पेयजल उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु नई टिहरी में कन्ट्रोल रूम स्थापित, इस नम्बर पर 01376- 232154 करने कॉल

उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु नई टिहरी में कन्ट्रोल रूम स्थापित, इस नम्बर पर 01376- 232154 करने कॉल
उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु नई टिहरी में कन्ट्रोल रूम स्थापित, इस नम्बर पर 01376- 232154 करने कॉल
play icon Listen to this article

अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान सतीश नौटियाल ने बताया कि ग्रीष्मकाल की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए पेयजल उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु शाखा कार्यालय नई टिहरी में एक कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी है। जो प्रातः 8.00 बजे से सायं 8.00 बजे तक संचालित रहेगा। जिसका दूरभाष नम्बर 01376- 232154 है।

सरहद का साक्षी, नई टिहरी 

उन्होंने नई टिहरी शाखान्तर्गत सभी उपभोक्ताओं से अपील की है कि पेयजल से सम्बन्धित समस्या तथा अपनी पाइप लाइन लीकेज एवं सीवर लाइन से सम्बन्धित शिकायतों को उक्त कन्ट्रोल रूम के दूरभाष पर अवगत करायें।

इसके अलावा जनपद के अन्य उपभोक्ताओं द्वारा अपने क्षेत्रीय अभियन्ताओं के मोबाईल नम्बर पर भी शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। जिस हेतु नई टिहरी प्रवीण ममगाई 9457643739, नई टिहरी सीवर महावीर सिंह राणा 8979202166, चम्बा विपिन कुमार 9456535959, नरेन्द्रनगर विनोद चमोली 8126900807, गजा मुनेन्द्र सिंह सरियाल, 8171109436, जाखणीधार विनय बगियाल 7088526113, नैनबाग-जौनपुर अरविन्द सजवाण 8171148141, थत्यूड़-जौनपुर रवित शाह 9389719705, प्रतापनगर अभिषेक शाह 8755969748 तथा थौलधार राजवीर सिंह महर 9627833598 के मोबाईल नम्बरों पर फोन कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। वहीं उन्होने यह भी बताया कि यदि किसी उपभोक्ता की शिकायत का समाधान न हो तो नई टिहरी स्थित कन्ट्रोल रूम अथवा उनके मोबाईल नम्बर 9410071076 या टोल-फ्री नम्बर 18001804100 नम्बर पर सूचित कर सकते हैं।

उन्होंने जनपद के सम्मानित पेयजल उपभोक्ताओं से अपील की है कि पेयजल के महत्व दृष्टिगत रखते हुए अपने घरों एवं स्टैण्ड पोस्टो की टोंटियों को पानी भरने के बाद अवश्य बंद करने, अपने घरों में सिंचाई एवं निर्माण कार्यों पर पेयजल का उपयोग न करने, पेयजल श्रोतों जलाशयों एवं पाइप लाइन पर अनावश्यक छेड़खानी न करने, अपने घर की पेयजल टंकियों पर फ्लोट वॉल्ब अनिवार्य रूप से लगाने तथा पेयजल पाइप लाइन पर टुल्लू पम्प का प्रयोग न करने की भी अपील की है।