स्वरोजगार के साथ अन्य लोगों को रोजगार,  जितना ऊंचा कद-उससे भी ऊंची सोच, समर्पण और क्रियात्मकता का नाम है प्रदीप कोठारी 

स्वरोजगार के साथ अन्य लोगों को रोजगार,  जितना ऊंचा कद-उससे भी ऊंची सोच, समर्पण और क्रियात्मकता का नाम है प्रदीप कोठारी 
play icon Listen to this article

देवभूमि उत्तराखंड में अनेकों ऐसी प्रतिभाएं हैं, जो अपनी इच्छाशक्ति के बलबूते स्वरोजगार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। स्वरोजगार के साथ-साथ अनेकों लोगों को रोजगार इनके द्वारा प्रदान किया जा रहा है। ऐसे ही एक उभरते हुए युवा हैं- चंबा प्रखंड के श्री प्रदीप कोठारी।

सरहद का साक्षी @कवि:सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’

साढ़े छ फुट के करीब लंबाई, उम्र तीस साल के करीब।किशोरावस्था से ही अपने हुनर के बलबूते अनेक क्षेत्रों में कीर्तिमान स्थापित करने जा रहे हैं। विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा प्राप्त श्री प्रदीप कोठारी, सामुदायिक रेडियो में कार्यरत रहे। कुछ समय  पत्रकारिता की। बाद में कृषि कार्यों में भी भाग्य आजमाया। जैविक खेती की ओर ध्यान दिया और आज उनकी विजन सोसाइटी/संस्थान एक जाना पहचाना नाम है।

वह अनेक लोगों को रोजगार के साथ-साथ प्रशिक्षण मुहैया करा रहे हैं है। 10 वर्ष पहले श्री प्रदीप कोठारी ने ‘विजन सोसायटी’ अपने एनजीओ के द्वारा कार्य शुरू किया। कंप्यूटर ट्रेनिंग, विजन होटल मैनेजमेंट, पर्यटन विकास के लिए काटेज/हट्स निर्माण और संचालन,और कल ही जॉब्स बाजार डॉट कॉम आपकी वेबसाइट का विधिवत उद्घाटन किया।

श्री प्रदीप कोठारी एक दार्शनिक मिजाज के ही व्यक्ति नहीं है बल्कि दृढ़ इच्छा शक्ति और कुछ नया करने के लगन उनके मन में जन्मजात है। कुछ समय पूर्व रोड एक्सीडेंट में वे बाल-बाल बचे। अपनी इच्छाशक्ति के बलबूते वह अपने मिशन में लगे रहे। कोरोना काल में भी उन्होंने अपने उत्साह को कम नहीं होने दिया। अपने विजन को आगे बढ़ाने में प्रयासरत रहे हैं।

इसी का परिणाम है कि इतनी छोटी उम्र में वह सैकड़ों छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ, अन्य कार्यों में भी युवाओं को रोजगार प्रदान करते आ रहे हैं। श्री प्रदीप कोठारी की लगन, कर्तव्यनिष्ठा, नवाचार, विस्तृतत सोच और स्वरोजगार की पहल के लिए हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here