लिए अपना खाता संचालन हेतु स्वतंत्र होंगे। भविष्य में वर्तमान में उत्तराखंड प्राथमिक शिक्षक संघ का अनुबंध उत्तराखंड ग्रामीण बैंक से वर्तमान में हो चुका है तथा उनके द्वारा कर्मचारी कैश क्रेडिट लिमिट 35,00000 देने पर सहमति के साथ 25,00000 रुपए तक फ्री इंश्योरेंस देने पर अनुबंध किया गया तथा सभी सदस्यों को उनके बैंक से लाभ लेने को कहा गया।

उत्तराखंड ग्रामीण बैंक से नेट बैंकिंग की तमाम प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध होगी। बैठक में उतराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक के अध्यक्ष विजेंद्र पवार, चंबा के अध्यक्ष रविंद्र सिंह खाती, जौनपुर के मंत्री खेमचंद, विक्रम सजवान, रोशनलाल जिला प्रवक्ता टीटी राणा, प्रमोद चमोली, मनीष राजपूत, जगदंबा कंडारी, सरोज सेमवाल, सरोज रावत, मोतीलाल, दीपक बधानी, मंगत नेगी सैकड़ों की संख्या में शिक्षक उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here