सीडीएस जनरल विपिन रावत को अर्पित की गई अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि 

सीडीएस जनरल विपिन रावत को अर्पित की गई अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि 
play icon Listen to this article

देश के पहले सीडीएस उत्तराखंड के मूल निवासी सपत्नी जनरल बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने पर सहयोगियों सहित आकस्मिक निधन पर जिला कांग्रेस कार्यालय नई टिहरी में उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

[su_highlight background=”#091688″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, गजा/नई टिहरी [/su_highlight]

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि आज हम सब देश और प्रदेश वासियों के लिए बहुत ही दु:ख का समय है देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत ओर उनकी पत्नी मधुलिका रावत व उनके सहयोगियों के हेलीकॉप्टर क्रैश होने पर आकस्मिक निधन से संपूर्ण देश और प्रदेश वासियों में शोक की लहर है।

उन्होंने कहा जनरल बिपिन रावत ने उत्तराखंड ही नहीं बल्कि संपूर्ण देश का मान और गौरव बढ़ाने का काम किया उन्होंने वर्तमान समय में जरूरत के हिसाब से देश की सीमाओं और सेनाओं को आधुनिक उपकरणों के साथ सुसज्जित करने का काम किया।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव पूर्व राज्य मंत्री सैयद मुशर्रफ अली एवं शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष देवेंद्र नौडियाल ने कहा यह हम सबके लिए बहुत ही दुखद दिन है।

जनरल बिपिन रावत ने एक सैनिक संयुक्त परिवार में जन्म लेकर उत्तराखंड के नौजवानों को सेना के प्रति और अधिक प्रोत्साहित करने का भी काम किया जिसकी कभी भी भरपाई नहीं हो सकती इस दुख की घड़ी में हम सभी लोग दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हैं और शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।

शोक सभा में श्रद्धांजलि सभा में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा प्रदेश सचिव सैयद मुश्तक अली ,शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष देवेंद्र नौटियाल ,चंबा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद डोभाल, शहर कांग्रेस के प्रवक्ता दीपक चमोली , सी०ऐ०देवेंद्र चम्याल , अनिल दत्त भट्ट,रविन्द्र जोशी,चंद्रेश चौहान, विजय दत्त भट्ट,आदि कांग्रेस जन उपस्थित थे।

देश के लिए अपूरणीय क्षति, देश का मान बढ़ाने वालों में रहे सीडीएस जनरल विपिन रावत

गजा: तमिलनाडु में विमान दुर्घटना में शहीद हुए सेना के सर्वोच्च पद पर रहे विपिन रावत सहित अन्य शहीद हुए लोगों को बारातघर गजा में पुष्पांजलि अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि दी गई।

सीडीएस जनरल विपिन रावत को अर्पित की गई अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि 

श्रद्धांजलि सभा को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत ने कहा कि सीडीएस जनरल विपिन रावत के असामयिक निधन से पूरा देश शोकाकुल है तथा उत्तराखंड वासियों को भी बेहद दुख हुआ है। उत्तराखंड के लोग दु:खी हैं यह हमारे लिए अपूरणीय क्षति है। मिलनसार व हंसमुख स्वभाव के धनी विपिन रावत हमेशा देश की रक्षा के लिए चुनौतीपूर्ण संघर्ष में रहे। श्रद्धांजलि देने वालों में मामराज सिंह रावत, अनिल भंडारी पूर्व जिला पंचायत सदस्य, राजेन्द्र सिंह पुंडीर पूर्व जिला पंचायत सदस्य, किशोर सिंह रावत, संजय असवाल, नैन सिंह चौहान, कमल सिंह चौहान, विनय रणाकोटी, जितेंद्र सिंह सजवाण, उम्मेद सिंह सजवाण , राजेन्द्र सिंह चौहान, वाचस्पति रयाल, राजेन्द्र गुसाईं, राकेश सिंह गुसाईं, सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। सीडीएस जनरल विपिन रावत सहित हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हुए सभी 13 लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा सभा के अंत में दो मिनट का मौन भी रखा गया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बीच बीच में विपिन रावत अमर रहे के नारे भी लगते रहे।

अत्यधिक दु:खद समाचार, अविश्वसनीय, अकल्पनीय परन्तु अपरिहार्य

रानीचौरी से आचार्य हर्षमणि बहुगुणा के अनुसार आठ दिसंबर का दिन हमारे लिए बहुत ही दु:खद रहा। जिस दिन हमनें अपने सच्चे देश भक्त भारत के गौरव, उत्तराखंड में जन्मे राष्ट्र के पहले चीप आफ डिफेंस (सीडीएस) श्री बिपिन रावत एवं उनकी पत्नी श्रीमती मधूलिका रावत के साथ बारह अन्य जवान थे। केवल एक जवान अभी जिन्दगी व मौत के बीच लड़ रहे हैं शेष सभी तेरह भारतीय सपूत शहीद हो गए हैं। श्री रावत ने भारतीय सेना में बयालीस वर्षों तक देश सेवा में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते-देते असमय अकाल कवलित हो गए।

[irp]तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना के हेलीकॉप्टर से यात्रा कर रहे थे कि हेलिकॉप्टर अचानक दुर्घटना ग्रस्त हो गया और एक अत्यधिक व्यथित करने वाला समाचार सुनकर सभी भारतीयों को व्यथा दे गया। उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में सन् 1958 में जन्में जनरल बिपिन रावत जी की धर्मपत्नी श्रीमती मधूलिका रावत आर्मी वुमन वैलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष रही, वह भी अकाल कवलित हुई। जनरल बिपिन रावत कहते थे कि “पहली गोली हमारी नहीं होगी, पर उसके बाद हम गोलियों की गिनती भी नहीं करेंगे।

कश्मीर की शान्ति भंग करने में पाकिस्तान की भूमिका को सर्वोपरि मानते थे। आपकी दो बेटियां एक कृतिका रावत और दूसरी तारिणी रावत हैं। दु:ख की इस घड़ी में उत्तराखंड राज्य में तीन दिन का राजकीय शोक। मां भारती के इन महान सपूतों को हमारी अश्रुपूरित विनम्र श्रद्धांजलि सादर समर्पित एवं श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करते हैं कि इन दिवंगत विभूतियों को अपने श्रीचरणों में स्थान देते हुए हमें इस असहनीय वेदना को सहन करने की शक्ति भी प्रदान करेंगे। साथ ही आज की आवश्यकता देश के लिए सच्चे सपूतों को बार बार उत्पन्न (जन्म) करवाते रहेंगे, जिससे देश चारों दिशाओं से सुरक्षित रह सके।