सोमवार , जुलाई 4 2022
Breaking News
dr Rawat

पारदर्शिता के साथ होंगे शिक्षकों के तबादले, स्थानांतरण में कोई सिफारिश नहीं चलेगी: डॉ. धन सिंह रावत

play icon Listen to this article

मंत्री की अधिकारियों को दो टूक, एक्ट के तहत होंगे स्थानांतरण

डायट, अटल आदर्श एवं नवोदय विद्यालयों की बनेगी पृथक नियमावली

पात्र कार्मिकों एवं अधिकारियों की पदोन्नति में तेजी लाने के निर्देश

शिक्षा विभाग में शिक्षकों के वार्षिक स्थानांतरण पूरी पारदर्शिता के साथ होंगे। इसके लिये विभागीय अधिकारियों को दो टूक निर्देश दे दिये गये हैं। जो शिक्षक लम्बे समय से दुर्गम एवं पर्वतीय क्षेत्रो में वर्षों से तैनात हैं उन्हें सुगम स्कूलों तथा जो मैदानी क्षेत्रों में जमे हैं उन्हें दुर्गम क्षेत्र के विद्यालयों में भेजा जायेगा। शिक्षा विभाग में डायट, अटल आदर्श विद्यालय एवं नवोदय विद्यालयों की पृथक नियमावली बनाई जायेगी, विभाग में पात्र कार्मिकों एवं अधिकारियों की पदोन्नति की कार्यवाही में तेजी लायी जायेगी।

शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज शिक्षा निदेशालय में विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने शिक्षकों के तबादले पूरी पारदर्शिता के साथ करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जो शिक्षक वर्षों से पर्वतीय क्षेत्रों के विद्यालयों में सेवाएं दे रहे हैं उन्हें मैदानी क्षेत्रों में तैनात किया जायेगा जबकि जो शिक्षक सुगम की सेवाएं पूर्ण कर चुके हैं उन्हें पर्वतीय क्षेत्रों के विद्यालयों में भेजा जायेगा। डॉ0 रावत ने विभागीय अधिकारियों को दो टूक कहा कि स्थानांतरण में कोई सिफारिश नहीं चलेगी।

🚀 यह भी पढ़ें :  राज्य में अनाथों के बनेंगे आयुष्मान कार्ड: डॉ. धन सिंह रावत

उन्होंने शिक्षा विभाग में पात्र कार्मिकों एवं अधिकारियों की पदोन्नति की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। सहायक अध्यापकों की पदोन्नति प्रक्रिया भी शीघ्र पूर्ण करने को कहा। बैठक में विभाग के अंतर्गत संचालित अटल आदर्श विद्यालय, नवोदय विद्यालय एवं डायटों की पृथक नियमावली बनाने के निर्देश दिये।

🚀 यह भी पढ़ें :  भूमण्डल एवं अन्तरिक्ष का सूक्ष्म ज्ञान जो हमारे ऋषि मुनियों ने विश्व को प्रदान किया

समीक्षा बैठक में नई शिक्षा नीति लागू करने की तैयारियों को लेकर विभागीय अधिकारियों द्वारा प्रस्तुतिकरण दिया गया। जिसमें अधिकारियों द्वारा बताया गया कि सूबे में प्राथमिक विद्यालयों के साथ संचालित 4457 आंगनबाड़ी केन्द्रों में बालबाटिका नाम से कक्षाएं शुरू करने हेतु तैयारियों कर ली गई हैं जिसके तहत बालबाटिका शिक्षक हस्तपुस्तिका एवं बालबाटिका अभ्यास पुस्तिका तैयार कर प्रकाशन का कार्य गतिमान हैं। बाल बाटिका के संचालत हेतु एससीईआरटी कार्यलय देहरादून में ई0सी0सी0ई0 यूनिट का गठन किया जा चुका है। इसी क्रम में 22 से 24 जून तक जिला कार्यक्रम अधिकारी, उप शिक्षा अधिकारी तथा बाल विकास परियोजना अधिकारी, को-लोकेटेड विद्यालयों के प्रधानाध्यापक तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों हेतु अभिमुखीकरण कार्यशाला आयोजित की गई है। नई शिक्षा नीति के तहत विद्यालयों के पूर्व छात्र, सेवानिवृत्त शिक्षकों, वैज्ञानिकों, स्वयंसेवकों तथा विषय विशेषज्ञों का डाटाबेस तैयार किया जा रहा है।

🚀 यह भी पढ़ें :  Update Kovid-19: उत्तराखंड में आज संक्रमण से 6306 लोगों ने जीती जंग, 81 लोगों की मौत, 2146 नए मामले

बैठक में सचिव विद्यालयी शिक्षा रविनाथ रमन, महानिदेशक बंशीधर तिवारी, निदेशक माध्यमिक शिक्षा आर0के0 कुंवार, निदेशक प्राथमिक शिक्षा वंदना गर्ब्याल, अपर निदेशक रामकृष्ण उनियाल सहित तमाम विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

Doctors  Day पर 21 डाक्टरों का किया सम्मान, सांसद नरेश बंसल ने लिंगानुपात बढ़ने पर जतायी चिन्ता, मेयर गामा ने की सिंगल यूज्ड प्लास्टिक का उपयोग रोकने की अपील

Doctors  Day पर 21 डाक्टरों का किया सम्मान, सांसद नरेश बंसल ने लिंगानुपात बढ़ने पर जतायी चिन्ता, मेयर गामा ने की Single Used Plastic का उपयोग रोकने की अपील

Listen to this article राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कहा कि कोरोना काल में डाक्टरों …

error: Content is protected !!