चुनौतियां: चुनावी वर्ष में सीएम धामी किन-किन मसलों पर भरेंगे हामी?

चुनौतियां: चुनावी वर्ष में सीएम धामी किन-किन मसलों पर भरेंगे हामी?
 सरहद का साक्षी @शक्ति मोहन बिजल्वाण 

देहरादून: भाजपा का युवा कर्मठ नये मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सरकार इस चुनावी वर्ष में किस-किस समस्या को प्राथमिकता से निस्तारित करेगी।

1- विवादित भू-कानून में संशोधन कर राज्य में भूमि की खरीद फरोख्त व भू माफियों पर रोक लगायेगें?

2- पीएम मोदी ने अपने दूसरी पारी के शपथ ग्रहण के मौके पर केंद्र व भाजपा शासित राज्यो में सभी विभागो के रिक्त पदो पर 100 दिन के अन्दर नियुक्ति की कार्यवाही के निर्देश दिये थे। जो उत्तराखण्ड में नहीं हो पाई।

3- उत्तराखण्ड़ के युवाओ के भविष्य के साथ कब तक उपनल,संविदा, के रूप तैनाती कर खिलवाड होता रहेगा, स्थाई तैनाती क्यों नहीं?

4- उत्तराखण्ड की महिलाओ, बहन बेटियों के स्वस्थ की रक्षा हेतु सुदूर ग्रामीण क्षेत्रो में सुविधा मिलेगी।

5- राज्य चयन आयोग व राज्य अधीनस्थ कर्मचारी चयन आयोग की कार्यप्रणालि में सुधार।

6- पहाड की कृषि, औधानिक उपज का सही मूल्य व विपणन हेतु स्वीकृत मंडियों की स्थापना।

7- न्यायालय के निर्णय के बाबजूद समान कार्य के लिये समान वेतन देने की मांग पर स्वीकृति होगी।

8- कर्मचारी शिक्षको की पुरानी पेंशन लम्बित अनेक मांगो पर सरकार ठोस निर्णय लेगी।

9- कोविड-19 के बचाव के लिये राज्यवासियों को आधार कार्ड के आधार स्वास्थ उप केन्द्रों में पल्स पोलियो की तर्ज पर टीकाकरण करने की व्यवस्था होगी।

10- उत्तराखण्ड के विभिन्न जनपदो निर्माधीन सडको की दशा में सुधार होगा,ताकि दुर्घटनाओ से बचा जा सके।

11- राज्य के पहाडी जनपदो में स्थानीय उत्पादो पर आधारित उद्योगो की स्थापना करना।

12- चारधामो व महत्वपूर्ण मन्दिरो के लिये बनाये गये देवस्थानम बोर्ड में यहां पुजारियो के हक हकूको की रक्षा को प्राथमिकता दी जायेगी।

Print Friendly, PDF & Email
Share