गुरूवार , जुलाई 7 2022
Breaking News
उत्तराखंड सरकार 100 दिन चले अढ़ाई कोस: कांग्रेस अध्यक्ष राकेश राणा

सेना में भर्ती का अग्निपथ नो रैंक नो पेंशन दुर्भाग्यपूर्ण फैसला: राकेश राणा

play icon Listen to this article

जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा की सेना में भर्ती का अग्नीपथ योजना से देवभूमि उत्तराखंड के बेरोजगार नौजवान हताश ओर निराश है।

कहा उत्तराखंड में गढ़वाल मंडल के नाम से गढ़वाल रेजीमेंट कुमाऊं के नाम से कुमाऊँ रेजीमेंट साथ ही गोरखा रेजीमेंट, सीआरपीएफ, असम राइफल सीआईएसएफ सहित देश की तीनों सेनाओं में उत्तराखंड के बेरोजगार नौजवान अपना भविष्य सुरक्षित मानते थे लेकिन उस पर भी केंद्र की मोदी सरकार की नजर लग गई और सेना अब मात्र एक प्रयोगशाला बंनकर रही जाएगी
केंद्र की मोदी सरकार सेना भर्ती को अपनी प्रयोगशाला बना कर भारतीय सेनाओं की गरिमा व परम्परा के साथ खिलवाड़ कर रही है। सेना भर्ती जैसे अति संवेदनशील मसले पर भी संसद में या संसद के बाहर न कोई चर्चा और बिना कोई गंभीर सोच-विचार किये सरकार मनमानी पर उतर आई है।

🚀 यह भी पढ़ें :  अग्निपथ सैन्य प्रदेश का अपमान- विक्रम सिंह नेगी

सेना में ‘रेग्युलर भर्ती’ की जगह 4 साल के लिये ‘कॉन्ट्रैक्ट भर्ती’ से देश की सुरक्षा के लिये उचित संदेश नहीं जा रहा है। कॉन्ट्रैक्ट भर्ती वाले युवाओं को सेना में न कोई रैंक मिलेगी और न ही कोई पेंशन। यानि मोदी सरकार अब “नो रैंक – नो पेंशन” की ओर कदम बढ़ा रही है। 4 साल बाद सेना से लौटने वाले 22 से 25 वर्ष के 75% अग्निवीरों के भविष्य के लिये कोई योजना और रूपरेखा भी मोदी सरकार के पास नहीं है।
4 साल बाद सेना भब भर्ती नौजवान हताश और निराश होकर अदानी अंबानी और अन्य उद्योगपति के घर के बाहर चौखट पर सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी तलाश रहा होगा।
तथाकथित डबल इंजन वाली सरकार का उत्तराखंड के बेरोजगार नौजवानों की लिए यह बड़ा तोहफा है।

Print Friendly, PDF & Email

Check Also

सरकार वनों को रोजगार से जोड़ने के लिए कार्य योजना तैयार कर रही है ताकि रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें: सुबोध उनियाल 

सरकार वनों को रोजगार से जोड़ने के लिए कार्य योजना तैयार कर रही है ताकि रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें: सुबोध उनियाल 

Listen to this article नरेन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र के गजा मंडल कार्यसमिति की बैठक में बतौर …

error: Content is protected !!