गुरूवार , जुलाई 7 2022
Breaking News
Enclosement

टिहरी बांध के मूल विस्थापितों के साथ हो रहा अन्याय, भू माफिया टिहरी विस्थापितों की जमीन औने पौने दामों में खरीदकर बेच रहे

play icon Listen to this article

पत्रकार ओम रतूड़ी ने जिलाधिकारी टिहरी एवं पुनर्वास निदेशक टिहरी बांध को पत्र लिखकर कहा कि राष्ट्रीय हित में अपनी भूमि, मकान देने वाले टिहरी शहर के मूल विस्थापित आज संकट में हैं, वे अन्याय का शिकार हो रहे हैं। भू माफिया, टिहरी विस्थापित की जमीन औने पौने दामों में खरीदकर बेच रहे हैं।

जिसका कारण है कि रजिस्ट्री न होने के कारण वे भवन निर्माण व मरम्मत के लिये बैंक से ऋण नहीं ले पाते हैं। इसलिए वे अपनी प्रोपर्टी को औने पौने दामों में बेचने के लिये मजबूर हो जाते हैं।
पता चला कि कुछ विस्थापितों ने अपने प्लाट सरेंडर किये हैं, उनको फर्जी आवंटन भी किया है, हो रहा है।
ऐसे में एक वरिष्ठ पत्रकार जो धन की कमी औऱ समय न होने के कारण अपने आवंटित लगभग 1.5 करोड़ के प्लाट पर अपना मकान नहीं बनवा पाए, आज उनके प्लाट के पिछवाड़े पर, जहां प्रतापनगर विधायक विक्रम सिंह नेगी का मकान बना है, देहरादून टिहरी नगर, अजबपुर कलां स्थित उस ओर इ3 प्लाट वाले एक सरकारी अधिकारी ने अपना कच्चा निण करना शुरू कर दिया है। उन्होंने डीएम टिहरी और पुनर्वास निदेशक के नाम पत्र भेजा है।

🚀 यह भी पढ़ें :  टिहरी जिले के वरिष्ठ भाजपा नेता एवं राज्य आंदोलनकारी सुन्दर सिंह चौहान पंचतत्व में विलीन
🚀 यह भी पढ़ें :  उत्तराखंड, टिहरी की काशी सावली गांव के समीप अवस्थित सिद्ध शक्तिपीठों में है मां पुण्यासिनी मंदिर, नवरात्रि पर दर्शन करके मिलता है पुण्यफल

कहा आखिर कोई कैसे बाद में आया खरीददार मूल आवंटी के प्लाट पर बाउंड्री वाल बना सकता है।
मुझे मेरा पूरा प्लाट इसलिये दिया जाए क्योंकि e1, e2 और e3 पर निर्माण नहीं है और मेरा प्लाट e2 क्रम में e3 से पहले है।

पत्रकार ओम रतूड़ी ने कहा कि मेरे प्लाट का सीमांकन करवा कर विभाग अपना निशान लगवाए।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

IMG 20220706 WA0030

खानपुर विधायक के पत्रकार मित्र की भूमि पर कब्जा

Listen to this article खानपुर के दबंग विधायक और पत्रकार उमेश शर्मा के पत्रकार मित्र …

error: Content is protected !!