संकुल स्तरीय शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यशाला का विधिवत शुभारम्भ, नई शिक्षा नीति- 2020 पर आयोजित की गई प्रशिक्षण कार्यशाला

संकुल स्तरीय शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यशाला का विधिवत शुभारम्भ, नई शिक्षा नीति- 2020 पर आयोजित की गई प्रशिक्षण कार्यशाला
play icon Listen to this article

मुख्य वक्ता थे कवि, लेखक और सेवानिवृत्त शिक्षक सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’, मुख्य वक्ता का किया गया सम्मान

सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, नई टिहरी में संकुल स्तरीय शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन किया गया। नई शिक्षा नीति- 2020 के तत्वावधान में आज कार्यशाला में मुख्य वक्ता कवि साहित्यकार व सेवानिवृत्त शिक्षक सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’ ने नई शिक्षा नीति के संपूर्ण बिन्दुओं पर व्याख्यान देते हुए  शिक्षक(आचार्यों) को क्रियान्वयन संबंधी जानकारी उपलब्ध करवायी।

संकुल स्तरीय शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यशाला का विधिवत शुभारम्भ, नई शिक्षा नीति- 2020 पर आयोजित की गई प्रशिक्षण कार्यशाला

साठ से अधिक आचार्य, प्रधानाचार्यों के समूह को संबोधित करते हुए उन्होंने मूल्य आधारित शिक्षा, कला समेकित शिक्षा, योग्यता आधारित सीखना, खेल- खिलौना आधारित शिक्षण, पाठ्यक्रम से जुड़े क्रियाकलाप, अनुभव आधारित शिक्षण, कौशल विकास, आनंदम, बाल सखा, विद्यार्थियों केअर्जित ज्ञान का मूल्यांकन, इक्कीसवीं शताब्दी के संदर्भ में कौशल विकास, कृत्रिम दक्षता, प्रारंभिक बचपन और बच्चों की शिक्षा आदि के बारे में विस्तार से समझाया।

शिक्षा के क्षेत्र में अपने साढे तीन दशक के अनुभव, प्रशासनिक अनुभव, मानवीय सामाजिक वैज्ञानिक नैतिक और सृजनात्मकता के बारे में भी व्यापक रूप से बताया। अपने  संबोधन में नई शिक्षा नीति- 2020 के प्रत्येक बिंदुओं पर बातचीत की तथा प्रत्येक कांसेप्ट को क्लियर किया। इसके अलावा गुणवत्ता परक शिक्षण, बाल मनोविज्ञान आधारित शिक्षण, वैज्ञानिक दृष्टिकोण, योजना आधारित शिक्षण, पढ़ाना सिखाना और मूल्यांकन, कंप्यूटर बेस्ड एजुकेशन आदि अनेक पहलुओं पर भी विवेचना की ताकि सम्यक रूप से प्राप्त प्रशिक्षण का नीति के अनुरूप क्रियान्वयन हो सके।

संकुल प्रभारी और प्रधानाचार्य सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज उनियालसारी, श्री इंद्रपाल सिंह परमार ने नई शिक्षा नीति के बारे में आचार्य और प्रधानाचार्यों का मार्गदर्शन किया। सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज नई टिहरी के प्रधानाचार्य बी डी कुनियाल ने मुख्य वक्ता का आभार प्रकट किया। प्रधानाचार्य श्री दौलत राम, प्रधानाचार्य श्री सैनी, श्री खुशीराम रतूड़ी, मैडम भारद्वाज,रवींद्र नेगी आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here