सीएम तीरथ ने हरिद्वार महाकुंभ का किया शुभारंभ, बोले दिव्य भव्य कुंभ होगा, कोविड गाइडलाइंस का पालन भी जरूरी

मुख्यमंत्री ने मीडिया सेंटर सहित एक सौ तिरपन करोड़ तिहत्तर लाख रूपये की लागत के 31 योजनाओं व कार्यों का किया लोकार्पण

हरिद्वार: सीएम तीरथ ने नीलधारा चंडीद्वीप स्थित मीडिया सेंटर में महाकुंभ 2021 के निमित्त एक सौ तिरपन करोड़, तिहत्तर लाख रूपये की लागत से कराए गए लोकनिर्माण, सिंचाई, गृहविभाग, परिवहन निगम आदि के विभिन्न योजनाओं के कुल 31 कार्यों का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने मीडिया सेंटर सहित एक सौ तिरपन करोड़ तिहत्तर लाख रूपये की लागत के 31 योजनाओं व कार्यों का किया लोकार्पण
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि आज महाकुंभ का विधिवत शुभारंभ हुआ है। मैने शपथ लेने के अगले ही दिन महाशिवरात्रि के शाही स्नान पर हरिद्वार में आकर मां गंगा के पूजन दर्शन और संतों का आशीर्वाद लेने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। शाही स्नान के लिए आने वाले साधु संतों पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कराई। जिससे संत समाज प्रसन्न चित हुआ।
सीएम तीरथ ने हरिद्वार महाकुंभ का किया शुभारंभ, बोले दिव्य भव्य कुंभ होगा, कोविड गाइडलाइंस का पालन भी जरूरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के दिन ही कुंभ का विधिवत शुभारंभ करने का संयोग मुझे मिला। महाकुंभ बारह साल में ही होता है। हरिद्वार का कुंभ और ऐतिहासिक और पौराणिक महत्व का है। यह भव्य दिव्य होना चाहिए, लेकिन कोविड के गाइडलाइंस का पालन भी जरूरी है।
आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश के 130 करोड़ से अधिक जनता सुरक्षित महसुस कर रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बताए कोविड के नियमों का पालन करने में हमें कोई कोताही नहीं बरतनी चाहिए। घर और समाज में भी इसका पालन कर खूब गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य प्राप्त करें, कोई रोकटोक नहीं है। यह स्नान करने के लिए जिन लोगों ने बारह वर्ष पूर्व मन्नत मांगी थी, उसका हरिद्वार और ऋषिकेश के गंगा घाटों पर गंगा स्नान कर पुण्य लाभ प्राप्त करें। किन्नर अखाड़ा भी हमारे लिए पूजनीय है। आज कुंभ क्षेत्र में हर ओर साधु संत दिख रहे हैं। साधु संतों के शिविरों और आश्रमों में पानी, बिजली, शौचालय, घाटों पर सभी प्रबंथ के लिए कुंभ से संबंधित चार जिलों के अधिकारियों को निर्देशित किया है। यदि कोई अधिकारी अपने जिम्मेदारी में लापरवाही करेगा तो बख्शा नहीं जाएगा। लेकिन यहां कहना चाहता हूं कि एक अखाड़े के साधु संतों ने व्यवस्था में लगे अधिकारी के साथ जो हरकत किया गया, वह भी शोभा नहीं देता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड काल में अधिकारियों ने खुद व अपने परिवार की चिंता न कर सबकी सेवा की। अच्छा कार्य करने वाले अधिकारियों को सम्मान किया जाएगा, लापरवाही पर दंडित किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि साधु संतों, अखाड़ों, महामंडलेश्वर और यहां तक कि किन्नर अखाड़े के साधु संतों को भी जमीन और व्यवस्था देने की सरकार और उसके अधिकारी बहुत कम समय में कर रहे हैं। हम साधु संतों की सेवा में दिन_रात एक कर अधिकारियों के माध्यम से जुटे हैं और जुटे रहेंगे। लेकिन अधिकारियों का भी मनोबल न टूटे इसका ध्यान संत समाज को भी रखना चाहिए। जरूरत पड़ी तो मैं स्वयं भी साधु संतों के बीच रात दिन गुजारने को तैयार हूं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरिद्वार बनारस के बाद दूसरा विकसित शहर बन गया है, इसके लिए मैं केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी आभार प्रकट करता हूं। मैने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य नेताओं को कुंभ स्नान के लिए आमंत्रित कर चुका हूं। अंत में सभी को दिव्य, भव्य कुंभ के लिए शुभकामनाएं देता हूं। कहा कि मीडिया कर्मियों को शत प्रतिशत कोविड वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। इसी के साथ आज मीडिया सेंटर का भी लोकार्पण करता हूं।
संसदीय कार्य व शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत ने अपने संबोधन में कहा कि आज मुख्यमंत्री ने गंगा पूजन कर हरिद्वार में कुंभ का शुभारंभ कर दिया है। उनके हाथों से आज होने वाले योजनाओं व कार्यों के लोकार्पण से हरिद्वार और प्रदेश के विकास में काफी तेजी आएगी।
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि हरकी पैड़ी पर गंगा पूजन व शंखनाद से कुंभ के सकुशल होने की सभी ने कामना की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कोरोना को मात देने के बाद सीधे कुंभ के आयोजन में शामिल होने आए हैं, इससे उनकी आस्था व गंभीरता खुद झलकती है।
कार्यक्रम का संचालन प्रो0 अरविंद नारायण मिश्र ने किया। इस दौरान ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर, भाजपा हरिद्वार जिलाध्यक्ष डा जयपाल सिंह चैहान, मुख्य सचिव ओमप्रकाश, सचिव शैलेश बगोली, गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन, मेलाधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी सी. रविशंकर, महानिदेशक सूचना रणवीर सिंह चैहान, एसएसपी कुंभ जन्मेजय खंडूरी, अपर मेलाधिकारी डा ललित नारायण मिश्र, सांसद प्रतिनिधि ओमप्रकाश जमदग्नि, पूर्व महापौर मनोज गर्ग, शोभाराम प्रजापति सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

मीडिया सेंटर नीलधारा, चंडीद्धीप में माननीय मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत द्वारा 6 अप्रैल को हरिद्वार महाकुम्भ 2021 के अंतर्गत कराए गए विभिन्न योजनाओं और कार्यों का लोकार्पण।

लोक निर्माण विभाग

1-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में शंकराचार्य चैक से कनखल की ओर देशरक्षक तिराहे तक मार्ग का नवीनीकरण एवं सुधारीकरण का कार्य लागत 290.11 लाख रूपये।
2-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में बंगाली मोड़ से झंडा चैक होते हुए श्रीयंत्र मंदिर तक मार्ग का नवीनीकरण एवं सुधारीकरण का कार्य लागत 139.96 लाख रूपये।
3-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में पुराना दिल्ली नितिपास मार्ग व हरिद्वार शहर में लोकनिर्माण विभाग के अधीन अन्य आंतरिक मार्गों का बीसी द्वारा नवीनीकरण कार्य, लागत 946.28 लाख रूपये ।
4-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में हिल बाईपास मोटरमार्ग का पुर्न निर्माण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य लागत 170.37 लाख रूपये।
5-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में ज्वालापुर, ललतारौ, चंडीघाट मार्ग का बीसी द्वारा नवीनीकरण का कार्य लागत 534.94 लाख रूपये।
6-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत पिरान कलियर मार्ग का एसडीबीसी द्वारा नवीनीकरण का कार्य लागत 97.19 लाख रूपये।
7-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत रूड़की में गणेश पुल से रेलवे स्टेशन मार्ग एसडीबीसी द्वारा नवीनीकरण का कार्य लागत 47.56 लाख रूपये।
8-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत पुहाना-इकबालपुर-झबरेड़ा-गुरूकुल नारसन मार्ग का एसडीबीसी द्वारा नवीनीकरण का कार्य लागत 189.95 लाख रूपये।
9-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत बहादराबाद-धनौरी-ईमलीखेड़ा-भगवानपुर मार्ग का एसडीबीसी द्वारा नवीनीकरण का कार्य लागत 169.69 लाख रूपये।
10-माननीय मुख्यमंत्री घोषणा संख्या-606/2018 जनपद टिहरी गढ़वाल के विधानसभा क्षेत्र के तपोवन की सड़कों का पुर्न निर्माण कार्य लागत 313.96 लाख रूपये।
11-विधानसभा क्षेत्र में बीएचईएल मध्य मार्ग हरिद्वार का बैरियर नंबर 06 तक एसडीबीसी एवं सुधारीकरण का कार्य लागत 265.39 लाख रूपये।
12-सुल्तानपुर-निहंदपुर से मैहतोली-भोपुर-शेरपुर मार्ग लंबाई 4.90 किलो मीटर के नवीनीकरण कार्य लागत 97.27 लाख रूपये।
13-एक्कड़ कलां गांव (नगर कुमार पुलिया) से पेशवाई मार्ग का निर्माण हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र को श्री पंचायती निर्मल अखाड़ा से जोड़ने हेतु लंबाई 600 मीटर, लागत 64.31 लाख रूपये।
14-फाउंड्री गेट से बैरियर नंबर 5 गुघाल मंदिर तक सड़क का पुर्न निर्माण लंबाई 800 मीटर, लागत 37.82 लाख रूपये।
15-जनपद हरिद्वार में एनएच-58 आयरिस सेतु से बैरागी कैंप, विश्व कल्याण आश्रम, मात्र सदन होते हुए पुरकाजी, लक्सर, ज्वालापुर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-334-ए को जोड़ने वाले मार्ग का निर्माण कार्य लागत 1017.31 लाख रूपये।
योग:  4382.11 लाख रूपये

सिंचाई विभाग
16-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत जनपद हरिद्वार में जटवाड़ा पुल से मोहम्मदपुर पावर हाउस (उत्तराखंड राज्य की सीमा) तक गंगनहर कांवड़ पटरी का चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य लागत 5617.46 लाख रूपये।
17-दीनदयाल पार्किंग से चंडीदेवी पुल तक गंगा नदी के दाएं किनारे पर आस्था पथ का निर्माण लागत 2070.60 लाख रूपये।
18-जनपद देहरादून के विकासखंड डोईवाला के अंतर्गत ऋषिकेश क्षेत्र में आस्था पथ का पुनरोद्वार, बाढ़ सुरक्षा कार्य लागत 1157.65 लाख रूपये।
19-जनपद देहरादून के विकासखंड डोईवाला के अंतर्गत ऋषिकेश क्षेत्र में त्रिवेणी घाट पर सरस्वती नाले की टेपिंग किए जाने के कारण क्षतिग्रस्त एवं प्लेटफार्म की पुर्ननिर्माण कार्य की योजना लागत 99.45 लाख रूपये।
20-महाकुम्भ 2021 के अंतर्गत गंगा जल धारा को भीमगोड़ा कुंड में लाने तथा भीमगोड़ा कुंड के सौंदर्यीकरण की योजना लागत 18.33 लाख रूपये।

योग: 8963.49 लाख रूपये

गृह विभाग के कार्य
21-कुम्भ मेला 2021 के अंतर्गत मायापुर चैकी हरिद्वार में पुलिस कार्यालय एवं सीएपीएफ के लिए ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण कार्य लागत 405.87 लाख रूपये।
22-एटीसी हरिद्वार में 50 व्यक्तियों की क्षमता वाली एनजीओ मैस मय ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण कार्य लागत 279.12 लाख रूपये।
23-40वीं वाहिनी पीएसी हरिद्वार में सीएपीएफ एवं पुलिस के 50 व्यक्तियों हेतु एनजीओ मैस मय ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण कार्य लागत 271.59 लाख रूपये।
24-जनपद हरिद्वार औद्योगिक क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस चैकी अभिसूचना शाखा के प्रशासानिक भवन, ट्रांजिट हाॅस्टल एवं बैरक मय मैस का निर्माण कार्य लागत 246.68 लाख रूपये।
25-मायापुर पुलिस चैकी के निकट स्थित कुम्भ मेला 2010 में निर्मित भवन, जिसमें अधिकारियों के कार्यालय, स्टोर, रिकार्ड रूम व अस्थायी ट्रांजिट स्थापित किए जाते हैं, इसमें सुदृढ़ीकरण, पानी, बिजली, सीवरेज, रंगाई-पुताई तथा साज-सज्जा आदि का कार्य लागत 50.00 लाख रूपये।
26-फायर स्टेशन हरिद्वार फायरकर्मियों, अभिसूचना एवं अन्य अनुशांगिक शाखाओं हेतु ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण कार्य लागत 113.97 लाख रूपये।
27-जनपद हरिद्वार में पुलिस थाना रानीपुर में जीआरपी के बहुउददेशीय भवन का निर्माण कार्य लागत 207.74 लाख रूपये।
28-40वीं वाहिनी पीएसी, हरिद्वार एवं एटीसी में प्रशिक्षण सुविधाओं को बढ़ाने हेतु सम्मेलन कक्ष में एकोस्टीक का कार्य, पैनलिंग, फलोरिंग, वैंटीलेशन कार्य, शौचालय निर्माण, प्रशिक्षण सम्बंधी उपकरणों यथा हीट पंप आदि की स्थापना, वातानुकुलन/पंखे तथा साज-सज्जा कार्य लागत 48.86 लाख रूपये।
29-पुलिस लाइन हरिद्वार में महिला पुलिसकर्मियों हेतु बैरक का निर्माण कार्य लागत 193.06 लाख रूपये।
30-फायर स्टेशन ऋषिकेश में फायरकर्मियों अभिसूचना एवं अन्य अनुशांगिक शाखाओं हेतु ट्रांजिट हाॅस्टल का निर्माण कार्य लागत 85.33 लाख रूपये
कुल कार्यों की कुल लागत: 1902.22 लाख रूपये

परिवहन निगम
31- हरिद्वार में रोडवेज वर्कशाॅप में कंस्ट्रशन व रिपेयर वर्क लागत 125.58 लाख।

महायोग: 15373.40 लाख रूपये

Print Friendly, PDF & Email
Share