गोल्डन कार्ड को लेकर चिकित्सालयों पर मनमानी का आरोप, कार्यालयों को 15 दिनों के लिए बन्द करने सहित वैक्सीनेशन की मांग

सरहद का साक्षी,

नई टिहरी : उत्तराखंड राज्य  प्राथमिक शिक्षक संघ टिहरी गढ़वाल ने चिकित्सालयों पर गोल्डन कार्ड को लेकर मनमानी का आरोप लगाया है। संगठन के प्रांतीय नेतृत्व को लिखे पत्र में उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ टिहरी के जिलाध्यक्ष चंद्रवीर सिंह नेगी कहा है कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही गोल्डन कार्ड स्कीम के तहत हॉस्पिटलों द्वारा मनमानी ढंग से हमारे शिक्षकों को अनावश्यक रूप से उनका स्वास्थ्य परीक्षण एवं इलाज में तमाम प्रकार की अड़चने लगाकर उनको गुमराह करने का कार्य किया जा रहा है जिससे कि तमाम शिक्षकों में इस स्कीम के प्रति काफी रोष है। हर दिन शिक्षकों द्वारा अस्पतालों की शिकायतें की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि संगठन के द्वारा कई दौर की वार्ता एवं लिखित शिकायतों के बावजूद भी इनके द्वारा इस में कोई सुधार नहीं किया जा रहा है जिससे की तमाम शिक्षक साथियों में भारी रोष है। उन्होंने हॉस्पिटलों की मनमानी के खिलाफ शासन से इस पर विस्तृत रूप से  बातचीत करके गोल्डन कार्ड का वास्तविक लाभ मिल सके ऐसी पहल करने का आग्रह किया है।  वर्तमान समय में शिक्षकों को लाभ नहीं मिल पा रहा है। यदि सरकार गोल्डन कार्ड में आ रही परेशानियों को दूर नहीं करती हैं तो संगठन इस गोल्डन कार्ड का पूरे प्रदेश स्तर पर बहिष्कार करे दें जिला टिहरी कार्यकारिणी ऐसा सुझाव प्रेषित करती हैं एवम वेतन से होने वाली कटौती को व्यवस्था सही होने तक रोक दी जाय।

कार्यालयों को 15 दिनों के लिए बन्द करने सहित वैक्सीनेशन की मांग

दूसरी तरफ उत्तरांचल फैडरेशन आॅफ निनिस्ट्रीरियल सर्विसेज एसोसिएशन टिहरी गढ़वाल ने कार्मिकों के वैक्सीनेशन सहित आगामी 15 दिनों तक कार्यालय बन्द करने हेतु जिलाधिकारी को ज्ञापन प्रेषित किया है।

एसोसिएशन के जिला मंत्री राजीव नेगी, जिलाध्यक्ष राकेश भट्ट, सतवीर पुण्डीर, किशन चौहान, देवचन्द्र नौटियाल, उमेद चौहान, धनपाल रावत, अरविन्द चमोली ने कहा कि आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी कार्यालयों को आगामी 15 दिनों के लिए बन्द कर सभी कार्मिकों व उनके परिजनों को कैम्प लगाकर वैक्सीनेशन की कार्यवाही अमल में लायी जाय।

Print Friendly, PDF & Email
Share