राजकीय महाविद्यालय पाबों में ‘आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम’ के अंतर्गत “नमामि गंगे नदी उत्सव समारोह” का किया आयोजन

play icon Listen to this article

राजकीय महाविद्यालय पाबौ में दिनांक 20 दिसंबर 2021 को ‘आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम’ के अंतर्गत केंद्रीय सरकार के कार्यक्रम “नमामि गंगे नदी उत्सव समारोह” का आयोजन किया गया|

[su_highlight background=”#091688″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी @विक्रम सिंह रावत, पौड़ी[/su_highlight]

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष राजेंद्र टम्टा रहे तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य श्रीमती आराधना करें तथा पीटीए अध्यक्ष श्री गुसाईं जी मौजूद रहे।

राजकीय महाविद्यालय पाबों में 'आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम' के अंतर्गत "नमामि गंगे नदी उत्सव समारोह" का किया आयोजन

[irp]कार्यक्रम की शुरुआत महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ•आर •के• उभान तथा मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया| इसी के साथ छात्र-छात्राओं द्वारा सर्वप्रथम सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गई तत्पश्चात नमामि गंगे थीम सॉन्ग प्रस्तुत किया गया| कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ• मुकेश शाह द्वारा छात्र छात्राओं को पर्यावरण एवं नदी संरक्षण के बारे में बताया गया।

[irp]उन्होंने भारत सरकार की नमामि गंगे योजना के बारे में भी छात्र छात्राओं को अवगत करवाया| कार्यक्रम के संरक्षक प्राचार्य डॉ• आर•के• उभान द्वारा छात्र छात्राओं को इस कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के लिए प्रोत्साहित किया गया तथा नमामि गंगे जुड़ा नारा भी दिया गया| इसी के साथ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री राजेंद्र प्रसाद टम्टा जी द्वारा गंगा एवं इसकी सहायक नदियों के संरक्षण के लिए प्रमुख रूप से कार्य करने को कहा गया और इस हेतु महत्वपूर्ण कदम उठाने का निर्णय लिया गया| कार्यक्रम की समारोहक डॉ.सुनीता चौहान द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों, प्राध्यापकों, छात्र-छात्राओं तथा कर्मचारियों को स्वच्छता शपथ दिलाई गई|

इस कार्यक्रम में विभिन्न इंटर कॉलेज तथा राजकीय महाविद्यालय पाबौ के छात्र छात्राओं के बीच पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें अलग-अलग कॉलेजों से आए अध्यापक निर्णायक मंडल में शामिल रहे| प्रतियोगिता का परिणाम नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतिम दिवस दिनांक 22 दिसंबर 2021 को घोषित किया जाएगा|

[irp]कार्यक्रम का समापन सभी मौजूद अतिथिगण, शिक्षकगण, कर्मचारीगण एवं छात्र छात्राओं द्वारा राष्ट्रगान कर किया गया|