खेती-बाड़ी Archives - सरहद का साक्षी
एफएसीटी द्वारा आयातित एमओपी फर्टिलाइजर्स की 27,500 मीट्रिक टन की तीसरी खेप तूतीकोरिन बंदरगाह पहुंची

सरहद का साक्षी, तमिलनाडु: फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्‍स ट्रावनकोर लिमिटेड (एफएसीटी) द्वारा आयात किए गए मुरिएट ऑफ पोटाश (एमओपी) उर्वरक की 27,500 मीट्रिक टन की तीसरी खेप तमिलनाडु के तूतीकोरिन बंदरगाह पर सोमवार को पहुंच गई। माल को जहाज से उतारने और बोरियों में भरने का काम किया जा रहा है। इस खेप के साथ ही एफएसीटी इस साल अब तक 82,000 मीट्रिक टन मुरिएट ऑफ पोटाश का आयात कर चुकी है। मुरिएट ऑफ पोटाश एफएसीटी के प्रमुख उत्‍पाद फैक्‍टम…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कृषि विभाग की प्राथमिकता के कार्यों व योजनाओं की समीक्षा की
कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कृषि विभाग की प्राथमिकता के कार्यों व योजनाओं की समीक्षा की

Agriculture Minister Subodh Uniyal reviewed the priority works and schemes of the Department of Agriculture सरहद का साक्षी देहरादून: सचिवालय में कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल द्वारा कृषि विभाग की प्राथमिकता के कार्यों/योजनाओं की समीक्षा की गई। बैठक में क्रमवार तरीके से सर्वप्रथम कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्बन्धित प्रकरण में आवश्यक निर्देश दिये गये। जताई नाराजगी उल्लेखनीय है कि पूर्व में यह निर्णीत हुआ था कि नौथा ऐग्रो कलस्टर के प्रारम्भिक कार्यों के लिए रू0 4.00 करोड़ की धनराशि…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

देश में वर्तमान समय में किसानों की स्थिति और समस्यायें

प्रस्तुति:  नवीन  सरहद का साक्षी अगस्त्यमुनि: आजादी के बाद सरकार ने किसानों के विषय में भी सोचना शुरू किया। किसान बहुत मेहनत करके अनाज पैदावार करते हैं और जब किसी फसल की पैदावार अधिक हो जाती है तब बाजार में भाव कम हो जाते हैं, इसलिए लाल बहादुर शास्त्री सरकार ने 1965 में एक समिति का गठन किया और 1966 से न्यूनतम समर्थन मूल्य की शुरुवात हुई। मतलब वह रेट जिस पर सरकार फसलों का रेट निर्धारित करती है।…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

रोजमेरी की खेती हेतु स्वयं सहायता समूहों को किया गया पौध वितरण
Plantation done to self-help groups for Rosemary cultivation

सरहद का साक्षी रानीचौरी, टिहरी गढ़वाल: ग्रामीणों को रोजमेरी खेती हेतु राड्स के अध्यक्ष सुशील बहुगुणा के द्वारा कालिंका स्वयं सहायता समूह की 20 महिलाओं को पौध वितरित की, साथ ही जड़ी बूटी शोध संस्थान के मास्टर ट्रेनर हरीश डोभाल के द्वारा एक नाली खेत पर रोजमेरी के पौध का रोपण कर डेमो किया गया। सुशील बहुगुणा ने जानकारी देते हुऐ कहा की रोज़मेरी ऐसी  एक जड़ीबूटी है जिसका रोम-रोम औषधियों से भरपूर है। इसे आम भाषा में गुलमेंहदी…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

किसानों की आय दोगुनी करने को प्रधानमंत्री कर रहें हैं लगातार प्रयास: नरेंद्र तोमर
Prime Minister is making constant efforts to double the income of farmers

सरहद का साक्षी, देहरादून: केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भारत सरकार द्वारा कृषि विकास के सम्बन्ध में हाल ही में किए गए प्रयासों के सम्बन्ध में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं कृषि मंत्रियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार द्वारा इसके लिए लगातार एक के बाद एक…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

सभी प्रवासियों को मिले सरकारी योजनाओं का लाभ: मंगेश घिल्डियाल
डीएम टिहरी श्री मंगेश घिल्डियाल

सरहद का साक्षी, नई टिहरी: कोविड-19 के कारण लौटे प्रवासियों को स्वरोजगार मुहैया कराने को लेकर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने उद्यान विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारियों की एक बैठक जिला कार्यालय सभागार कक्ष में ली। बैठक में जिलाधिकारी ने उद्यान से जुड़े सभी कर्मियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ सभी प्रवासियों को मिले। जिला योजना में सबसे अधिक धनराशि उद्यान विभाग को बैठक में उद्यान विभाग द्वारा जिला योजना में प्रस्तावित नई…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

वर्षों से बंजर पड़ी भूमि को आवाद कर किया उद्यानीकरण
वर्षों से बंजर पड़ी भूमि को आवाद कर किया उद्यानीकरण

रिपोर्टः अनुराग चौहान नकोट, टिहरी गढ़वाल। वर्तमान कोविड-19 के दौर में जहां सर्वाधिक प्रवासिंयों ने गांव लौटकर स्वरोजगार अपनाने की पहल कर रिवर्स पलायन करने की ठानी है वहीं गांव में निवासित कास्तकार भी अब अपनी बंजर भूमि को आवाद करने की सोच के तहत सरकार की मनरेगा योजना के अंतर्गत उद्यानीकरण की ओर अग्रसर हो रहे हैं। इसी के तहत ग्राम पंचायत छाती के अंतर्गत ग्राम छाती व कोठी के कास्तकारों ने कई वर्षों से बंजर पड़े अपने…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

प्रवासी युवा टिहरी के विभिन्न स्थानों पर स्वरोजगार के तहत बेच रहे हैं लोकल सब्जी
चंबा मसूरी फलपट्टी क्षेत्र

बौराड़ी, नईटिहरी: यहाँ चोपड़ियाल गाँव (चम्बा) के श्री मुकेश डबराल एवं अन्य  प्रवासी युवकों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रोँ से उत्पादित सब्जियों की मार्केटिंग का आज पुनः शुभारंभ किया गया है। गत दिवस इन प्रवासी युवकों द्वारा डाइजर नईटिहरी में 2 घंटे में 13600 रुपये की सब्जियां बिक्री की गई। उल्लेखनीय है की चंबा मसूरी फलपट्टी क्षेत्र फलोत्पादन के साथ नगदी फसलों व सब्जियों के उत्पादन के लिए मशहूर है। यहाँ की उत्पादित नगदी फसलें, फल, सब्जी प्रान्त ही नहीं अपितु…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

किसानों की आय दोगुनी करने के विजन के अनुरूप, किसान अब उद्यमी बनने के लिए तैयार : प्रधानमंत्री
Prime Minister, Shri Narendra Modi

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज एक लाख करोड़ रूपये की कृषि अवसंरचना निधि के तहत वित्‍त पोषण सुविधा की एक नई योजना आरंभ की है। यह योजना समुदाय कृषक परिसंपत्तियों के निर्माण तथा फसल उपरांत कृषि अवसंरचना में किसानों, पैक्‍स, एफपीओ, कृषि उद्यमियों आदि की सहायता करेगी। ये परिसंपत्तियां उनकी उपज के लिए अधिक मूल्‍य पाने में किसानों को सक्षम बनायेंगी, क्‍योंकि वे उच्‍चतर मूल्‍यों पर भंडारण एवं बिक्री करने, अपव्‍ययों को कम करने तथा प्रसंस्‍करण एवं मूल्‍य वर्धन बढ़ाने में…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

चौलाई की खेती तबाह कर रहा है पर्णकीट

सरहद का साक्षी नकोट, टिहरी गढ़वालः चम्बा प्रखण्ड की मखलोगी, धारअकरिया क्षेत्र का कास्तकार जहां एक ओर बन्दर और सुअरों के आतंक से खेती की ओर विमुख होने की कगार पर है वहीं वर्षा न होने के कारण सूखे की मार तो दूसरी ओर चौलाई की खेती पर पर्णकीट का संकट यहां के कास्तकारों को मायूस होने को विवश कर रहा है। बन्दरों व सुअरों के आतंक के कारण इस क्षेत्र का कास्तकार अधिकांशतया अपने खेतों में चौलाई की खेती करके अपनी…

Print Friendly, PDF & Email

Read More

error: Content is protected !!