चिरबटिया: महिलाओं द्वारा मिट्टी खोदने के दौरान हुई घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश

डेंगू रोकथाम हेतु विशेष अभियान चलाकर अपने संसाधनों का प्रयोग करते हुए आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें अधिकारी: जिलाधिकारी
play icon Listen to this article

जिला मजिस्ट्रेट टिहरी गढ़वाल इवा आशीष श्रीवास्तव ने दिनांक 03 मार्च, 2022 को समय लगभग 15ः13 बजे चिरबटिया के समीप ग्राम थर्ती, तहसील घनसाली टिहरी गढ़वाल की सीमान्तर्गत चिरबटिया-डाक बगला मोटर मार्ग के निकट स्थित वन विभाग की भूमि पर महिलाओं द्वारा मिट्टी खोदने के दौरान हुई घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिये।

[su_highlight background=”#880e09″ color=”#ffffff”]सरहद का साक्षी, नई टिहरी [/su_highlight]

तहसीलदार घनसाली के द्वारा अवगत कराया गया कि 03 मार्च, 2022 को समय लगभग 15ः13 बजे दूरभाष पर स्थान चिबटिया के निकट मिट्टी के मलबे में तीन महिलाओं के दबने की सूचना प्राप्त हुई। सूचना प्राप्त होते ही वह स्वयं तथा थानाध्यक्ष घनसाली तथा चिकित्सा दल मय एम्बुलेंस के राहत एवं बचाव कार्य हेतु घटनास्थल पर रवाना हुए। घटनास्थल पर पूर्व ही उपजिलाधिकारी जखोली मय राहत एवं बचाव दल के साथ उपस्थित थे तथा उनके द्वारा स्थानीय ग्रामीणों के साथ घटनास्थल पर राहत एवं बचाव कार्य प्रारम्भ कर शवों को निकाला गया। मौके पर उपस्थित राजस्व टीम जखोली द्वारा उक्त 03 मृतक महिलाओं की शिनाख्त की गई, जिनमंे आशा देवी पत्नी दिनेश सिंह उम्र 40 वर्ष, माला देवी पत्नी दर्शन सिंह उम्र 52 वर्ष तथा सोना देवी पत्नी पूर्ण सिंह उम्र 48 वर्ष निवासी लुठियाग पट्टी लस्या तहसील जखोली जिला रूद्रप्रयाग के हैं।

जिला मजिस्ट्रेट टिहरी गढ़वाल ने इस घटना की मजिस्ट्रीयल जांच हेतु उप जिला मजिस्ट्रेट घनसाली को जांच अधिकारी नामित करते हुए आदेशित किया कि घटन के प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष कारणों की जांच कर मजिस्ट्रीयल जांच आख्या 15 दिन के भीतर उनके समक्ष प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें।