क्वीली गढ़ सरु के ताल के समीप महाविद्यालय पोखरी की एन0एस0एस0 इकाई ने चलाया स्वच्छता कार्यक्रम

ऐतिहासिक सजवाण ठाकूरी गढ (क्वीली गढ़ ) व सरु के ताल के समीप मे राजकीय महाविद्यालय पोखरी (क्वीली) टिहरी गढ़वाल की एन0एस0एस0 इकाई कैम्प ने चलाया स्वच्छता कार्यक्रम

रिपोर्ट: नरेंद्र बिजल्वाण,

पोखरी,क्वीली : सात दिवस के विशेष शिविर में आज के चतुर्थ दिवस की शरुआत वंदना से हुई। प्रार्थना सभा के बाद शहीदी दिवस के अवसर पर स्वयंसेवियों द्वारा हमारे शहीदों के प्रति अपनी संवेदना और श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए 2 मिनट का मौन रखा. इसके बाद कार्यक्रम अधिकारी डॉ० राम भरोसे ने शहीदी दिवस पर स्वयंसेवीयों को देश प्रेम के विषय में अपने विचार साझा किये।

सात दिवस के विशेष शिविर में आज के चतुर्थ दिवस की शरुआत वंदना से हुई। प्रार्थना सभा के बाद शहीदी दिवस के अवसर पर स्वयंसेवियों द्वारा हमारे शहीदों के प्रति अपनी संवेदना और श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए 2 मिनट का मौन रखा. इसके बाद कार्यक्रम अधिकारी डॉ० राम भरोसे ने शहीदी दिवस पर स्वयंसेवीयों को देश प्रेम के विषय में अपने विचार साझा किये।
आज का मुख्य आकर्षण कार्य रहा पंचायत घर से ऐतिहासिक ‘सरु के ताल’ एवं क्वीली गढ़ तक स्वच्छता कार्यक्रम चला. इस स्वच्छता कार्यक्रम अधिकारी में डॉ. राम भरोसे और स्वयंसेवियों के साथ क्षेत्र की समाज सेविका श्रीमती विजय लक्ष्मी व श्रीमती गीता ने सक्रिय रूप से भागीदारी की।
साथ ही स्वयंसेवियों ने ‘सरु के ताल’ क्वीली गढ के
पास क्वीली गढ के ऐतिहासिक ‘दक्खन काली मंदिर’ व् ‘शिव मंदिर’ के प्रांगण की विशेष रूप से साफ़ सफाई की।


इसके बाद आज के बौद्धिक सत्र में बजरंगी स्वाभिमानी सेवा समिति के अध्यक्ष श्री जोत सिंह असवाल ने स्वयंसेवियों को जैविक खेती की महत्ता पर अपनी बात रखी और भारत सरकार की ओर से चलाई जा रही नमामि गंगे योजना से आएं क्षेत्रीय संयोजक श्री सुरेंद्र असवाल ने नमामि गंगे योजना पर स्वयंसेवियों का मार्गदर्शन किया।
पूर्व ग्राम प्रधान कोट- श्री चंदन सिंह ने शिक्षा पर अपने अनुभव साझा किये।

Qweeli Garh, यहां सरु का ताल स्थित है

Qweeli Garh,

पोखरी क्वीली महाविद्यालय से आएं अर्थशास्त्र विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. सरिता सैनी ने स्वयंसेवियों को प्रोत्साहित किया।
महाविद्यालय पोखरी क्वीली की वरिष्ठ सहायक श्रीमती रचना ने NSS कैम्प के बच्चो को फल व मिस्ठान बितृत किये व स्वयंसेवियों को अपना शुभाशीष प्रदान किया।

Qweeli Garh, यहां सरु का ताल स्थित है
इस अवसर पर महाविद्यालय से श्रीमती सुनीता असवाल, नरेश रावत उपस्थित रहें
प्रतिदिन की भांति आज भी चौथे दिन के शिविर का समापन लक्ष्य गीत और वन्दे मातरम से हुआ. शिविर की स्वयंसेवियों हेतु जलपान की व्यवस्था ‘बजरंगी स्वाभिमानी सेवा समिति’ के अध्यक्ष श्री जोत सिंह असवाल द्वारा की गयी.।
जिसके लिए सभी स्वयंसेवियों ने उनका आभार व्यक्त किया।

Print Friendly, PDF & Email
Share