गुरूवार , जुलाई 7 2022
Breaking News
तिरंगे में लिपटा पैतृक गांव पहुंचा शहीद प्रवीण का शव, अंतिम विदाई देने उमड़ा हुजूम

तिरंगे में लिपटा पैतृक गांव पहुंचा शहीद प्रवीण का शव, अंतिम विदाई देने उमड़ा हुजूम

play icon Listen to this article

देशसेवा करते दुश्मनों से लोहा लेते हुए शहीद हुए सेना के जवान प्रवीण सिंह का पार्थिव शरीर आज सुबह उनके पैतृक गांव टिहरी घनसाली पहुंच गया है। तिरंगे में लिपटे हुए जब जवान का शव पंहुचा तो उनके अंतिम दर्शन को पूरे गांव में जन सैलाब उमड़ पड़ा। हर आंख नम हो गई। परिजन बेसुध हो गए। जवान बेटे की शहादत से हर कोई टूट गया है। इससे पहले एयरपोर्ट पर शहीद प्रवीण सिंह को सेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में बीते गुरुवार को एक बम धमाके में टिहरी गढ़वाल के भिलंगाना ब्लाक के पांडोली गांव हाल निवासी लक्ष्य एनक्लेव बंजारावाला देहरादून निवासी प्रवीण सिंह एक बम धमाके में घायल हो गए थे। जहां उपचार के दौरान उन्होंने देश की रक्षा करते हुए अपना बलिदान दे दिया। बलिदानी प्रवीण वर्ष 2011 में सेना में भर्ती हुए थे और 15वीं गढ़वाल राइफल में कश्मीर में तैनात थे। प्रवीण का विवाह वर्ष 2014 में अमिता से हुआ था। वह अपने पीछे छह वर्षीय पुत्र वंश को भी छोड़ गए है। 27 मई को ही वह अपनी छुट्टियां बिताकर दोबारा ड्यूटी पर गए थे।

🚀 यह भी पढ़ें :  मिशन सागर: भारतीय नौसेना के जहाज केसरी ने मोजाम्बिक के मापुटो बंदरगाह में कब प्रवेश किया, जाने!

बताया जा रहा है कि बलिदानी प्रवीण सिंह का पार्थिव शरीर जम्मू से वायु सेना के विशेष विमान से शुक्रवार शाम साढ़े छह बजे जौलीग्रांट स्थित देहरादून एयरपोर्ट लाया गया। शनिवार सुबह उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक आवास ले जाया गया। गांव से नजदीक मल्गढ़ में बलिदानी की अंतिम यात्रा के लिए गांव के लोग अपने वाहनों पर शहीद की फोटो और तिरंगा लगाकर पहुंचे। गांव के पास बलिदानी को अंतिम विदाई देने के लिए ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा है। हर आंख नम दिखाई दे रही है।

🚀 यह भी पढ़ें :  भिलंगना के दोणी में सेवा टीएचडीसी के वित्तीय मार्गदर्शन मे निःशुल्क सिलाई प्रशिक्षण केन्द्र शुरू 

वहीं शुक्रवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर उत्तराखंड के सपूत को श्रद्धाजंलि देते हुए कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि सरकार बलिदानी प्रवीण सिंह के परिवार के साथ खड़ी है। सरकार की ओर से बलिदानी के लिए जो अनुमन्य राशि निर्धारित की गई है। वह परिवार को जल्द पहुंचाई जाएगी। साथ ही बलिदानी के गांव में किसी विद्यालय या मार्ग का नाम बलिदानी प्रवीण सिंह के नाम पर रखा जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

फैगुल में आँगन का पुस्ता गिरा, आम रास्ता बंद

भारी वर्षा के कारण मलवा आने से नकोट रानीचौरी व नकोट पांगरखाल मोटर मार्ग बन्द, फैगुल में आँगन का पुस्ता क्षतिग्रस्त, आम रास्ता बंद

Listen to this article सुबह की भारी बरसात के कारण मलवा आने से नकोट रानीचौरी …

error: Content is protected !!