जिला कांग्रेस की विस्तारित बैठक को प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने किया संबोधित

72
जिला कांग्रेस की विस्तारित बैठक को प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने किया संबोधित
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

जिला कांग्रेस की विस्तारित बैठक को प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने किया संबोधित

भाजपा की डबल इंजन सरकार जन विरोधी, महिला विरोधी, किसान विरोधी है, इसलिए इस सरकार को 2024 लोकसभा चुनाव में उखाड़ फेंके: करन माहरा

पुरानी पेंशन बहाल हो, भाजपा सरकार ने महंगाई से जनता की कमर तोड दी है: विक्रम नेगी

लोक सभा चुनाव के लिए अपने अपने बूथों पर पार्टी को विजय दिलाएं : राकेश राणा, शांति प्रसाद भट्ट

नई टिहरी: जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल की विस्तारित बैठक आज नई टिहरी में संपन्न हुई, जिले भर से कांग्रेस के पदाधिकारी, बूथ अध्यक्ष इस बैठक में पहुंचे थे।

जिला कांग्रेस की विस्तारित बैठक को प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने किया संबोधितप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा और विधायक विक्रम नेगी ने कार्यकर्ताओ को भारत जोड़ों यात्रा के तहत खैट पर्वत यात्रा पर गए कांग्रेसजनों को प्रमाण पत्र सौंपकर सम्मानित किया।

पीसीसी चीफ ने कहा “अगस्त में बूथ कमेटियों की बैठक लूंगा, भाजपा का एक मंत्री सड़क पर आम नागरिक को पीटता है, एक मंत्री उतर प्रदेश में अपनी थार गाड़ी से किसानों को कुचलता, एक नेता पर पदक विजेता बेटियां ने यौन शौषण का आरोप लगाया वह प्रधान मंत्री के साथ उद्घाटन में है, किसी पर कोई कार्यवाही नहीं, अंकिता भंडारी की जघन्य हत्या हुई, और एक नया खुलासा हुआ कि कोई धर्मेंद्र प्रधान नामक वीआईपी है, लेकिन बताया गया कि वह कोई और ही प्रधान है, लेकिन लोग समझते है, कि वह वीआईपी कौन है?

टिहरी के लोगों में अमर शहीद श्रीदेव सुमन, वीर गबर सिंह, माधो सिंह भंडारी, कफ्फू चौहान की थाती है,  जिन्होंने संघर्ष किया अन्याय के खिलाफ किंतु अफसोस है, कि टिहरी के लोग उन्ही को वोट देते है, जिस विचार धारा ने महात्मा गांधी और श्रीदेव सुमन की हत्या की है, आपकों कसम है इन महान वीरो की अब भाजपा को वोट नहीं जाना चाहिए।

इस सरकार ने बेरोजगारी महंगाई के अलावा कुछ नही दिया, विधान सभा में सवाल होना चाहिए कि बेरिजगारो पर लाठी चार्ज का आदेश किसने दिया था।

कर्मचारी लगातार ओल्ड पेंशन की मांग कर रहे है, किंतु भाजपा मजार, लव जेहाद, हिंदू मुस्लिम का मुद्दा उछाल कर आपका ध्यान महंगाई बेरोजगारी से हटाना चाहती है।

प्रतापनगर विधायक विक्रम नेगी ने कहा “जिस प्रदेश देश के शिक्षित प्रशिक्षित नौजवानो का भविष्य खतरे में हो वहां अच्छे दिनों की कल्पना भी नहीं की जा सकती है”
बैठक में ज्योति प्रसाद भट्ट, विजय पाल, शक्ति जोशी, ममता उनियाल, साब सिंह सजवान, भरत बुटोला मुन्नी बिष्ट आशा रावत, सब्बल सिंह राणा, मुरारी लाल खंडवाल, निहाल सिंह नेगी, विजय गुंसोला, आनंद सिंह बेलवाल, प्यार सिंह बिष्ट, जयवीर रावत ने अपने विचार और सुझाव रखे जिलाध्यक्ष राकेश राणा और शहर अध्यक्ष कुलदीप पंवार ने उपस्थित कांग्रेसजनों का स्वागत व्यक्त करते हुऐ कहा कि “उतराखंड की भाजपा सरकार ने अंकिता भंडारी हत्या कांड में भारी हिला हवाली की है, बेरोजगारो पर लाठियां बरसाई है, अब समय आ रहा है, इस सरकार को जवाब देने का आईए हम सब एकजुटता से पार्टी को मजबूत करे।

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा और प्रदेश महामंत्री शान्ति प्रसाद भट्ट ने कहा कि भाजपा की सरकार ढकोसलो की सरकार है, जुमले के अतरिक्त यह कुछ नही करते।

सरकार को चाहिए प्रत्येक परिवार के एक सद्स्य को आवश्यक रूप से सरकारी नौकरी दे, कर्मचारियों को पूरानी पेंशन लागू करे। बेरोजगारो को रोजगार नही दे सकते तो बेरोजगरी भत्ता दे”

महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ,दर्शनी रावत ओर मुन्नी बिष्ट ने कहा कि यह सरकार महिला विरोधी है, आप देख रहें है, आज देश की पदक विजेता बेटियां गंगा घाट पर रो रही है, उनकी हाय इस सरकार को जरूर लगेगी, बहन अंकिता भंडारी को न्याय नहीं मिला।

नरेंद्र चंद रमोला और विजय गुनसोला ने आह्वान करते हुए कहा कि हमे एकजुटता से कांग्रेस की मजबूती के लिए बूथ स्तर पर अपने अपने बूथों को मज़बूत करने का काम करे, और बूथ कमेटियो पर विषेष रूप से ध्यान दिया जाए।

बैठक में विक्रम नेगी, राकेश राणा, शांति प्रसाद भट्ट, विजय गुंसोला, मुरारीलाल खंडवाल, आनंद सिंह बेलवाल, ज्योति प्रसाद भट्ट, जयवीर सिंह रावत,नरेंद्र रमोला, विक्रम पंवार, प्रवीन भंडारी, अरविंद मोहन सकलानी, दर्शनी रावत, मुन्नी बिष्ट, बीना सजवान, ममता उनियाल, आशा रावत, ममता पंवार, नरेंद्र राणा, देवेंद्र नौडियाल, सबल सिंह राणा, कुलदीप पंवार, शक्ति जोशी, खुशी लाल, लखबीर चौहान नवीन सेमवाल, बरफ सिंह रमोला, भरत सिंह बुटोला, रमेश लाल, साब सिंह सजवान, लक्ष्मी जोशी, जसवीर नेगी, श्रीपाल पंवार, सुरेन्द्र सिंह रावत, दर्शनलाल, प्यार सिंह बिष्ट, गबर सिंह नेगी मौजूद थे।

Comment