किल्याखाल रथी देवता मेला संपन्न, आज शुरू हुआ तीन दिवसीय वीसी गबर सिंह मेला चम्बा

किल्याखाल रथी देवता मेला, वीसी गबर सिंह मेला, चम्बा
play icon Listen to this article

कल रथी देवता का मेला था। थौलधार प्रखंड के किल्याखाल में वर्षो से यह मेला गतिमान है। मैं तो दो दशक से अधिक समय तक तक रथी देवता के मेले का साक्षी रहा हूं। क्षेत्रपाल देवता के रूप में उसकी कृपा दृष्टि हमेशा बनी रहे। 22 वर्ष तक राजकीय इंटर कॉलेज कांडीखाल में सेवारत रहा। सुख,सम्मान, समृद्धि और यश प्राप्त किया। यह सब रथी देवता की कृपा के कारण ही संभव हो सका। हर अच्छे और बुरे समय में क्षेत्रपाल रथी देवता मेरे सम्मुख खड़ा रहा। सदा ही उसकी कृपा दृष्टि मेरे ऊपर बनी रही। कार्याध्यकता के कारण आज रथी देवता के मंदिर में माथा टेकने नहीं जा सका लेकिन प्रभु की आज्ञा होगी तो अवश्य यथाशीघ्र उसकी शरण में जाऊंगा। प्रभु को नमन करूंगा।

किल्याखाल स्थित रथी महाराज (धन सिंह देवता) क्षेत्र का सिद्ध पीठ है। उसके चमत्कार के आगे अनेक दैवीय शक्तियां भी गौण हैं। रथी देवता समस्त मनोकामना को पूर्ण करने वाला, क्षेत्र का आराध्य देव है। विशेषकर इसे ध्याणियों का देवता माना जाता है। जिसके मन में असीम श्रद्धा और विश्वास देवता के प्रति होता है, उसकी वह अवश्य ही उसकी मनोकामना पूर्ण करता है। इसका मैं प्रत्यक्ष प्रमाण हूं।
सेवानिवृत्ति के बाद एक दिन(एक अक्टूबर) मन में आया कि रथी देवता के मंदिर में दर्शन करने चला जाऊं! यद्यपि उस समय श्राद्ध पक्ष था। अपने अहंकार या भूलवश मैं देवता के मंदिर में दर्शन करने के लिए जाना चाहता था। ठीक कांडीखाल से पहले ही दुर्घटना हो गई और मैं मंदिर में न जा सका। उस दिन भी रथी देवता ने मेरे प्राणों के रक्षा की। ढाल की तरह पैराफिट बनकर संम्मुख खड़ा हो गया और जान बचायी है।

22 वर्षों तक रथी देवता की शरण में रहा हूं और उसके पुत्र समान में देवता की उपासना करता हूं। इसमें मेरा बाल भी बांका नहीं हो सका। यह किसी चमत्कार से कम नहीं था। जिस स्थान पर अनेकों जीवन लीलाएं दुर्घटना से समाप्त हो चुकी हों, उस स्थान पर मेरा सुरक्षित रह जाना, सब उसे रथी देवता की कृपा का फल है।
रथी देवता जैसे कि धन सिंह देवता के नाम से भी जाना जाता है। संपूर्ण थौलधार प्रखंड के अलावा, दूरदराज के क्षेत्रों का भी कुलदेवता है। ग्राम देवता है। ईष्ट देवता है। क्षेत्रपाल देवता है।

धर्म, शास्त्र और पुराणों में रथी देवता के बारे में अनेक कथाएं प्रचलित हैं। उन कथाओं में मैं न जाकर, आराध्य देव धन सिंह देवता, रथी महाराज को अपनी भावनाओं को समर्पित करते हुए मन्नत मांगता हूं कि उसकी कृपा दृष्टि सदैव बनी रहे। समय-समय पर वह अपनी शरण में आने की आज्ञा देता रहे, ताकि मैं सपरिवार उसके शरण में जा सकूं क्योंकि मेरी भावनाएं उस सिद्ध पीठ से जुड़ी हुई है।
जब तक जीवन रहेगा, तब तक वर्ष में एक बार रथी देवता के दर्शन करने के लिए जाऊंगा। भले ही यह आज रथी देवता के मेले के अवसर पर समय अभाव के कारण नहीं जा पाया। प्रभु मुझे क्षमा करना और जल्दी ही पनी शरण में बुलाना।जनकल्याण में मुझे भी सम्मिलित कर देना। मनोकामना को पूर्ण करना। जैसे कि तू आज तक करते आया है, यही मेरी मन्नत है।

आज शुरू हुआ तीन दिवसीय वीसी गबर सिंह मेला चम्बाआज से 03 दिन तक चंबा में वी सी गबर सिंह मेला गतिमान रहेगा। रीथ सेरेमनी, गार्ड ऑफ आनर्स के बाद कल से ही गबर सिंह नेगी का मेला चंबा में आयोजित होगा। श्री देव सुमन रा. इंटर कॉलेज प्रांगण में इस भव्य मेले का आयोजन होगा। परम पूज्य मंगला माता जी और भोले जी महाराज इस मेले में शरीक होंगे। यूं तो गवर्नर साहब को भी इस मेले में आमंत्रित किया गया था लेकिन अत्यधिक व्यस्तता के कारण उन्होंने मेले में न पहुंच पाने की अपनी सूचना हमें प्राप्त करा दी है। इसके अलावा माननीय क्षेत्रीय विधायक, गणमान्य नेता, जनप्रतिनिधि और सम्मानित नागरिक इस मेले में सम्मिलित होंगे। वीसी गबर सिंह नेगी को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

मैं मेला समिति का सदस्य होने के नाते अपने समस्त सहयोगियों, अध्यक्ष सहित चंबा निवासियों का शुक्र अदा करता हूं, जो कई दिनों से मेले को सुव्यवस्थित और सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए प्रयासरत हैं। जिलाधिकारी टिहरी, एसएसपी एन एस भुल्लर साहब, समस्त अधिकारी और कर्मचारीगण, व्यापार मंडल और स्थानीय जनता, नगर पालिका परिषद चंबा, नगर क्षेत्र चंबा के समस्त कार्यालयाध्यक्ष और विभागाध्यक्ष, सभी का शुक्रगुजार हूं जो कि हर संभव मेले को मजबूत बनाने का प्रयास कर रहे हैं। अपेक्षा की जाती है कि गत वर्षो की भांति इस बार भी तीन दिवस वी सी गबर सिंह मेला धूमधाम से श्री देव सुमन अटल आदर्श राजकीय इंटर कॉलेज चंबा में संपन्न होगा। आदरणीय मंगला माता और हंस फाउंडेशन के भोले महाराज का आशीर्वाद हमारे साथ है और हमेशा बना रहेगा।

द्वितीय विश्वयुद्ध के महानायक हीरो ऑफ न्यू सैफल वीसी गबर सिंह नेगी को हम अपनी श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए, मेले के सफल आयोजन के लिए अग्रिम शुभकामनाएं प्रेषित करते हैं और आशा करते हैं कि कि बड़ी संख्या में नागरिक मेले में शिरकत करेंगे और अपने वीर महानायक को श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे।

@कवि: सोमवारी लाल सकलानी, निशांत