VC गबर सिंह नेगी चौक पर गरजे पूर्व सैनिक, वन रैंक वन पेंशन विसंगति दूर करने की मांग

96
VC गबर सिंह नेगी चौक पर गरजे पूर्व सैनिक, वन रैंक वन पेंशन विसंगति दूर करने की मांग

VC गबर सिंह नेगी चौक पर गरजे पूर्व सैनिक, वन रैंक वन पेंशन विसंगति दूर करने की मांग

Tehri News, Chamba: वन रैंक वन पेंशन में विसंगतियों को लेकर पूर्व सैनिक चंबा स्थित VC गबर सिंह नेगी स्मारक याने विजय चौक पर एकत्र हुए। जहां उन्होंने अपनी मांग को लेकर नारेबाजी की और कहा कि वे लंबे समय से मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनकी मांगों पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। पूर्व सैनिकों ने कहा कि वह मांग को लेकर दिल्ली में चल रहे आंदोलन को समर्थन देने के लिए 6 अगस्त को दिल्ली कुछ करेंगे।

पूर्व सैनिक संगठन के बैनर तले जिले भर के पूर्व सैनिक चंबा नगर स्थित शहीद गबर सिंह नेगी स्मारक में एकत्र हुए। जहां उन्होंने मांग को लेकर जोरदार नारेबाजी की और कहा कि वन रैंक, वन पेंशन में विसंगतियों को लेकर दिल्ली जंतर मंतर में उनका आंदोलन लंबे समय से चल रहा है लेकिन सरकार ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है।

पूर्व सैनिकों ने कहा कि वन रैंक, वन पेंशन में सरकार द्वारा अधिकारी वर्ग की सुविधाओं का तो ख्याल रखा गया, लेकिन सैनिकों को सुविधा से वंचित कर उनका हक कम किया गया है। जिसे वे बर्दाश्त नहीं कर सकते।

इस मौके पर पूर्व सैनिक संगठन के अध्यक्ष देव सिंह पुंडीर, संरक्षक इंद्र सिंह नेगी ने कहा कि सैनिकों पर देश का पूरा दारोमदार होता है और उन्हीं की बदौलत सेना युद्ध जीतती है, लेकिन जब सैनिकों को सुविधा देने की बात आती है तो उनके साथ भेदभाव किया जाता है।

उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिकों को भी अधिकारियों की तरह सुविधाएं प्रदान की जाए। इस मौके पर पूर्व सैनिकों ने हाथों में तिरंगा लेकर देशभक्ति के नारे भी लगाए साथी अपनी मांग को लेकर नारेबाजी भी की।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि दिल्ली में चले आंदोलन को समर्थन देने के लिए जिलेभर से पूर्व सैनिक अधिक से अधिक संख्या में 6 अगस्त को दिल्ली कूच करेंगे। इस मौके पर सेवानिवृत्त कैप्टन आनंद सिंह नेगी, कृष्णा मंमगाई, दीवान सिंह कुंवर, संगठन के सचिव महिपाल सिंह सजवान, महिपाल सिंह बिष्ट, गबर सिंह नेगी, विक्रम सिंह रावत, चतर सिंह तोपवाल, कमल सिंह नेगी, सोबन सिंह सजवाण, धर्म सिंह सजवाण, कुंवर सिंह नेगी, मस्त सिंह पुंडीर, सुरेंद्र उनियाल, सुमेर सिंह पुंडीर आदि पूर्व सैनिक मौजूद थे।

Comment