DM मयूर दीक्षित का पहला जनता मिलन कार्यक्रम, प्राप्त शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए समयान्तर्गत निस्तारण सुनिश्चित करें अधिकारी

113
DM मयूर दीक्षित का पहला जनता मिलन कार्यक्रम, प्राप्त शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए समयान्तर्गत निस्तारण सुनिश्चित करें अधिकारी

DM मयूर दीक्षित का पहला जनता मिलन कार्यक्रम, प्राप्त शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए समयान्तर्गत निस्तारण सुनिश्चित करें अधिकारी 

11 शिकायतें/अनुरोध पत्र हुए दर्ज

बिना अनुमति के कोई भी अधिकारी छुट्टी पर न जाये: जिलाधिकारी

नई टिहरी: जनता मिलन कार्यक्रम के तहत सोमवार को DM मयूर दीक्षित ने जिला कलेक्ट्रेट सभागार, नई टिहरी में जनता की समस्याएं सुनी। इस मौके पर 11 शिकायतें/अनुरोध पत्र दर्ज किये गए।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी जनता मिलन कार्यक्रम, तहसील दिवस, सीएम हेल्पलाइन, BDC बैठक, जनता दरबार आदि कार्यक्रमों प्राप्त शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए समयान्तर्गत निस्तारण करते हुए संबंधितों को भी अवगत कराना सुनिश्चित करें। कहा कि बिना अनुमति के कोई भी अधिकारी छुट्टी पर न जायें।

जनता मिलन कार्यक्रम में ग्राम सभा मौण, खतियाड़, पटुड़ी एवं चसोला के ग्रामवासियों द्वारा घण्टाकर्ण पेयजल योजना से लाभान्वित करने की मांग की गई, जिस पर DM मयूर दीक्षित ने ईई जल निगम को आवश्यक कार्यवाही करने, ग्राम गुनोगी (बमुण्ड) की पुलमा देवी द्वारा पीएम आवास योजना के तहत आवास दिलाये जाने की मांग पर सीडीओ को कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।

ग्राम पलाम के चैत लाल द्वारा अवगत कराया गया कि वे मजदूरी कर पत्नी एवं तीन पोते की जिम्मेदारी निभा रहे थे, किन्तु अस्वस्था के चलते अब मजदूरी नही कर पा रहे हैं और पुत्र की भी मृत्यु हो गयी है, भरण पोषण हेतु आर्थिक सहायता की मांग की गयी, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम टिहरी को जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

ग्राम थान चम्बा की निवासी सुरजा देवी द्वारा अवगत कराया गया कि उनके खेत एनएच-94 के चौड़ीकरण के दौरान अधिग्रहित किया गया था, किन्तु अभी तक भुगतान नही हो पाया, जिस पर जिलाधिकारी ने एडीएम/एसएलओ को पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

तत्पश्चात् जिलाधिकारी ने सीएम हेल्पलाइन, सीएम घोषणा, आपदा, स्वीप कार्यक्रम, कैच द रैन, 30 सूत्रीय कार्यक्रम, ऑनलाइन एसीआर, ई-ऑफिस, पार्किंग निर्माण, आदि अन्य योजनाओं के संबंध में संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा की।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए संबंधित शिकायतकर्ताओं से बात कर तत्काल निस्तारित करना सुनिश्चित करें। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को ‘डी‘ केटेगरी के विद्यालयों प्राथमिकता पर लेते हुए नष्ट करने को कहा गया।

सभी अधिकारियों को ई-ऑफिस संचालन, सभी एसडीएम को क्षतिग्रस्त पटवारी चौकियों का विवरण उपलब्ध कराने, सीएमओ को एनीमिया के निवारण हेतु प्लान बनाने, सीईओ को अपणु प्रमाण पत्र एवं डिजी लॉकर को अपडेट करने, एएमए जिला पंचायत को तीन धारा सहित अन्य क्षेत्रों में साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही दूरस्थ गांवों की सूची, सीएम घोषणाओं की सूची, प्रत्येक निविदा या अन्य विज्ञप्तियों को जिले की वेबसाइट पर अपलोड करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये।

बैठक में डीएफओ पुनीत तोमर, सीडीओ मनीष कुमार, डीडीओ सुनील कुमार, सीएमओ मनु जैन, सीएओ अभिलाषा भट्ट, सीईओ एलएम चमोला, सीवीओ आशुतोष जोशी, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल योगेन्द्र कुमार (अ.प्रा.), जिला सेवायोजन अधिकारी विनायक श्रीवास्तव, एआरटीओ चक्रपाणि मिश्रा, जिला आबकारी अधिकारी कैलाश बिंजोला, डीपीआरओ एमएम खान, जिला समाज कल्याण अधिकारी के.एस. चौहान, डीएसओ अरूण वर्मा, डीपीओ शौहेब हुसैन, एसडीएम अपूर्वा सिंह सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Comment