यौन उत्पीड़न के खिलाफ देश की महिला पहलवानों द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन के समर्थन में रखा सामूहिक उपवास

0
46
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

यौन उत्पीड़न के खिलाफ देश की महिला पहलवानों द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन के समर्थन में रखा सामूहिक उपवास

नई टिहरी: टिहरी के राज्य आंदोलनकारियों के द्वारा लगभग 2 महीने से भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह के द्वारा किए गए यौन उत्पीड़न के खिलाफ देश की महिला पहलवानों द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन के समर्थन में सामूहिक उपवास रखा।

आंदोलनकारी मंच के अध्यक्ष ज्योति प्रसाद भट्ट एवं उपाध्यक्ष देवेंद्र नौडियाल ने कहा कि देश के अंदर कानून का मखौल उड़ाने का प्रचलन सा चल पड़ा है जिसको सरकार के लोग ही बढ़ावा दे रहे हैं।

देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल दिला कर सम्मान दिलाने वाली पहलवान बेटियों को आज न्याय की लड़ाई सड़कों पर लड़नी पड़ रही है और जिस सरकार पर इन बेटियों को न्याय दिलाने की जिम्मेदारी है वह आरोपी को बचाने में लगी हुई है।

मंच के महासचिव किशन सिंह रावत एवं सह प्रवक्ता विक्रम सिंह कठैत ने कहा पोक्सो एक्ट के तहत आरोपी की तुरंत गिरफ्तारी हो जाती है लेकिन सांसद बृजभूषण सिंह को सरकार का इतना वरदहस्त प्राप्त है कि खुलेआम घूम रहे हैं और वीडियो बनाकर खिलाड़ियों को धमकी दे रहे हैं तथा जांच प्रभावित करने की कोशिश भी कर रहे हैं।

वहीं वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा और महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ने कहा कि सरकार द्वारा हर स्तर पर आंदोलनरत खिलाड़ियों का मनोबल गिराने की कोशिश की जा रही है यहां तक की खिलाड़ियों ने न्याय की आस छोड़ कर अपने पदक तक गंगा में प्रवाहित करने का निर्णय ले लिया था। यह देश का बहुत बड़ा दुर्भाग्य है।

वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी विक्रम बिष्ट एवं ममता उनियाल ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा केवल मंचों से चिल्लाने के लिए ही है, लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि बेटियों को न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए सड़कों पर जूझना पड़ रहा है। वक्ताओं ने कहा कि पहलवानों को न्याय मिलने तक हम भी इस लड़ाई को लड़ते रहेंगे।

उपवास करने वालों में ज्योति प्रसाद भट्ट, देवेंद्र नौडियाल, किशन सिंह रावत, शांति प्रसाद भट्ट, विक्रम सिंह कठैत, राकेश राणा, विक्रम सिंह बिष्ट, हरि कृष्णा लांबा, श्यामलाल आर्य, ममता उनियाल, आशा रावत, कुलदीप पवार आदि शामिल थे।

Comment