श्रीनगर में PM की चुनावी सभा, बोलेः बाबा केदार ने मुझे पुकारा और मैं यहां सीधे चला आया, गढ़वाली में बोले PM

“मकान केवल ईंट, सीमेंट से तैयार ढांचा नहीं बल्कि इससे हमारी भावनाएं व आकांक्षाएं जुड़ी होती हैं: PM मोदी
play icon Listen to this article

श्रीनगर गढ़वाल स्थित एनआईटी उत्तराखंड के मैदान में चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गढ़वाली भाषा में अभिवादन के साथ अपने भाषण की शुरुआत की। कार्यक्रम स्थल तालियों और नारेबाजी से गूंज उठा।

[su_highlight background=”#880e09″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, श्रीनगर (पौड़ी)[/su_highlight]

प्रधानमंत्री ने कहा कि चुनाव मैदान में होने के बावजूद पूर्व में मैं देवभूमि आया। देवभूमि की माटी को माथे लगाने का मन था। बाबा केदार ने मुझे पुकारा और मैं यहां सीधे चला आया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज श्रीनगर (गढ़वाल) में जनसभा को गढ़वाली बोली में संबोधन की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि वर्चुअल रूप से संवाद में भी मेरा मन उत्तराखंड में रहता था। पिछले लोकसभा में खुद का चुनाव होने के बावजूद मुझे बाबा केदार ने बुलाया और मैं चला आया था। प्रधानमंत्री ने आल वेदर रोड और ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन को उत्तराखंड के लिए बड़ी उपलब्धि बताया। प्रधानमंत्री ने कहा, प्रदेश के अलग अलग हिस्सों में हेली सर्विस शुरू की जा रही है। उत्तराखंड को केंद्र सरकार के बजट का बहुत बड़ा लाभ मिलेगा। उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों के लिए बजट में पर्वतमाला योजना की घोषणा। पहाड़ों में आवागमन के लिए रोपवे सुविधा का निर्माण होगा। प्रदेश के सीमांत इलाकों को कांग्रेस में जान बूझकर विकास से दूर रखा, उन इलाकों के लिए वाइब्रेंट योजना शुरू होगी।

पीएम ने कहा, देवभूमि का विकास, आस्था, संस्कृति का संरक्षण भाजपा का संकल्प। केदार धाम में पुनर्निर्माण कार्य 2017 मे शुरू किए, ज्यादातर पूरे हो चुके। बदरीनाथ धाम के विकास के लिए भी कई सौ करोड़ की योजना।
प्रधानमंत्री ने कहा पांच साल में डबल इंजन सरकार ने इतना काम किया कि ब्रेक लगाने वालों को भी अब वही वादे करने पड़ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा केंद्र और राज्य में कांग्रेस की सरकार थी, तब उत्तराखंड को डबल ब्रेक लगाकर पीछे धकेला गया। कांग्रेस सिर्फ ब्रेक लगाना जानती है। 2014 में एक ब्रेक हटा केंद्र में भाजपा आई और 2017 में दूसरा ब्रेक हटा, उत्तराखंड में भी भाजपा आई। डबल इंजन की सरकार आते ही उत्तराखंड तेजी से विकास की पटरी पर दौड़ने लगा।

श्री मोदी बोले, भाजपा देहरादून में सैनिक सम्मान में सैन्य धाम बना रही है। उत्तराखंड में सदियों से चारधाम हैं, लेकिन अब पांचवा धाम भी है, सैन्य धाम। उत्तराखंड बनाने का संकल्प यहां के लोगों ने और भाजपा ने मिलकर पूरा किया। दुर्भाग्य से कई साल उत्तराखंड की कमान उनके हाथ में रही, जिन्होंने उत्तराखंड को अस्तित्व में आने से रोका था। प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस की सोच सत्ता के सुख तक सीमित, वे बलिदान और त्याग को नही समझ सकते। वन रैंक, वन पेंशन पर कांग्रेस ने झूठ बोला, भाजपा ने कर दिखाया।

कांग्रेस पर साधा निशाना, कहाः सेना पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस आज जनरल रावत के नाम का सहारा ले रही है

उन्होंने ने कहा कांग्रेस ने सेना से सबूत मांगे। इन्होंने जनरल रावत को सीडीएस बनाने पर विरोध किया। उन्हें सड़क का गुंडा तक कहा। आज वोट के लिए जनरल रावत के नाम का सहारा ले रहे हैं। कांग्रेस को जवाब देने की जिम्मेदारी उत्तराखंड के लोग की है। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा, जनरल रावत का फोटो लगाकर प्रचार कर रही कांग्रेस हमेशा सेना पर सवाल उठाती रही है। उन्होंने देश को दिखाया कि उत्तराखंड के लोगों के पास न केवल पहाड़ जैसा साहस होता है बल्कि हिमालय जैसी ऊंची सोच भी होती है।

पीएम ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि उत्तराखंड के लोग कभी भूल नहीं सकते। सेना को लेकर इन लोगों का रवैया क्या रहा है। सेना पर ही सवाल उठाते रहे हैं। मेरे मन में एक गहरी तकलीफ़ भी है। मुझे ये ज़िक्र इसलिए भी करना पड़ रहा है क्योंकि काँग्रेस पार्टी कभी जनरल बिपिन रावत जी को सड़क का गुंडा कहकर अपमानित कर रही थी। आज अपने प्रचार में उन्हीं के कट आउट लगाकर, उनकी फोटो लगाकर वोट मांग रही है। कुर्सी के लिए कोई इस सीमा तक जा सकता है, मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा।

कहा- उत्तराखंड के लोग ने हमेशा सजग प्रहरी की तरह देश की रक्षा की है। स्व. जनरल बिपिन रावत को याद कर भावुक हुए। कहा, उत्तराखंड के वासियों में हिमालय जैसी हिम्मत और सोच है। उन्होंने सीडीएस स्व. जनरल बिपिन रावत का स्मरण भी किया।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- पिछले लोकसभा में खुद का चुनाव होने के बावजूद मुझे बाबा केदार ने बुलाया और मैं चला आया था। इसका कारण देवभूमि के प्रति मेरी भक्ति, ये देवभूमि है और वीरभूमि भी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीनगर स्थित एनआईटी उत्तराखंड के मैदान में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे। यहां उन्होंने गढ़वाली में सबसे पहले अपना संबोधन शुरू किया। पीएम ने कहा कि चुनाव मैदान में होने के बावजूद पूर्व में मैं देवभूमि आया। देवभूमि की माटी को माथे लगाने का मन था। बाबा केदार ने मुझे पुकारा और मैं यहां सीधे चला आया। उन्होंने कहा कि वीरांगना तीलू रौतेली, पंथ्या दादा, माधो सिंह भंडारी जैसे वीरों की भूमि को मैं प्रणाम करता हूं।

कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र उत्तराखंड का विकास करेगा। कल ही उत्तराखंड भाजपा ने अपना संकल्प पत्र जारी किया है। ये संकल्प पत्र, इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में बड़ी भूमिका निभाएगा। इसमें उत्तराखंड के विकास के लिए, यहां के युवाओं, महिलाओं, किसानों, सभी के लिए नए संकल्प लिए गए हैं।

उत्तराखंड के लोगों ने हमेशा सजग प्रहरी की तरह की है देश की रक्षा

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मनोरथ सच्चा हो तो बाबा केदारनाथ और बद्रीनाथ जी सच्ची इच्छा को पूरा कर ही देते हैं। उनके आशीर्वाद से चुनाव आयोग ने भी और मौसम ने भी मुझे आपके बीच आने और आपके दर्शन करने का सौभाग्य दिया। पीएम ने कहा कि उत्तराखंड के लोगों ने हमेशा सजग प्रहरी की तरह देश की रक्षा की है। आज पौड़ी गढ़वाल के ऐसे ही वीर सपूत जनरल बिपिन रावत जी की स्मृतियाँ मुझे भावुक कर रही हैं।

इतने सालों तक ये सत्ता में थे, लेकिन ‘वन रैंक वन पेंशन’ को लेकर झूठ बोलते रहे। ये हमारी ही सरकार है जिसने ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की व्यवस्था लागू की। ये भी भाजपा सरकार ही है, जो देहरादून में उत्तराखंड के शहीदों के सम्मान में ‘सैन्य धाम’ बना रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब अलग उत्तराखंड राज्य बना था, अटल बिहारी वाजपेयी ने आपके सपनों को साकार करने के लिए बड़ा महत्वपूर्ण निर्णय लिया था। उत्तराखंड के लिए सपनें भी हमने मिलकर देखे थे। जिन्हें आस्था ही नहीं, उन्हें भी अब चारधाम की याद क्यों आ रही

जब ये सत्ता में थे, तब इनको कभी ‘चारधाम’ की याद नहीं आई। जिन्हें यहां आस्था ही नहीं, उन्हें भी अब चारधाम की याद क्यों आ रही है? क्योंकि, उन्हें ये कुर्सी हासिल करने का रास्ता लग रहा है। जबकि भाजपा के लिए चारधाम और देवभूमि का विकास आस्था, संस्कृति और जनसेवा का विषय है।