समीक्षा बैठक में पीएमजीएसवाई अधिकारियों को कड़ी फटकार

नई टिहरी : जनपद टिहरी गढ़वाल के भ्रमण पर पंहुचे राज्य स्तरीय बीस सूत्रीय कार्यक्रम एवं क्रियान्वयन समिति (कैबिनेट स्तर) के उपाध्यक्ष श्री शेर सिंह गढ़िया ने शुक्रवार को जिला कार्यालय सभागार में जिला टास्कफोर्स से सम्बंधित जनपदीय अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान पीएमजीएसवाई के अधिकारियों की आधी-अधूरी तैयारी के साथ बैठक में उपस्थित होने पर कड़ी फटकार लगाई।

उन्होंने अनुपस्थित अधिकारियों का स्पष्टीकरण तलब करने के भी निर्देश दिए हैं। साथ ही जिला टास्क फोर्स समिति के सदस्यों के अनुरोध पर समिति में सक्षम अधिकारियों को शामिल करते हुए समिति का पुनर्गठन किए जाने की भी बात कही। बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा बताया गया कि नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को मनरेगा के तहत कराए जाने वाले विभिन्न कार्यों की जानकारी मिल सके इस हेतु विकासखंड स्तर पर बैठकों का आयोजन किया जाना आवश्यक है, जिस पर श्री गढ़िया ने जिला विकास अधिकारी को रोस्टर अनुसार विकास खंडों में बैठकों का आयोजन करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा उन्होंने कांडीसौड़ सहित जनपद के चिन्हित स्थलों पर आधार कार्ड बनवाने हेतु आवश्यक कार्रवाई किए जाने के निर्देश भी संबंधित अधिकारी को दिए। जनपद में दूरस्थ गांवों में स्वास्थ सुविधाओं को आमजन तक पहुंचाने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कैंपों के आयोजन के निर्देश दिए गए हैं।


माननीय उपाध्यक्ष राज्य स्तरीय बीस सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति श्री गड़िया ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बीस सूत्रीय कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित हो रही विभिन्न विकास योजनाओं का लाभ समाज के हर एक नागरिक तक पंहुचाना हमारा लक्ष्य है इस हेतु सभी अधिकारी जिम्मेदारी से कार्यों का निर्वहन कर अंतिम छोर में खड़े व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा से जोड़ें।
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा ग्राम्य विकास विभाग में संचालित विभिन्न योजनाएं जिसमें प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित अटल आयुष्मान योजना, जल जीवन मिशन, मनरेगा आदि संचालित हैं इन योजनाओं में तत्परता से कार्य किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि बीस सूत्रीय कार्यक्रम के अन्तर्गत अनेक ऐसी योजनायें संचालित हैं, जिसका लाभ देकर हम आम गरीब व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा से जोड़ते हुए उनका आर्थिक एवं सामाजिक विकास कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि कोविड 19 के तहत वर्चुवल माध्यम से भी समीक्षा की जा रही है। ग्रामीण स्तर पर प्रत्येक विकास खंड में बीस सूत्रीय कार्यक्रम अनुश्रवण समितियां बनाई गई है। जिसमें सम्बन्धित उपजिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी तथा नामित सदस्य बीस सूत्रीय कार्यक्रमों का सत्यापन करेंगे।

समीक्षा के दौरान श्री गड़िया ने कहा कि जो विकास योजनायें धीमी गति से संचालित हैं या लंबित हैं उन योजनाओं का समिति के सदस्यों द्वारा परीक्षण कराते हुए उन योजनाओं को धरातली स्वरूप देने के लिए कार्य किया जायेगा।
इससे पूर्व बैठक में माननीय उपाध्यक्ष एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव द्वारा जिले में बीस सूत्रीय कार्यक्रम समेत अन्य विकास कार्यों की प्रगति की जानकारी दी गई। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि *बीस सूत्रीय कार्यक्रम में जिले में कुल 22 कार्यक्रमों में 18 विभाग ए श्रेणी में 2 विभाग बी श्रेणी में, 1 विभाग सी व 1 विभाग डी श्रेणी में हैं*। सभी विभागों को ए श्रेणी में लाए जाने हेतु विभागों को शतप्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति करने के निर्देश दिए हैं, उसके अनुरूप विभागों द्वारा तत्परता से कार्य किया जा रहा है।
बैठक में अध्यक्ष जिला पंचायत सोना सजवाण, उपाध्यक्ष ओबीसी आयोग राज्य मंत्री स्तर संजय नेगी, विधायक प्रतापनगर विजय सिंह पंवार, बीस सूत्री कार्यक्रम के जिला उपाध्यक्ष दिनेश डोभाल, जिलाध्यक्ष बीजेपी विनोद रतूड़ी, डीएफओ कोको रोसे, सीएमओ डॉ सुमन आर्या, पीड़ी आनंद भाकुनी, डीडीओ सुनील कुमार, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी निर्मल सिंह, जिला टास्क फोर्स समिति के सदस्य रामलाल नौटियाल, राजेंद्र नेगी, रामकुमार कटैत, परमवीर पवार के अलावा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं समिति के सदस्य उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share