पोखरी विद्या मंदिर में शीघ्र शुरू होगी 4G वाई-फाई इंटरनेट सेवा: इन्द्रमणि गैरोला

पोखरी विद्या मंदिर में शीघ्र शुरू होगी 4G वाई-फाई इंटरनेट सेवा: इन्द्रमणि गैरोला

डिजिटल कक्षाएं होंगी शुरू, शिशु वाटिका एवं स्कूल बस की होगी सुविधा

विद्यालय विकास हेतु हर सम्भव सहयोग का टीएचडीसी कोटेश्वर द्वारा आश्वासन

 सरहद का साक्षी @ नरेन्द्र बिजल्वाण 

पोखरी: आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आयोजित कार्यक्रमों की श्रंखला में हिंदी दिवस के अवसर पर सरस्वती विद्या मंदिर पोखरी में टीएचडीसी के महाप्रबंधक (परियोजना) श्री एके घिल्डियाल द्वारा सेवा टीएचडीसी के सौजन्य से निर्मित विशाल वंदना कक्ष का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर विद्यालय द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में स्थान बनाने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कार प्रदान किए गए। पहाड़ा प्रतियोगिता, हिन्दी और अंग्रेजी सुलेख प्रतियोगिता श्री कृष्णजन्माषटमी के अवसर पर आयोजित आनलाईन राधा -कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता, संस्कृति ज्ञान प्रतियोगिता के प्रतिभागियों एवं प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बालक/ बालिकाओ को महाप्रबंधक द्वारा पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर श्री एचके जिंदल अपर महाप्रबंधक सी.एस.आर., वी.पी कपटियाल प्रबंधक सीएसआर सिद्दार्थ कौशिक की गरिमामयी उपस्थिति रही है।

पोखरी विद्या मंदिर में शीघ्र शुरू होगी 4G वाई-फाई इंटरनेट सेवा: इन्द्रमणि गैरोला

विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष बुद्धि सिंह रावत (निवर्तमान जनसंपर्क अधिकारी मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार) प्रबंधक सरस्वती विद्या मंदिर पोखरी श्री जगदीश प्रसाद बिजल्वाण कोषाध्यक्ष शिशु मंदिर जोत सिंह असवाल, डा. अत्च्युत प्रकाश बिजल्वाण (योग प्रशिक्षक एवं प्राकृतिक चिकित्सा) श्री सब्बल सिंह पवार ने भी हिंदी दिवस एवं शिक्षक दिवस पर अपने विचार व्यक्त किये। विद्यालय आगमन पर विद्यालय परिवार द्वारा अतिथियों का भव्य स्वागत किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ माॅ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित किया गया। कथा व्यास पंडित लोकेंद्र दत्त बिजल्वाण द्वारा विधि विधान से पूजन कर वंदना कक्ष  के उद्घाटन की प्रक्रिया का श्री गणेश किया। विद्यालय की छात्राओ द्वारा स्वागत गीत की प्रस्तुति कर अतिथियों का स्वागत किया गया। छात्र संसद के पदाधिकारियों द्वारा बैज अलंकरण द्वारा स्वागत किया।  विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री दलीप सिंह द्वारा सरस्वती विद्या मंदिर पोखरी का संक्षिप्त वृत अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत किया। विद्यालय भारतीय शिक्षा समिति उत्तराखंड द्वारा संचालित एवं उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त है। यहां गणित विज्ञान कम्प्यूटर नैतिक मूल्यों परक शिक्षा के साथ संस्कारों द्वारा सर्वांगीण विकास की संकल्पना है।

पहाड़ा प्रतियोगिता, हिन्दी और अंग्रेजी सुलेख प्रतियोगिता श्री कृष्णजन्माषटमी के अवसर पर आयोजित आनलाईन राधा -कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता, संस्कृति ज्ञान प्रतियोगिता के प्रतिभागियों एवं प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बालक/ बालिकाओ को महाप्रबंधक द्वारा पुरस्कृत किया गया।

1987 से स्थापित सरस्वती शिशु मंदिर में 1997 से जूनियर कक्षाएं प्रारंभ हुई। जवकि राजकीय मान्यता जनवरी 2005 से मिली।  इस अवधि मे यहा का गौरवशाली अतीत है और इस विद्यालय के लगभग एक सौ पुरातन छात्र विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी विभागों में सम्मानित पदो पर कार्यरत हैं। जिनमें राहुल त्यागी (उप अभियंता मानव संसाधन विकास विभाग बी. एच. ई एल हरिद्वार) चन्द्रप्रकाश बिजल्वाण (मुख्य सहायक सिचाई विभाग देहरादून) पवन बिजल्वाण (लोक निर्माण विभाग उत्तरकाशी), रविन्द्रलाल (राजकीय इंटर कालेज गौमुख,) गौरव श्रीवास्तव (भारतीय वायु सेना)  प्रकाश बिजल्वाण (साफ्टवेयर इंजीनियर बंगलौर) प्रदीप बिजल्वाण (लेखक, गीतकार एवं शौध पत्रकार) पंकज उनियाल (ग्राम पंचायत मंत्री)  महावीर बागड़ी ( यांत्रिकी विभाग टी एच डी सी कोटेश्वर) दिनेश बिजल्वाण  ग्राम प्रधान   मनीषा बिजल्वाण (शिक्षा विभाग) डा अत्च्युत प्रकाश बिजल्वाण  (विभिन्न विधाओं के धनी एवं युवा प्रवक्ता) गौतम रावत (आई आई टी रुड़की) प्रमुख है।

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित श्री इन्द्रमणी गैरोला (आईएमजी कम्पनी देहरादून)  ने समस्त विद्यालय परिवार को यथासंभव सहयोग का आश्वासन दिया। और कहा कि एक इन्वर्टर एक सप्ताह के भीतर विद्यालय को मिल जायेगा। छात्रों की संख्या 200 होने पर एक स्कूल बस विद्यालय को प्रदान करूगा और चालक का वेतन एक बर्ष तक भी स्वयं मैं दूंगा ।

पूर्व सांसद प्रतिनिधि एवं अध्यक्ष जनकल्याण समिति श्री चतर सिंह द्वारा विद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों विकास के लिए हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया और कहा कि समाज के जागरूक सेवा भावी व्यक्तियों के सहयोग से भौतिक संसाधनों की प्रतिपूर्ति करायेंगे।

इस अवसर पर छात्र सूरज बिजल्वाण कक्षा अष्टम आयुष रावत षष्ठ, वैष्णवी सप्तम ने हिन्दी दिवस के विषय में अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन आचार्य विद्या मंदिर शैलेश द्वारा किया गया। पूर्ण सिंह राणा, रामरतन,  भुवनेश्वरी, हिमाद्री ने समस्त व्यवस्थाओं की पूर्णता में सहयोग किया।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × four =

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी के जन्म दिवसोपलक्ष पर किया वृक्षारोपण, पूजा अर्चना में वर्चुअल प्रतिभाग Previous post मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी के जन्म दिवसोपलक्ष पर किया वृक्षारोपण, पूजा अर्चना में वर्चुअल प्रतिभाग
लघु कविता: चुंग गये चावल सात सराद् Next post लघु कविता: चुंग गये चावल सात सराद्
Close
error: Content is protected !!