21वीं सदी के स्वप्न दृष्टा थे भारत रत्न राजीव गांधी: राकेश राणा

284
21वीं सदी के स्वप्न दृष्टा थे भारत में राजीव गांधी: राकेश राणा

21वीं सदी के स्वप्न दृष्टा थे भारत रत्न राजीव गांधी: राकेश राणा

Tehri News: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न आधुनिक भारत के अग्रणी नेताओं में शुमार 21वीं सदी के महानायक संचार क्रांति पंचायती राज और भारत को विश्व के अग्रणी राष्ट्रों में पहचान दिलाने वाले राजीव गांधी जी की आज 89 में जन्म जयंती है

इस अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा प्रदेश सचिव सैयद मुशर्रफ अली पूर्व राज्य मंत्री प्रवीण सिंह भंडारी वरिष्ठ नेता ज्योति प्रसाद भट्ट पीसीसी सदस्य देवेंद्र नोडीयाल लखबीर सिंह चौहान द्वारा जिला चिकित्सालय बौराडी में जाकर बीमार लोगों का हालचाल जाना और उन्हें फल वितरित किए वहीं दूसरी ओर महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ममता उनियाल मीना शाह द्वारा निर्मल आवास केमसारी टीनशेड में बच्चों के बीच में राजीव जी का जन्मदिन मनाया और बच्चों को फल वितरित किए।

जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि राजीव जी अब हमारे बीच नहीं हैं। लेकिन उनका विजन हम सबको अभी भी प्रेरणा देता है। राजीव जी ने देश में कंप्यूटर की शुरुआत कर विकास को गति दी थी। राजीव गांधी पेशे से पायलट थे और राजनीति में इनकी कोई रूचि नहीं थी। 1980 में भाई संजय गांधी की मृत्यु के बाद राजीव 1982 में राजनीति में उतर आये।

21 मई 1991 को एक आत्मघाती हमले में इनकी मृत्यु हो गई थी। मां इंदिरा की मौत के बाद राजीव देश के सातवें प्रधानमंत्री बने। भारत सरकार ने इन्हें 1991 में मरणोपरान्त भारत रत्न से सम्मानित किया। राजीव गांधी के पास देश को आगे ले जाने का विजन था

Comment