15 नवम्बर तक सभी निर्माण कार्य पूरा करें कार्यदायी संस्थाएंः डॉ. धनसिंह रावत

15 नवम्बर तक सभी निर्माण कार्य पूरा करें कार्यदायी संस्थाएंः डॉ. धनसिंह रावत

प्रत्येक 15 दिन में निर्माण कार्यों की प्रगति रिपोर्ट शासन को भेजें अधिकारी

निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें कार्यदायी संस्थाएं

 सरहद का साक्षी, देहरादून:  राजकीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में निर्माणाधीन कार्यों को 15 नवम्बर तक पूरा करने के निर्देश कार्यदायी संस्थाओं को दिये गये, साथ ही विभागीय अधिकारियों को प्रत्येक 15 दिन में निर्माण कार्यों की प्रगति रिपोर्ट शासन को भेजने को कहा गया। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान रखने और समय पर कार्य पूर्ण करने के लिए कार्यदायी संस्थाओं को दो शिफ्टों में कार्य करने निर्देश दिये गये।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज सचिवालय स्थिति डीएमएमसी सभागार में उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत स्वीकृत विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक ली। जिसमें राज्य के सरकारी विश्वविद्यालय एवं राजकीय महाविद्यालयों में संचालित विभिन्न निर्माणाधीन कार्यो की प्रगति की समीक्षा की गई। डा. रावत ने सभी कार्यदायी संस्थाओं को 15 नवम्बर 2021 तक सभी निर्माण कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिये, साथ ही उन्होंने विभागीय अधिकारियों को प्रत्येक 15 दिन में निर्माण कार्यों की प्रगति रिपोर्ट शासन को भेजने को कहा। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में राज्य सेक्टर के अंतर्गत 30 करोड़ 85 लाख के प्रस्ताव आये जिसके क्रम में शासन द्वारा रूपये 8 करोड़ 66 लाख की धनराशि स्वीकृत कर दी गई है। रूसा योजना के अंतर्गत भी सरकार को 70 करोड़ 78 लाख के प्रस्ताव मिले जिसके सापेक्ष शासन द्वारा रूपये 22 करोड़ 38 लाख स्वीकृत कर दिये हैं। डा. रावत ने बताया कि राज्य सेक्टर के अंतर्गत स्वीकृत धनराशि से राजकीय महाविद्यालय मालदेवता रायपुर एवं थलीसैंण में विज्ञान संकाय भवन, रा0 महाविद्यालय मजरा महादेव एवं व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में खेल मैदान, राजकीय महाविद्यालय ब्रहमखाल एवं भतरौजखान में भवन निर्माण किया जायेगा। रूसा योजना के अंतर्गत प्रदेशभर के एक दर्जन राजकीय महाविद्यालयों में विभिन्न निर्माण कार्य स्वीकृत हैं। इसके अलावा नियोजन विभाग से विशेष सहायता योजना के अंतर्गत राज्य के लगभग तीन दर्जन राजकीय महाविद्यालयों में विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए रूपये 71 करोड़ 60 लाख की धनराशि स्वीकृत की गई है। डॉ. रावत ने कहा कि निर्माण कार्यों के पैसों की कमी नहीं होने देंगे। बैठक के दौरान डॉ. रावत ने एक-एक कर कार्यदायी संस्थाओं के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए धीमे निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। डा. रावत ने कहा कि कार्यदायी संस्थाएं दो शिफ्टों में कार्य करवायें ताकि तय समय सीमा के भीतर निर्माण कार्य पूरा किये जाय। वहीं उन्होंने निर्माण कार्यों की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए भी कार्यदायी संस्थआों को जरूरी निर्देश दिये।

बैठक में अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा राधा रतूड़ी, सचिव उच्च शिक्षा दीपेन्द्र चौधरी, निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. पी.के. पाठक, अपर सचिव एम.एम. सेमवाल, सलाहकार रूसा प्रो. के.डी. पुरोहित, प्रो. एम.एस.एम रावत, नोडल रूसा प्रो. ए.एस उनियाल, उप सचिव शिव स्वरूप त्रिपाठी, अनु सचिव ब्योमकेश दुबे, कुलसचिव मंगल सिंह मन्द्रवाल, डॉ. महावीर सिंह रावत, उप कुलसचिव विमल मिश्रा सहित निर्माणदायी संस्था उ0प्र0 निर्माण निगम, ब्रिडकुल, ग्रामीण निर्माण विभाग, मण्डी परिषद, उत्तराखंड पेयजल निगम के प्रतिनिधि एवं उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 4 =

Previous post जल्द बनेगा चाकीसैंण का विद्युत सब स्टेशन, उफरौंखाल में भी बनेगा, खस्ताहाल सड़कों का शीघ्र करें डामरीकरणः डॉ. रावत
विश्वकर्मा जयंती पर हम भी एक संकल्प ले सकते हैं कि इस मानव तन से परमार्थ का कर्म करें Next post विश्वकर्मा जयंती पर हम भी एक संकल्प ले सकते हैं कि इस मानव तन से परमार्थ का कर्म करें
Close
error: Content is protected !!