PCCNDT की बैठक में DM ने लिंगानुपात में सबसे न्यूनतम दस 10 गांवों की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के दिए निर्देश

play icon Listen to this article

जिला सभागार, नई टिहरी में जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल इवा आशीष श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिला सलाहकार समिति पी.सी.पी.एन.डी.टी. की बैठक आयोजित की गई।

जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को लिंगानुपात में सबसे नीचे के दस गांव की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कहा कि संवेदनशील गांवों को चिन्ह्ति कर आशा कार्यकत्रियों को प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देशित किया कि ऐसे सभी पंजीकृत सरकारी अस्पताल/निजी सेंटर जहां अल्ट्रासांउण्ड मशीन लगी हैं, वहां लिंग चयन प्रतिषेध चेतावनी बोर्ड/पोस्टर में हेल्प लाइन नम्बर तथा भू्रण लिंग जांच दोषी के संबंध में सही सूचित करने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जायेगा आदि लिखवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जहां एक्टिव ट्रैकर डिवाइस नहीं लगे हुए हैं या खराब हो चुके हैं, वहां एक्टिव ट्रैकर डिवाइस लगवाना तथा नियमित मॉनिटरिंग करना भी सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देशित किया कि गर्भधारण पूर्व और प्रसवपूर्व निदान तकनीक (लिंग चयन प्रतिषेध) अनिधिनियम के तहत जन-जागरूकता हेतु कार्य योजना बनाकर कार्य करें। कहा कि वॉल पेंटिंग, पोस्टर, वर्कशॉप आदि कार्यक्रमों के माध्यम से जागरूक कर लिंगानुपात में सुधार लाना सुनिश्चित करें।
अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एल.डी. सेमवाल द्वारा जनपद में पंजीकृत अल्ट्रासांउण्ड केन्द्र, सीटी स्केन, जनपद में हो रही डिलीवरी, रेडियोलॉजिस्ट, आईसीई एक्टिविटी के तहत किये गये कार्यो आदि के माध्यम से किये गये प्रचार-प्रसार के संबंध में जानकारी दी गई। बैठक में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम के संबंध में भी संबंधित अधिकारी द्वारा जानकारी दी गई।

बैठक में एएसपी राजन सिंह, एसीएमओ डॉ. दीपा रूबाली, सीएमएस डॉ. अमित राय, जिला विकास अधिकारी सुनील कुमार, एमओआईसी सीएचसी हिण्डोलाखाल डॉ. ए.के. चौहान, एनजीओ (बीएसएस) अवधेश कुमार, एएमए जिला पंचायत संजय खण्डूड़ी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।