श्रीबद्रीकेदार धाम यात्रा में हेली सेवा के नाम पर धोखाधड़ी की कहानी पीड़ित वरिष्ठ नागरिकों की जुबानी

0
219
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

श्रीबद्रीकेदार धाम यात्रा में हेली सेवा के नाम पर धोखाधड़ी की कहानी पीड़ित वरिष्ठ नागरिकों की जुबानी

श्रीबद्रीकेदार धाम यात्रा हेतु हेली सेवा टिकट को लेकर वरिष्ठ नागरिकों के साथ हुई धोखाधड़ी को लेकर संबंधित वरिष्ठ नागरिकों ने अब दिल्ली में उपभोक्ता अदालत की शरण लेने की ठान ली है।

हेली सेवा धोखाधड़ी पीड़ित अरुण कुमार लखेड़ा, हाल निवासी, भारत नगर अशोक विहार, डबल स्टोरी फ्लैट्स, दिल्ली 52, मूल निवासी कटाल्डी नागणी टिहरी गढ़वाल ने पूरा वृतांत बताते हुए कहा कि दिनाँक 08-04-2023 को तीर्थम यात्रा शांतिकुंज हरिद्वार के मैनेजर श्री रवि मोबा. नं. 9758271946 के द्वारा केदारनाथ व बद्रीनाथ धाम की यात्रा करने हेतु सभी औपचारिकतायें पूरी करने के बाद हम आठ वरिष्ठ नागरिको (अरुण कुमार लखेड़ा, हाल निवासी, भारत नगर अशोक विहार, डबल स्टोरी फ्लैट्स, दिल्ली 52, जबर सिंह चौहान E-248 शास्त्री नगर Delhi-110052, रामानंद सकलानी ब्लॉक प्रधान, एन्क्लेव बुराई दिल्ली-110084, सुभाष बहुगुणा, 86, शांति विहार, अजब पुर कला देहरादून -24821) ने हेलीकाप्टर सेवा बुक करवाई थी, जो IRCTC के द्वारा दिनांक 27-04-2023 सुबह 9 बजे के समय पर एरो हेलिपैड सोनप्रयाग से केदारनाथ के लिए बुक हुई थी जिसके लिए तीर्थम यात्रा हरिद्वार ने (10,500) दस हजार पांच सौ रुपये के प्रत्येक आदमी के हिसाब से (84000/-) चौरासी हजार रुपये लिए जबकि टिकट एक आदमी की लगभग पांच हजार रुपये की थी।

श्री बद्रीकेदार धाम यात्रा में हेली सेवा के नाम पर धोखाधड़ी की कहानी पीड़ित वरिष्ठ नागरिकों की जुबानी
Cancle Ticket

बताया कि दिनाँक 27/04/2023 को सुबह 9 बजे एरो हेलिपैड पर पहुंचने पर दो आदमियों को रामानंद सकलानी व राधा देवी को हेली सेवा से जाने दिया गया तथा बाकी हम छः आदमियों की टिकट IRCTC ने रद्द करके किसी अन्य को दे दी। वहाँ पर हमने देखा करीब सभी लोग परशान थे तथा ब्लैक में टिकट खरीदने के लिए मजबूर थे।

श्री बद्रीकेदार धाम यात्रा में हेली सेवा के नाम पर धोखाधड़ी की कहानी पीड़ित वरिष्ठ नागरिकों की जुबानी दिनांक 27/04/2023 को ही हमने तीर्थम यात्रा के मैनेजर रवि को अपना रोष व्यक्त किया तो उन्होंने हमारी मजबूरी का फायदा उठाते हुए दिनांक 28-04-2023 के लिए तत्काल की टिकट खरीदने की सलाह दी तथा हमसे (14,400) चौदह हजार चार सौ रुपये प्रत्येक जादमी के हिसाब से ( 6 ) आदमियों के (86400) छयासी हजार चार सौ रुपये के ले लिए गए तथा दिनांक 28/04/2023 की टिकट खरीद कर दे दे गयी, जबकि टिकट सेवा बुकिंग संभवत बंद थी इस मामले को लेकर उन्होंने IRCTC तथा तीर्थम यात्रा पर खुलेआम धोखाधड़ी एवं भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा कि दिनांक 27-04-2023 को हमारे दो साथी केदारनाथ धाम जा चुके थे उन्होंने दर्शन करके (3-4) घंटे के बाद आना था, हमने एरो हेलिपैड से त्रिजुगी नारायण मंदिर की दूरी (7-8) किलोमीटर है हमने दर्शन करने की इच्छा व्यक्त कि टेम्पो ट्रैवलर संख्या- यूके 7टीबी 1383 में जिसमें हमें दर्शन करने का 1.5 घंटे का समय लगा, जिसके लिए तीर्थम यात्रा कम्पनी ने हमसे 9500/ नौ हजार पांच सौ रुपये की जबरन वसूली की, हम सभी वरिष्ठ नागरिकां का तीर्थम यात्रा शांति कुंज हरिद्वार IRCTC उत्तराखंड हेलिसेर्विस ने हमारा मानसिक शारीरिक आर्थिक उत्पीड़न किया गया जिसके लिए हमारी जान भी जा सकती थी।

उन्होंने मांग करते हुए कहा कि IRCTC के द्वारा हमारी टिकटें क्यों रद्द की गयी। इन जिम्मेदार लोगों पर कानूनी कार्यवाही की जाये तीर्थम यात्रा के मैनेजर रवि से बिल मांगने पर उनके द्वारा बिल नहीं दिया गया और कहा गया कि आपकी यात्रा तो हो गयी। पीड़ित वरिष्ठ नागरिकों ने आग्रह किया कि हमारा पिछला 10,500 का शेष 86400/-9500/- 95900/- तथा वरिष्ठ नागरिकों का उत्पीड़न का मुआवजा दिलवाया जाये तथा तीर्थम यात्रा शांतकुंज हरिद्वार के खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कारवाही की जाये जिससे कोई और इनका शिकार न बने।

Comment