वनाधिकार आन्दोलन तथा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नई टिहरी में राकेश सेमवाल स्मृति वन में किया वृक्षारोपण

सरहद का साक्षी,

नई टिहरी: विश्व पर्यावरण दिवस पर आज वनाधिकार आन्दोलन तथा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने नई टिहरी में स्व0 राकेश सेमवाल स्मृति वन में फलदार एवं गैर फलदार वृक्षों का रोपण किया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से वनाधिकार आन्दोलन के प्रणेता, टिहरी के पूर्व विधायक श्री किशोर उपाध्याय, कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री राकेश राणा, पूर्व राज्य श्री मंत्री प्रवीन भंडारी, कांग्रेस प्रदेश सचिव और बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष श्री शान्ति प्रसाद भट्ट, पूर्व प्रमुख/प्रदेश सचिव श्री विजय गुनसोला, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष चम्बा श्री राजेन्द्र डोभाल, नई टिहरी शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष तथा वनाधिकार आन्दोलन टिहरी के संयोजक श्री देवेंद्र नौडियाल (मोनू), बोट यूनियन के अध्यक्ष श्री लखवीर चौहान, सभासद श्री सतीश चमोली, श्री दीपक चमोली, श्री मुकेश लखेड़ा आदि ने पेड़ लगाए।

श्री किशोर उपाध्याय ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा के साथ साथ वनों पर जीवन यापन करने वाले लोगो की भी रक्षा होनी चाहिए।

श्री किशोर उपाध्याय ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा के साथ साथ वनों पर जीवन यापन करने वाले लोगो की भी रक्षा होनी चाहिए। अब समय आ गया है कि देश की सकल घरेलु उत्पाद (GDP) का निर्धारण नए हिसाब से होना चाहिए और उसी हिसाब से हमे हमारा हिस्सा मिलना चाहिए, यही वनाधिकारों की प्रमुख माँग भी है, जिसमें:-

1:- प्रतिमाह प्रति परिवार एक गैस सिलेंडर निःशुक्ल मिले ।

2:- प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को पक्की सरकारी नौकरी मिले, केंद्र की सेवा में आरक्षण दिया जाय।

3:- शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं नि:शुल्क हों।

4:- प्रत्येक परिवार को निजी आवास बनाने के लिए बजरी व पत्थर नि:शुल्क दिया जाय।

5:- जंगली जानवरों द्वारा जनहानि होने पर 25 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति के साथ परिवार के एक सदस्य को पक्की नौकरी दी जाय, फसल के नुकसान पर प्रति नाली 5 हजार रुपये छति पूर्ति दी जाय।

6:- जड़ी बूटी पर स्थानीय समुदाय का अधिकार हो।

7 :-  हिमालयी इलाको के लिए अलग से नीति निर्धारित हो।

Print Friendly, PDF & Email
Share