play icon Listen to this article

SDRF टीम ने दिया ऊधमसिंह नगर के खटीमा क्षेत्र में आपदा प्रशिक्षण

राज्य आपदा परिचालन केंद्र से प्राप्त सूचना के अनुसार राज्य में आपदा प्रबंधन तंत्र प्रभावी रूप से कार्य कर रहा है। सभी सम्बन्धित विभागों के नोडल अधिकारी नियमित रूप से आपदा प्रबंधन केंद्र में उपस्थित रहकर विभागीय व्यवस्थाओं की जानकारी साझा कर रहे हैं। लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत आज कुल 56 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 44 मार्ग कल के अवरूद्ध थे अर्थात कुल 100 अवरुद्ध मार्गो में से 48 मार्गो को आज खोल दिया गया है। शेष 52 मार्ग अवरुद्ध है, जिसमें से 06 राज्य मार्ग, 04 मुख्य जिला मार्ग, 03 अन्य जिला मार्ग एवं 39 ग्रामीण मार्ग अवरूद्ध है। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के अन्तर्गत आज 25 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 113 मार्ग कल अवरूद्ध थे अर्थात कुल 138 अवरूद्ध मार्गो में से आज 47 मार्गों को खोल दिया गया है,  शेष 91 अवरुद्ध मार्गो को खोले जाने की कार्यवाही गतिमान है।

🚀 यह भी पढ़ें :  उत्तराखंड में जल्द मिलेगी e-FIR की सुविधा, घर बैठे ही दर्ज करा सकेंगे वाहन चोरी और गुमशुदा आदि की FIR

वर्तमान में राज्य राजमार्गों पर 19, मुख्य जिला मार्गो पर 11, अन्य जिला मार्गो पर 08, तथा ग्रामीण मार्गां पर 80, कुल 118 मशीने कार्य कर रही हैं। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के मार्गां पर 82 मशीने लगायी गयी है।

जल संस्थान के अन्तर्गत आपदा से पेयजल योजनाओं के क्षतिग्रस्त होने पर सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुये पुनर्स्थापना का कार्य किया जाता है, जिसमे शाखाओं एवं अन्य योजनाओं में पूर्व से कार्यरत प्रशिक्षित फिटर, बेलदार को तैनात किये जाते है। आपदा की स्थिति में, विभिन्न शाखाओं में पेयजल उपलब्ध कराये जाने हेतु 71 विभागीय टैंकर उपलब्ध हैं एवं किराये के 219 पेयजल टैंकर चिन्हित हैं। राज्य के अन्तर्गत वर्ष 2022 में दैवीय आपदा/अतिवृष्टि से वर्तमान तक कुल 649 पेयजल योजनायें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं जिनमें से 649 पेयजल योजनाओं में अस्थायी व्यवस्था से पेयजल आपूर्ति चालू कर दी गयी है।

🚀 यह भी पढ़ें :  हंस फाउंडेशन द्वारा माता श्री राजराजेश्वरी जी की जयंती सप्ताह पर उत्तराखंड में सम्मान समारोह, भिलंगना ब्लॉक सभागार घनसाली में महिला सम्मान समारोह एवं भंडारा आयोजित

ऊर्जा विभाग के अन्तर्गत राज्य के अधिकतर जनपदों में विद्युत आपूर्ति सुचारू है। जनपद टिहरी, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ क्षेत्र के अन्तर्गत भारी वर्षा के कारण कुछ गांवों में विद्युत बाधित चल रही है। जिसमें विभाग द्वारा विद्युत सुचारू करने हेतु कार्य गतिमान है। वर्तमान तक राज्य में कुल 39 ग्रामों में विद्युत बाधित थी। जिसमें से 22 ग्रामों की विद्युत आपूर्ति पूर्णरूप से सुचारू कर दिये गये हैं। शेष 17 ग्रामों में विद्युत आपूर्ति हेतु कार्य किया जा रहा है।

एस.डी.आर.एफ. के अन्तर्गत कोतवाली जोशीमठ से हेलंग में पूर्व में लापता हुए एक व्यक्ति के सम्बन्ध में सूचना दी गयी। उक्त सूचना पर एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा सम्भावित स्थानों पर सर्चिंग की गई। हरिद्वार से ऋषिकेश आते समय एक कार में सवार 03 लोग बरसाती पानी से उफान पर आई बीन नदी के बीच में फंस गए। एस.डी.आर.एफ. रेस्क्यू टीम द्वारा घटना की सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर पहुॅचकर तीनों को कार सहित सुरक्षित बाहर निकाला। एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा ऊधम सिंह नगर के खटीमा क्षेत्र में आपदा प्रशिक्षण भी दिया गया।

🚀 यह भी पढ़ें :  प्रिन्ट, इलेक्ट्रॉनिक एवं सोशल मीडिया के अलावा अन्य माध्यमों से भी विभिन्न योजनाओं की जानकारी जन-जन तक पहुंचाई जाए: विशेष प्रमुख सचिव सूचना

परिवहन विभाग के अन्तर्गत क्षेत्रीय कार्यालय की आपदा सम्बन्धी तैयारी- सभी सम्भागीय/उप सम्भागीय कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारी आपदा की स्थिति को देखते हुए हाई अलर्ट पर है।

Print Friendly, PDF & Email

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.