सोमवार , जुलाई 4 2022
Breaking News
ओनली वनअर्थ थीम के आधार पर महाविद्यालय पोखरी क्वीली में वृक्षारोपण के साथ मनाया विश्व  पर्यावरण दिवस

ओनली वनअर्थ थीम के आधार पर महाविद्यालय पोखरी क्वीली में वृक्षारोपण के साथ मनाया विश्व  पर्यावरण दिवस

play icon Listen to this article

राजकीय महाविद्यालय पोखरी क्वीली की प्राचार्य डॉ0 शशिबाला वर्मा द्वारा पर्यावरण संरक्षण व वनों की सुरक्षा को लेकर, जल श्रोतो में घटते जल स्तर को बढ़ाने के लिए चौड़ी पत्ती दार वृक्षों का करे रोपण जैसी ज्ञानवर्धक जानकारी से छात्र व छात्राओं को अवगत कराकर बृक्षारोपण किया गया।

सरहद का साक्षी, नरेंद्र बिजल्वाण @पोखरी क्वीली

विधानसभा नरेन्द्रनगर के अंतर्गत पट्टी क्वीली के राजकीय महाविद्यालय पोखरी की प्राचार्य डॉ.शशिबाला वर्मा ने घटते वन और बिगड़ते पर्यावरण के बीच जंगलों में हो रही वनाग्नि की घटनाओं से राख में तब्दील हो रहे वनों को बचाने के प्रति गहरी चिंता जताते हुए, मुहिम चलाने की ठानी है।

उन्होंने महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं व सभी स्टाफ़ को काम के प्रति निष्ठा रखने और उसे धरातल पर उतारने के प्रति ध्यान केन्द्रीत कराते हुए उन्होंने विश्व पर्यावरण दिवस के इस वर्ष 2022 की थीम –ओनली वनअर्थ थीम के आधार पर महाविद्यालय ने पर्यावरण दिवस मनाया।

🚀 यह भी पढ़ें :  शिखर स्कालर्स ऐकडमी हाईस्कूल गजा का परीक्षाफल शत प्रतिशत, छात्र शाहिल रावत ने 93% अंक किए हासिल

इस कार्यक्रम में एन.एस.एस. कार्यक्रम अधिकारी डॉ. राम भरोसे द्वारा स्वयंसेवियों सहित लक्ष्य गीत गाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने विश्व पर्यावरण दिवस के इतिहास पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने स्वयंसेवियों को पर्यावरण से प्रेम करने की बात कही और पर्यावरण का स्वस्थ रहना मानव जीवन के लिए कितना ज़रूरी है इस पर विस्तार से अपने अनुभव साझा किए।

कार्यक्रम के समापन के अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ० शशि बाला वर्मा द्वारा अपने सम्बोधन में महाविद्यालय व आस पास जल स्रोतों के समीप में वृक्षारोपण करने हेतु ध्यान केंद्रित करने पर बल दिया।

उन्होंने महाविद्यालय परिवार और स्वयंसेवियों को पर्यावरण दिवस के अवसर पर शुभकामनाएँ और बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि पर्यावरण संरक्षण की महत्ता आज दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, क्योंकि प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप में पर्यावरण को बहुत नुक़सान पहुँचाया जा रहा है। इस नुकसान को बचाने के लिए सभी को संकल्पित होकर बृक्षारोपण करना चाहिए। निरंतर जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी गम्भीर समस्या से हम से रोज रूबरू हो रहे हैं। यदि हम अपनी भावी पीढ़ी को स्वस्थ पर्यावरण और वातावरण देना चाहते हैं, तो हमें कम से कम संकल्पित होकर अपने स्तर से एक-एक पेड़ अवश्य लगाना चाहिए और उस पेड़ की देखभाल करने की ज़िम्मेदारी हमें खुदबखुद लेनी चाहिए।

🚀 यह भी पढ़ें :  विश्व पर्यावरण दिवस: जिला कारागार नई टिहरी में वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित, कारागार के सार्थक प्रयासों से पलटी जेल की काया: DM

सम्बोधन की समाप्ति के उपरांत महाविद्यालय परिवार और एन.एस.एस. स्वयंसेवियों द्वारा महाविद्यालय परिसर में स्वच्छता कार्यक्रम चलाय गया, तदोपरान्त प्राचार्य द्वारा स्वयंसेवियों की पर्यावरण जागरूकता हेतु रैली को झंडी दिखाकर भेजा गया। कार्यक्रम अधिकारी के नेतृत्व में स्वयंसेवियों की पर्यावरण जागरूकता रैली महाविद्यालय परिसर से निकाली गयी।

🚀 यह भी पढ़ें :  विश्व पर्यावरण दिवस पर तल्ला चंबा में स्वच्छता अभियान, वृक्षारोपण और पर्यावरण संगोष्ठी आयोजित

इस कार्यक्रम में महाविद्यालय परिवार के डॉ. सरिता देवी, डॉ. मुकेश सेमवाल, डॉ. बंदना सेमवाल, डॉ. सुमिता पँवार, महाविद्यालय की वरिष्ट सहायका रचना राणा, रेखा नेगी, अंकित कुमार, अमिता, नरेंद्र बिजल्वाण, नरेश रावत, दीवान सिंह, सुनीता असवाल, मूर्ति लाल आदी की उपस्थित रही है।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

InShot 20220701 172537422

भिलंगना के घुत्तु-गंगी क्षेत्र में पर्यटन और साहसिक खेलों की अपार सम्भावनाओं के मद्देनजर जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव की एक अभिनव पहल

Listen to this article विकासखण्ड भिलंगना के घुत्तु-गंगी क्षेत्र में पर्यटन और साहसिक खेलों की …

error: Content is protected !!