राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता के तीन श्रेष्ठ प्रतिभागी आज होंगे सम्मानित: डॉ.  धन सिंह

सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत करेंगे प्रतिभागियों को पुरस्कृत
स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उच्च शिक्षा विभाग ने आयोजित की थी राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता

देहरादून: राष्ट्रीय युवा दिवस पर उत्तराखंड उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता के प्रथम तीन श्रेष्ठ प्रतिभागियों को कल सम्मानित किया जायेगा।

इस बात की जानकारी देते हुए उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने बताया कि 23 जनवरी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में पुरस्कार एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया जायेगा। जिसमें मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता में अव्वल आये तीनों प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जायेगा। इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय उपस्थित रहेंगे।

उच्च शिक्षा, सहकारिता, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की पहल पर 12 जनवरी को प्रदेश में स्वामी विवेकानंद की जयंती को ‘युवा चेतना दिवस’ के तौर पर मनाया गया। इस अवसर पर प्रदेशभर के उच्च शिक्षण संस्थानों में राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसमें कुल 149 विभिन्न उच्च शिक्षण संस्थानों के 5229 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया।

प्रत्येक शिक्षण संस्थान से प्रथम तीन श्रेष्ठ प्रतिभागियों का चयन कर दून विश्वविद्यालय में 10 वरष्ठि विषय विशेषज्ञों द्वारा मूल्यांकन किया गया। जिसके उपरांत तीन श्रेष्ठ प्रतिभागियों का चयन किया गया। जिसमें पहले स्थान पर डीडब्ल्यूटी काॅलेज देहरादून की छात्रा कुमारी सौम्या, दूसरे स्थान पर डीएवी पीजी काॅलेज के छात्र उज्ज्वल जबकि बालगंगा महाविद्यालय सेन्दुल की छात्रा अंजली मंमगाई ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। तीनों प्रतिभागियों को कल सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा।

मुख्यमंत्री रावत इस दौरान प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः एक लाख, 75 हजार और 50 हजार रूपये का नगद पुरस्कार प्रदान करेंगे। सम्मान समारोह में उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी, निदेशक, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा, राज्य एवं निजी विश्वविद्यालयों के कुलपति, राजकीय महाविद्यालयों के प्राचार्य सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहेंगे।

Print Friendly, PDF & Email
Share