कोटद्वार महाविद्यालय के इतिहास विभाग ने विभागीय परिषद के अंतर्गत किया तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन

कोटद्वार महाविद्यालय के इतिहास विभाग ने विभागीय परिषद के अंतर्गत किया तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन
play icon Listen to this article

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोटद्वार की इतिहास विभाग में विभागीय परिषद के अंतर्गत तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें बीए प्रथम वर्ष से लेकर एम.ए. तृतीय सेमेस्टर के छात्र छात्राओं ने प्रतिभाग किया छात्र छात्राओं को तात्कालिक रूप से शीर्षक उपलब्ध कराए गए तथा जिस पर उन्होंने अपने अपने विचार व्यक्त किये।

सरहद का साक्षी, कोटद्वार 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विभाग प्रभारी डॉ प्रवीन जोशी ने कार्यक्रम की रूपरेखा से उपस्थित लोगों को अवगत कराया तथा कार्यक्रम में उपस्थित प्रभारी प्राचार्य डॉ महेंद्र मौर्या, अर्थशास्त्र के प्राध्यापक डॉ अनुराग अग्रवाल एवं डॉक्टर संत कुमार तथा डा जुनीष कुमार, डॉक्टर नवरत्न सिंह एवं डा धर्मेंद्र कुमार के साथ-साथ उपस्थित छात्र छात्राओं का अभिवादन किया।

प्रतियोगिता में कुमारी आंचल बीए द्वितीय वर्ष द्वारा उत्तराखंड वीर एवं वीरांगनाओं की भूमि, कुमारी दीपिका, एम. ए. प्रथम सेमेस्टर द्वारा उत्तराखंड की संस्कृति, कुमारी मोनिका बीए द्वित्तीय वर्ष द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन में गरम एवं नरम दलो की भूमिका, आयुष त्रिपाठी बीए प्रथम वर्ष द्वारा उत्तराखंड की संस्कृति, ऋतु कोहली, एम. ए. तृतीय सेमेस्टर द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन एवं गरम एवं नरम दल की विचार धाराओं का प्रभाव, समीक्षा कुकरेती एम. ए. तृतीय सेमेस्टर द्वारा उत्तराखंड की वीर एवं वीरांगनाओं का स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान, कुमारी शिवानी बीए द्वित्तीय वर्ष द्वारा उत्तराखंड संस्कृति एवं सभ्यता आदि के भाषण उल्लेखनीय रहे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ महेंद्र मौर्य ने इतिहास विभाग को धन्यवाद देते हुए कहा कि विभाग द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन एवम तत्कालिक समसामयिक विषयों पर आयोजित की जा रही भाषण प्रतियोगिता छात्र-छात्राओं के कौशल को उभारने में सहायक सिद्ध होगी। डा अनुराग अग्रवाल ने छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत भाषणों की सराहना करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। डॉ नवरत्न सिंह ने छात्रों को उत्तराखंड संस्कृति एवं स्वतंत्रता आंदोलन के विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया। डा धर्मेंद्र कुमार उत्तराखंड के वीर वीरांगनाओं के योगदान एवं स्वतंत्रता आंदोलन में उनकी भूमिका से परिचय करवाया।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉक्टर जुनीश कुमार उत्तराखंड एवं स्वतंत्रता आंदोलन के संबंधों को उजागर किया। कार्यक्रम के अंत में विभाग प्रभारी डॉ प्रवीन जोशी ने उपस्थित सभी छात्र छात्राओं को प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु धन्यवाद दिया ।