नारद जयंती वर्चुअल संवाद:  पत्रकारों को मनन करना चाहिए कि नारद जी के आदर्शों को जीवन में कैसे उतारा जाए

नारद जयंती वर्चुअल संवाद:  पत्रकारों को मनन करना चाहिए कि नारद जी के आदर्शों को जीवन में कैसे उतारा जाए

सरहद का साक्षी @ डी.पी. उनियाल,

देवप्रयाग: RSS देवप्रयाग का इकाई ने नारद जयंती पर वर्चुअल संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया । इसमें विभाग प्रचार प्रमुख डा. सुशील कोटनाला ने संवाद करते हुए कहा कि वर्तमान में नारद जी की प्रासांगिकता क्या है और उनके आदर्शों को पत्रकारिता से जुड़े पत्रकार बंधुओं को अपने जीवन में कैसे उतारा जाय। इस पर मनन करने की आवश्यकता है ।

डा. सुशील कोटनाला ने कहा कि सोसल मीडिया पत्रकारिता के एकाधिकार को चुनौती दे रहा है । आज सोसल मीडिया सबसे सस्ता एवं सुलभ माध्यम हो गया है । जबकि आज समाज को एक ऐसी पत्रकारिता से अपेक्षा है जो सच का आइना दिखा सके ।

वर्तमान समय में जिस विषाणु कि उत्पत्ति चीन के वुहान शहर से हुई है इसका वर्णन नारद साहित्य में है । उन्होंने कहा कि नारद जु खोजी पत्रकारिता करते थे उन्हीं के आदर्शो पर चलकर आज हमें मूल्य आधारित पत्रकारिता करनी चाहिए जो कि समाज को नई दिशा और दशा दे ।हम सभी को समाज और राष्ट्रीय हितों में कार्य करना चाहिए ।

वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में 25 लोगों ने प्रतिभाग किया जिसमें संघ के जिला प्रचारक श्री मोहन जी , जिला सेवा प्रमुख श्री भगवती कोठियाल जी , नरेन्द्र नगर के खंड प्रचार प्रमुख श्री राजबीर पुंडीर , मणगांव मंडल के मंडल कार्यवाहक श्री पवन विष्ट , प्रचार प्रमुख देवप्रयाग श्री राकेश सिंह गुसाईं जी तथा प्रधान संगठन के ब्लाक अध्यक्ष श्री धन सिंह सजवाण सहित अन्य लोगों ने भी हिस्सा लिया ‌।

वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में यह संदेश दिया गया कि समाज हित और राष्ट्र हित के लिए ही समर्पण होना चाहिए ।

Print Friendly, PDF & Email
Share