जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन एवं विकास खण्ड स्तरीय प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट पर चर्चा

83
जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन एवं विकास खण्ड स्तरीय प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट पर चर्चा
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

3. जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन एवं विकास खण्ड स्तरीय प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट पर चर्चा

2. डीपीआरओ को प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट को लेकर गांवों में आसानी से पहुंच वाले स्थानों को चिन्हित करने के दिए निर्देश

नई टिहरी: जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता एवं विधायक टिहरी किशोर उपाध्याय की उपस्थिति में सोमवार देर सांय जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समिति की बैठक में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन एवं विकास खण्ड स्तरीय प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट यूनिट निर्माण के प्राक्कलनों, ग्रामों/यात्रा मार्गों पर सार्वजनिक शौचालय निर्माण, गोवर्धन योजना के अन्तर्गत सामुदायिक गोबर गैस प्लान्ट के निर्माण, एकल गढ्ढे वाले शौचालयों को जुड़वा पिट में परिवर्तित करने एवं व्यक्तिगत घरेलू शौचालयों के आच्छादन पर चर्चा की गई।

व्यक्तिगत घरेलू शौचालयों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने योजना से गरीब लोगों को लाभान्वित करने हेतु फिल्ड में जाकर पंचायत सचिव के माध्यम से हर गांव से तीन-तीन गरीब लोगों को चिन्हित करने तथा एकल गढ्ढे वाले शौचालयों को जुड़वा पिट में परिवर्तित करने को लेकर इसके फायदों का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने एवं सूची जिला कार्यालय सहित जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए।

डीपीआरओ को प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेन्ट को लेकर गांवों में आसानी से पहुंच वाले स्थानों को चिन्हित करने के निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी ने जल जीवन मिशन के भौतिक लक्ष्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि यह एक महत्वपूर्ण योजना है। उन्होंने पेयजल एवं जल संस्थान के अधिकारियों को योजना के तहत माहवार पूर्ण की जाने वाली योजनाओं का लक्ष्य तय कर पूर्ण करने के निर्देश दिए, ताकि उसी के अनुसार मॉनिटरिंग हो सके। साथ ही ऐसे गांव जहां पेयजल टैंकरों से पानी सप्लाई हो रही है की सूची भी उपलब्ध कराने को कहा गया।

इस मौके पर विधायक टिहरी किशोर उपाध्याय ने जल जीवन मिशन के तहत विधान सभा वाइस जल संयोजन से सेचूरेट करने को कहा गया।

उन्होंने योजना के तहत सामुदायिक भवन, स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, अस्पतालों सहित जनपद में पेयजल आपूर्ति के संबंध में जानकारी हासिल की। अधिकारियों द्वारा गांवों में नियमित पेयजल आपूर्ति का निरीक्षण करने के बाद कतिपय गांवों वालों द्वारा पेयजल लाइनों में छेड़छाड़ कर पेयजल की आपूर्ति को बाधित करने की बात कही गई।

बैठक में डीएफओ पुनीत तोमर, सीडीओ मनीष कुमार, डीडीओ सुनील कुमार, सीएमओ मनु जैन, सीएओ अभिलाषा भटट, सीईओ एलएम चमाला, एएमए जिला पंचायत संजय खण्डूरी सहित अन्य रेखीय विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

1. Related Post

Comment