UGVS अन्तर्गत गठित REAP की जिला स्तरीय समन्वयन बैठक में जिला स्तरीय रेखीय विभागों ने किया प्रतिभाग

62
UGVS अन्तर्गत गठित REAP की जिला स्तरीय समन्वयन बैठक में जिला स्तरीय रेखीय विभागों ने किया प्रतिभाग
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

UGVS अन्तर्गत गठित REAP की जिला स्तरीय समन्वयन बैठक में जिला स्तरीय रेखीय विभागों ने किया प्रतिभाग

देहरादून: UGVS (उत्तराखण्ड ग्राम्य विकास समिति) अन्तर्गत गठित (REAP) ग्रामीण उद्यम वेग वृद्धि परियोजना की जिला स्तरीय समन्वयन बैठक सुश्री झरना कमठान (मुख्य विकास अधिकारी) देहरादून की अध्यक्षता में आहुत की गयी। जिसमें जिला स्तरीय विभिन्न रेखीय विभागों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

बैठक में श्री कैलाश चन्द्र भट्ट (जिला परियोजना प्रबंधक, देहरादून) (REAP) द्वारा परियोजना अन्तर्गत प्रस्तावित गतिविधियों की विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी तथा वित्तीय वर्ष 2023-24 में परियोजना की वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट का प्रस्तुतीकरण किया गया।

बैठक में जिला परियोजना प्रबन्धक द्वारा REAP परियोजना अन्तर्गत विगत वित्तीय वर्ष में किये गये कार्या की प्रगति एवं उपलब्धियों से अवगत कराया गया। चर्चा के क्रम में जिला परियोजना प्रबंधक द्वारा अवगत कराया गया कि परियोजना एवं रेखीय विभागों के साथ Convergence के माध्यम से प्रस्तावित गतिविधियों का क्रियान्वयन किया जाना है।

जिला परियोजना प्रबन्धक द्वारा बताया गया कि परियोजना अंतर्गत समूह एवं संकुल स्तर पर विभिन्न फार्म, आ फ-फार्म एवं नॉन फार्म (जैसे- पैक हाउस, रिटेल आउटलेट, मिल, इत्यादि) आधारित उद्यमों को विभिन्न विभागों के साथ आपसी समन्वय एवं सहयोग से स्थापित किया जाना है, जिनका संचालन संकुल स्तरीय फेडरेशन के द्वारा किया जाएगा। जिससे महिलाओं की आय में वृद्धि होगी एवं उन्हें रोजगार भी प्राप्त होगा। साथ ही परियोजना अंतर्गत विभिन्न प्रशिक्षण प्रस्तावित हैं, जिन्हें विभागों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए पूर्ण किया जाना है।

इस क्रम में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा समस्त रेखीय विभागों के अधिकारीगण एवं जिला परियोजना प्रबंधक, देहरादून को निर्देशित किया गया कि परियोजना गतिविधियों के सुचारू रूप से संचालन हेतु आपसी समन्वयन स्थापित कर सहयोग प्रदान किया जाये।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी महोदया द्वारा लोकल उत्पादों का उपयोग करते हुए जडी-बूटी, बेकरी एवं मशरूम इत्यादि गतिविधियों पर आधारित बड़े उद्यमो को स्थापित करने हेतु सुझाव प्रदान किया गया है।

बैठक में डॉ मीनाक्षी जोशी मुख्य उद्यान अधिकारी), डॉ. विद्यासागर कापड़ी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी), श्रीमती अर्पणा बहुगुणा (अपर परियोजना निदेशक (NRLM), समस्त खण्ड विकास अधिकारी, उपासक एवं अन्य रेखीय विभागों के अधिकारीगण एवं प्रतिनिधियों व जिला परियोजना प्रबंधक, देहरादून एवं समस्त रीप स्टॉफ उपस्थित रहे।

Comment