अगस्त्यमुनि महाविद्यालय के NSS स्वयंसेवकों ने स्वच्छता रैली निकालकर चलाया जन जागरूकता अभियान 

अगस्त्यमुनि महाविद्यालय के NSS स्वयंसेवकों ने स्वच्छता रैली निकालकर चलाया जन जागरूकता अभियान 
play icon Listen to this article

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवसीय विशेष शिविर (दिन-रात) के चतुर्थ दिवस में सर्वप्रथम स्वयंसेवकों द्वारा प्रार्थना स्थल की स्वच्छता कार्य किया गया।

सरहद का साक्षी, अगस्त्यमुनि

इसके पश्चात ईश वंदना, राष्ट्रगान, लक्ष्य गीत, व्यायाम इत्यादि गतिविधियां आयोजित हुई। तत्पश्चात स्वयंसेवकों द्वारा चयनित स्थल गंगानगर में वृहद स्वच्छता अभियान चलाया गया। वहां स्वयंसेवियों ने गंगानगर में एल.एंड.टी. से लेकर अगस्त्य पब्लिक स्कूल गंगानगर तक स्वच्छता रैली निकालकर जन जागरूकता अभियान चलाया और फिर वहाँ झाड़ी उन्मूलन कार्य एवं साफ-सफाई की।

अपराहन के बौद्धिक सत्र में डॉ० तनुजा मौर्य ने संस्कृति एवं शिक्षा विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक समाज की शिक्षा का स्वरूप समाज की संस्कृति पर निर्भर करता है। शिक्षा के अभाव में कोई भी समाज न तो संस्कृति को सुरक्षित रख सकता है और न ही उसका विकास कर सकता है, अर्थात शिक्षा और संस्कृति एक दूसरे के पूरक है।

चतुर्थ दिवस के अवसर पर वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ० निधि छाबड़ा, कार्यक्रम अधिकारी डॉ० जितेंद्र सिंह, कार्यक्रम अधिकारी डॉ० अंजना फर्स्वाण, डॉ० दलीप सिंह बिष्ट, डॉ० लक्ष्मी दत्त गार्ग्य, डॉ० ममता शर्मा, डॉ० दीप्ति राणा, डॉ० ममता थपलियाल, डॉ० कनिका बड़वाल, डॉ० सुनीता मिश्रा सहित श्रीमती विनीता रौतेला, श्री ताहिर अहमद, श्री संदीप सिंह राणा एवं समस्त स्वयंसेवी उपस्थित रहे।
अंत में स्वयंसेवकों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई और शिविर के अंतर्गत अपने अनुभव साझा किए गए।