सड़क डामरीकरण के लिए चंबा आंदोलन में तेजी, चंबा बाजार 2 घंटे के लिए रहा बंद

73
सड़क डामरीकरण के लिए चंबा आंदोलन में तेजी, चंबा बाजार 2 घंटे के लिए रहा आंशिक रूप से बंद
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

सड़क डामरीकरण के लिए चंबा आंदोलन में तेजी, चंबा बाजार 2 घंटे के लिए रहा बंद 

धरने पर चौथे दिन बैठी छोटा-स्यूटा से मातृशक्ति

नगर पालिका परिषद चंबा की अध्यक्ष ने दिया आन्दोलन को समर्थन

जिला पंचायत सदस्य और पूर्व जिला पंचायत सदस्य इल्मा सज्वाण और मनोज नकोटी ने दिया नैतिक और भौतिक समर्थन

चंबा @कवि: सो.ला.सकलानी ‘निशांत’: चंबा-नागणी (कॉलेज रोड) बाईपास सड़क डामरीकरण हेतु चंबा आंदोलन चौथे दिन भी जारी रहा। चंबा बाजार पुरोला मामले को लेकर 2 घंटे के लिए आंशिक रूप से बंद रहा। क्षेत्र की मातृशक्ति आन्दोलन को गति प्रदान कर रही है। आज छोटा- स्यूटा से ग्राम प्रधान सुषमा पुंडीर, महिला मंगल दल के अध्यक्ष सीमा भंडारी, सभासद ममता भंडारी, सुशीला भंडारी और उर्मिला भंडारी धरने पर बैठी।

भाजपा नेता और पूर्व जिला पंचायत सदस्य मनोज नकोटी और जिला पंचायत सदस्य इल्मा सज्वाण ने धरना स्थल पर आकर उन्हें अपना समर्थन दिया। इसी परिप्रेक्ष्य में नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष सुमन रमोला और पूर्व नगर पालिका परिषद अध्यक्ष सूरज राणा तथा विक्रम पंवार भी धरना स्थल पर आए और अपना समर्थन आंदोलन को दिया।

आज चंबा बाजार पुरोला मामले को लेकर 2 घंटे के लिए आंशिक रूप से बंद रहा। सैकड़ों की संख्या में व्यापारी, विभिन्न गांवों से आए हुए लोग तथा सुमन कॉलोनी चंबा के लोगों ने धरना स्थल पर मांगे माने जाने के लिए नारेबाजी भी की और यथा समय अपनी मांगों को शीघ्र पूरा करने के लिए शासन और प्रशासन से गुजारिश की। चंबा चौक पर धरना आयोजित होने के कारण पुलिस प्रशासन का सहयोग बना है और आवागमन सुचारू रूप से पुलिस प्रशासन और आंदोलनकारी स्वयंसेवी भी सहयोग कर रहे हैं।

संघर्ष समिति के दिनेश भंडारी, रघुवीर रावत, दर्मियान भंडारी, दिनेश सकलानी, विनोद बडोनी,भगवती बडोनी आदि ने शासन प्रशासन से समस्या के समाधान किए जाने की अपील की।

कहा कि यदि उनकी जुनून मांग मानने की विलंब किया गया और आंदोलन उग्र रूप धारण करता है तो इसकी समस्त जवाबदेही शासन और प्रशासन की होगी। लंबे समय से वह इस मांग के लिए निवेदन कर चुके हैं और आंदोलन के लिए उन्हें बाध्य होना पड़ा है। समाचार लिखे जाने तक कोई सक्षम अधिकारी अभी धरना स्थल पर नहीं आये हैं।

Comment