जिला चिकित्सालय बौराड़ी में पीपीडी मोड से हटे कर्मचारियों का धरना 8वें दिन भी जारी, टिहरी कांग्रेस ने दिया समर्थन

103
जिला चिकित्सालय बौराड़ी में पीपीडी मोड से हटे कर्मचारियों का धरना 8वें दिन भी जारी, टिहरी कांग्रेस ने दिया समर्थन
Listen to this article

जिला चिकित्सालय बौराड़ी में पीपीडी मोड से हटे कर्मचारियों का धरना 8वें दिन भी जारी, टिहरी कांग्रेस ने दिया समर्थन 

सरकार बेरोजगारों के साथ धोखा कर रही है: राकेश राणा

नई टिहरी: जिला चिकित्सालय बौराड़ी में विगत 5 वर्षों से अपनी सेवाएं दे रहे 100 से ज्यादा कर्मचारियों का अपनी 1 सूत्रीय मांगों को लेकर आज 8वें दिन भी धरना जारी रहा।

ज्ञात हो कि जिला चिकित्सालय बौराड़ी नई टिहरी विगत 5 वर्षों से पीपीपी मोड पर हिमालयन अस्पताल जौली ग्रांट देहरादून के द्वारा संचालित किया जा रहा था, ततसमय उनके द्वारा वार्ड बॉय, सुरक्षाकर्मी, सफाई नायक, विद्युत कर्मी और चालक सहित लगभग 100 से ज्यादा लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए रखा गया था, आज जब राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन स्वास्थ्य विभाग ने हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट से एमओयू समाप्त कर जिला चिकित्सालय बोराड़ी को वापस लेकर खुद स्वास्थ्य विभाग संचालित करने जा रहा है।

पूर्व में कार्य कार्यरत 100 से ज्यादा कर्मचारियों को यह कहकर कि अब आप की आवश्यकता नहीं है को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। तबसे सभी हटाये गए कर्मचारी चिकित्सालय के सम्मुख अपनी 1 सूत्री मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं।

आज जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा प्रदेश कांग्रेस के सदस्य देवेंद्र नौटियाल, शहर कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पवार, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ने आज आंदोलनकारियों का हालचाल जाना है और उन्हें अपना समर्थन दिया।

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि तथाकथित डबल इंजन की सरकार ने विगत 6 वर्षों से उत्तराखंड के प्रत्येक क्षेत्र में बेरोजगार नौजवानों के साथ धोखा ही धोखा किया है पूर्वर्ती सरकार के द्वारा जिन लोगों को प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप में रोजगार दिया था उनको भी घर बिठाने का काम भाजपा की सरकार कर रही है। विडंबना इस बात की है जिस सरकार ने चुनाव की घोषणा पत्र में दो लाख बेरोजगार नौजवान को रोजगार देने का वादा किया था लेकिन आज जिनके पास कुछ रोजगार है उन्हें भी सरकार घर बिठाने का काम कर रही है।

उन्होंने जिला प्रशासन और राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि हटाये गई कर्मचारियों को तत्काल आउटसोर्सिंग एजेंसी के माध्यम से युवा कल्याण के माध्यम से रोजगार दिया जाए जिससे इनकी रोजी रोटी बची रहे।

शहर कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पवार और देवेंद्र नौटियाल ने कहा कि सरकार की कथनी और करनी में बहुत अंतर है। पूर्व में 250 लोगों को हिंदुस्तान कंपनी से बाहर निकाला गया 100 से ज्यादा लोगों को श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय बादशाहीथौल से बाहर निकाला गया और इसी तरह आज जिला चिकित्सालय थे लगभग 100 लोगों को बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है यह सरकार की नाकामी है।

महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ने कहा कि यहां पर लगभग 50 ऐसी माताएं बहने हैं कि जिनके पास रोजी-रोटी का दूसरा और कोई साधन नहीं है जिला प्रशासन और राज्य सरकार को विवेकपूर्ण निर्णय करते हुए इन जरूरतमंद लोगों को तत्काल रोजगार मुहैया कराना चाहिए।

धरने पर बैठे वालों में दिनेश राणा जगदीश बर्तवाल, अमरजीत, विनोद, कौशल, संजना, भागीरथी, कविता, राहुल रेखा भारती संपत्ति कलूड़ा अतुल सहित सैकड़ों कर्मचारी धरने पर बैठे थे।

Comment