गुरूवार , जुलाई 7 2022
Breaking News
CDO नमामि बंसल ने विकास भवन नई टिहरी में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक लेते हुए अनुपस्थित EE जल संस्थान का स्पष्टीकरण किया तलब 

भारत सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजना से लाभान्वित लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सीधा संवाद करेंगे प्रधानमंत्री

play icon Listen to this article

केन्द्र सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाएं जनपद में संबंधित विभागों द्वारा निरन्तर संचालित की जा रही है, जिनमें प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण एवं शहरी), किसान सम्मान निधि, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण/शहरी, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मुद्रा लोन, मातृ वन्दना, पोषण अभियान, जल जीवन मिशन आदि शामिल हैं।

इस आशय की जानकारी देते हुए प्रभारी जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल नमामि बंसल ने कहा कि आगामी दिनांक 31 मई, 2022 को समय प्रातः 10:45 बजे मा. प्रधानमंत्री जी द्वारा शिमला में भारत सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजना से लाभान्वित लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सीधा संवाद किया जायेगा।

जनपद मंे मुख्य कार्यक्रम बहुउद्देशीय भवन नई टिहरी में आयोजित किया गया जायेगा, जबकि कृषि विकास केन्द्र रानीचौरी में भी कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। इस मौके पर केन्द्र पोषित योजनाओं के 20-20 लाभान्वित लाभार्थी कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे।
जनपद में संचालित केन्द्र पोषित योजनाओं की उल्लेखनीय प्रगति निम्नानुसार है-

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना

योजना के तहत जनपद में अब तक 309 व्यक्तियों ने आवेदन किया, जिसमें से 223 आवदेन ऋण स्वीकृति हेतु बैंको को प्रेषित किये गये, जिसमें से अब तक 176 लोग लाभान्वित हो चुके हैं। पीएम स्वनिधि योजना के तहत रेहड़ी पटरी पर सामान बेचने वाले या अन्य छोटा-मोटा काम करने वाले लोग बैंक से रूपये 10,000 तक का कर्ज ले सकते हैं। पहली बार में लिए गए कर्ज को समय से चुका देने के बाद पीएम स्वनिधि के लाभार्थी दूसरी बार में रूपये 20,000 और तीसरी बार में रूपये 50,000 तक का लोन पा सकते हैं।

🚀 यह भी पढ़ें :  प्रधानमंत्री आवास योजना, देश के हर निर्धन को पक्का घर देने के लिये महत्त्वपूर्ण कदम उठा रही है सरकार: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण एवं शहरी)

जनपद में अब तक पीएमएवाई ग्रामीण के अन्तर्गत कुल 685 पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है, जबकि पीएमएवाई शहरी के तहत 52 अवेदनों के सापेक्ष 37 लाभार्थियों के आवास का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। शेष का कार्य प्रगति पर है। देश के ऐसे नागरिक जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण खुद का घर बनवाने में एवं पुराने घर की मरम्मत करवाने में सक्षम नहीं हैं। इस योजना के माध्यम से शहरी क्षेत्रों के लिए 1 लाख 20 हजार एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 1 लाख 30 हजार रु0 की आर्थिक सहायता तीन किश्तों मंे लाभार्थी को हस्तान्तरित की जाती हैै।

स्वच्छ भारत मिशन योजना

जनपद में इस योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 41 हजार 225 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कर पात्र व्यक्तियों को लाभान्वित किया गया है, जबकि शहरी क्षेत्रों में 357 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कर लक्ष्य प्राप्त किया गया है। इस योजना को भारत सरकार द्वार वर्ष 2014 में प्रारम्भ किया गया था। इसका उद्देश्य गलियों, सड़कों तथा अधोसंरचना को साफ-सुथरा करना और कूडा साफ रखना है।

उज्जवला योजना

योजना के तहत जनपद में अब तक कुल 25 हजार 132 गैस कनेक्शन वितरित किये जा चुके है। इस योजना के अंतर्गत रूपये 1600 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिससे लाभार्थी गैस कनेक्शन प्राप्त कर सकता है। इसी के साथ इस योजना के अंतर्गत चूल्हा खरीदने के लिए तथा पहली बार एलपीजी सिलेंडर भरने में आने वाले खर्च को चुकाने के लिए ईएमआई की सुविधा भी प्रदान की जाती है।

🚀 यह भी पढ़ें :  पीएमएफएमई योजना के तहत खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने किया 'किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी' अभियान, के मद्देनजर ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ (ODOP) कार्यशाला का आयोजन

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

योजना के तहत जनपद में अब तक 16 हजार 46 महिलाओं को लाभान्वित कर 6 करोड़ 61 लाख 52 हजार रूपये व्यय हुआ है। एक जनवरी, 2017 से प्रारम्भ इस योजना के अंतर्गत पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं को रूपये 5000 की धनराशि प्रदान की जाती है। लाभार्थी प्रसव सरकारी या फिर प्राइवेट किसी भी अस्पताल में करवा सकती हैं। यह धनराशि गर्भवती महिलाओं के पोषण के लिए प्रदान की जाती है।

पोषण अभियान

जनपद में अब तक 1905 सीबीई कार्यक्रम आयोजित कर 2651 लाभार्थी लाभान्वित हुए। वहीं एक पोषण माह में 4567 लाभार्थी तथा एक पखवाडे में 3809 लाभार्थी आच्छादित किये गये। आंगनबाडी केन्द्रों में 3 से 6 वर्ष के कुल पंजीकृत 15 हजार 905 बच्चों को कुक्ड फूड दिया जा रहा है। अभियान का मुख्य लक्ष्य, नवजात से छह साल तक के बच्चों, किशोर उम्र लड़कियों, गर्भवती और बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाओं में पोषण का स्तर बढ़ाना है। पोषण अभियान तीन साल के लिए तैयार किया गया एक संपूर्ण अभियान है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि

जनपद में पीएम किसान पोर्टल पर 01 लाख 21 हजार 987 कृषकों को पंजीकृत किया गया है तथा अब तक कृषकों को प्रथम किश्त के रूप में 03 लाख 04 हजार 44 रूपये, द्वितीय किश्त 02 लाख 86 हजार 303 रूपये तथा तृतीय किश्त के रूप में 03 लाख 83 हजार 343 रूपये की धनराशि दी जा चुकी है। यह भारत सरकार से 100 प्रतिशत वित्त पोषण के साथ एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना हैै। इस योजना के तहत देश भर के सभी किसान परिवारों को 6000 रुपये प्रति वर्ष की तीन समान किश्तों में प्रदान किया जाता है।

🚀 यह भी पढ़ें :  किसान सम्मान निधि E-KYC तिथि 31 जुलाई तक बढ़ी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

जनपद में इस योजना के तहत अब तक 16 हजार 595 लोगों को 7816.69 लाख की धनराशि लोन के रूप मंे वितरित की जा चुकी है। इस योजना के तहत माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी ;डन्क्त्।द्ध लोन स्कीम भारत सरकार की एक पहल है जो व्यक्तियों, एसएमई और एमएसएमई को लोन प्रदान करती है। मुद्रा के तहत 3 लोन योजनाएं ऑफर की जाती हैं जिसका नाम शिशु, किशोर और तरुण है। मुद्रा लोन योजना के तहत दी जाने वाली अधिकतम लोन राशि 10 लाख रु. है, जबकि न्यूनतम लोन राशि तय नहीं है। मुद्रा लोन लेने के लिए आवेदक को बैंकों या लोन संस्थानों को कोई गारंटी देने या गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है। इस लोन का भुगतान 3 साल से 5 साल तक कर सकते हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

जयंती विशेष: महाकवि नागार्जुन की कविताएं गरीब, असहाय, किसान, मजदूर, शिल्पी, काश्तकार और समाज के हर वर्ग की कथा व्यथा को वर्णित करती हैं

जयंती विशेष: महाकवि नागार्जुन की कविताएं गरीब, असहाय, किसान, मजदूर, शिल्पी, काश्तकार और समाज के हर वर्ग की कथा व्यथा को वर्णित करती हैं

Listen to this article आज महाकवि नागार्जुन की जयन्ती है। व्यस्तता के बाबजूद लिखना लाजिमी …

error: Content is protected !!